कांग्रेसियों ने मनाई पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की 101वीं जयंती

0

जिला अस्पताल में मरीजों को वितरित किया फल

फैजाबाद। जिला/महानगर कांग्रेस कमेटी द्वारा भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा प्रियदर्शनी गांधी की 101वीं जयंती पर जिला अस्पताल में मरीजों को फल वितरण कर व पार्टी कार्यालय कमला नेहरू भवन में पुष्पांजलि स्वर्गीय इंदिरा जी को श्रद्धासुमन अर्पित किया गया। सर्वप्रथम फैज़ाबाद कांग्रेस जनों ने इंदिरा जी के चित्र पर माल्यार्पण व पुष्प अर्पित किया तत्पश्चात कांग्रेस कार्यकर्ता अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य प्रदेश सचिव राजेंद्र प्रताप सिंह व महानगर कांग्रेस प्रभारी सुनील पाठक की अगुवाई में जिला अस्पताल पहुंचकर मरीजों में फल वितरण किया। फल वितरण के उपरान्त पार्टी कांग्रेस कार्यालय कमला नेहरू भवन में गोष्ठी कर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किया गया।
गोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रदेश सचिव राजेंद्र प्रताप सिंह ने कहा इंदिरा जी भारत की चौथी और प्रथम महिला प्रधानमंत्री थीं वो एक ऐसी महिला थीं जिसने न केवल भारतीय राजनीति बल्कि विश्व राजनीति के क्षितिज पर भी विलक्षण प्रभाव छोड़ा एवं भारत को विश्व में गौरवशाली पहचान देकर देश को शक्तिशाली बनाने में अपनी पूरी शक्ति लगा दी। इसी कारण उन्हें लौह महिला के नाम से भी संबोधित किया जाता है। वह भारत के पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु की इकलौती संतान थीं और देश की एकता व अखंडता हेतु अपने प्राण न्यौछावर कर दिए। उक्त अवसर पर एआईसीसी सदस्य के सिन्हा,उग्रसेन मिश्रा,जिला विचार विभाग अध्यक्ष सियाराम वर्मा,वरिष्ठ नेता राजेंद्र त्रिपाठी,प्रदेशीय मजदूर नेता एसपी चौबे,पीसीसी सदस्य बृजेश सिंह चौहान,व्यापार प्रकोष्ठ के कविंद्र साहनी,महानगर सचिव मोहम्मद अहमद टीटू,नंद कुमार सोनकर,युवक कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष करन त्रिपाठी,संतोष तिवारी,पिछड़ा वर्ग अध्यक्ष मंशा राम यादव,सेवादल अध्यक्ष हरे कृष्ण गुप्ता,रामकरन कोरी श्रीनिवास पोद्दार,अवधेश तिवारी,मोहम्मद आरिफ धर्मेंद्र सिंह फास्टर,बसंत मिश्रा,मुस्लिम शेख,इश्तियाक सलमानी, ताज,मोहम्मद वीरेंद्र सैनी आदि ने अपने विचार रखे।
अखिल भारतीय नेहरू ब्रिगेड ने नाका चुंगी स्थित कार्यालय पर इंदिरा गांधी की जयंती का आयोजन किया इस मौके पर पूर्व प्रधानमंत्री के चित्र पर माल्यापर्ण करने के बाद लोगों ने उनके जीवन दर्शन पर प्रकाश डाला। विचार व्यक्त करने वालों में अवधेश तिवारी, डा. राज दत्त पाण्डेय, डा. रामतेज पाण्डेय, प्रेम शंकर पाण्डेय, प्रेम कुमार तिवारी, चंचल सोनकर, राज कुमार जायसवाल, झन्नू महराज, दीपक जायसवाल, रोहिताशु चन्द्र राजू, अजय भारती, आशीष सिंह, पूनम सिंह आदि ने विचार व्यक्त किया।

इसे भी पढ़े  फिल्मी कलाकारों की रामलीला के छठवें दिन बालि वध, रावण सीता संवाद और लंका दहन का हुआ मंचन

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: