स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि पर हुई गोष्ठी

युवा कांग्रसियों ने पुष्पांजलि अर्पित कर किया नमन

Advertisement

फैजाबाद। गुरु को जीवन का आदर्श मानकर आध्यात्म के जरिये संपूर्ण विश्व को आध्यात्मिक राह पर चलने की प्रेणना देने वाले स्वामी विवेकानंद की पुण्यतिथि पर युवा कांग्रेस के प्रदेश सचिव शरद शुक्ला के नेतृत्व में कमला नेहरू भवन पर “सामूहिक पुष्पांजलि एवं विचार गोष्ठी” आयोजित कर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें नमन किया । इस दौरान शरद शुक्ला ने स्वामी विवेकानन्द को युगनायक एवं प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु बताते हुए कहा कि वे वेदांत और पाश्चात्य शिक्षा दोनों को साथ रखकर शिक्षा को आगे की ओर लाना चाहते थे। विवेकानंद का जीवन बताता है कि कैसे बिना किसी साधन और सुविधा के सिर्फ एक संकल्प के बल पर युवा समाज की देश की सोच बदल सकते हैं। स्वामी विवेकानन्द का लक्ष्य समाज सेवा, जनशिक्षा, धार्मिक पुनरूत्थान और शिक्षा के द्वारा जागरुकता लाना, मानव की सेवा आदि था। उनके शब्द आज भी अनादिक और आनंदित वाणी के रूप में गूंजायमान होते हैं जिनमें सत्य के साथ साक्षात्कार करने की अनंत ऊर्जा समाहित है। कांग्रेस पार्टी कार्यालय में हुए कार्यक्रम में ए॰आई॰सी॰सी॰ सदस्य उग्रसेन मिश्र ने कहा की स्वामी जी ने दुनिया भर में आध्यात्म का ऐसा परचम लहराया जो अगले कई सदियों तक अक्षुण्ण रहेगा। विधानसभा उपाध्यक्ष राकेश तिवारी ने कहा स्वामी जी द्वारा दिया गया विचार-दर्शन युग-युगीन और शाश्वत है, स्वामीजी के दर्शन की आज भी उतनी ही प्रासंगिकता है जितनी विगत 20वीं सदी में रही थी ।
स्वामी विवेकानंद जी की पुण्यतिथि पर आयोजित कार्यक्रम में कांग्रेस प्रदेश सचिव सुनील पाठक, व्यापार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष अंकित जैन, पीसीसी सदस्य बृजेश सिंह चैहान, धर्मेंद्र सिंह फास्टर, आदित्य शुक्ल, संदीप यादव, सावन शर्मा, शोभित शुक्ल, रामसागर रावत, तनु मोदनवाल, कुलदीप पांडेय, अर्जुन वर्मा, तिवारी, इंद्रराज निषाद, दीपक पांडेय, फरीद सलमानी, अनुराग पांडेय आदि ने शामिल होकर उन्हें नमन किया ।