The news is by your side.

अयोध्या धाम में हुई सीएम योगी कैबिनेट की बैठक

-राम नगरी के विकास के लिए कई प्रस्तावों को दी गई मंजूरी


अयोध्या। सूबे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में अन्तर्राष्ट्रीय रामकथा संग्रहालय अयोध्या में योगी कैबिनेट की बैठक हुई। बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश के इतिहास में एक नया अध्याय जुड़ा है। यूपी सरकार की पूरी कैबिनेट अयोध्या धाम आई है। उत्तर प्रदेश के विकास को लेकर आज अहम 14 फैसले हुये। बैठक में केंद्र और राज्य सरकार की 30,500 करोड़ रुपये से ज्यादा की 178 योजनाएं पहले से ही अयोध्या में चल रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 2017 में शपथ ग्रहण के बाद लगातार अयोध्या के दौरे करते रहे हैं। यहां पर हर साल दिवाली के अवसर पर होने वाला दीपोत्सव विश्व भर में नगर की पहचान बन चुका है तथा अयोध्या आज पूरे विश्व में आकर्षण का केंद्र बनी है। अयोध्या में मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कैबिनेट के निर्णयों की जानकारी दी।

Advertisements

उन्होंने बताया कि बैठक में 14 प्रस्तावों पर चर्चा हुई। आज कैबिनेट बैठक में 14 महत्वपूर्ण प्रस्ताव लाए गए। पहला प्रस्ताव उत्तर प्रदेश में अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण की स्थापना का था। हमने राज्य स्तर पर इस प्राधिकरण को बनाने का निर्णय लिया है। योगी सरकार की अयोध्या में हुई पहली कैबिनेट बैठक में राम नगरी के विकास के लिए कई प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। बैठक के बाद मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि हमारा संकल्प है कि अयोध्या को विश्व मानचित्र पर नई पहचान मिले इसके लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं और आज भी कई प्रस्तावों को मंजूरी दी गई है। जिसमें अयोध्या जी तीर्थ क्षेत्र विकास परिषद के गठन को मंजूरी दी गई है, अयोध्या के माझा जमथरा गांव में 25 एकड़ भूमि पर भारतीय मंदिर वास्तुकला संग्रहालय की स्थापना के प्रस्ताव को मंजूरी दी, इनलैंड वाटर वे प्राधिकरण के गठन के संबंध मे प्रस्ताव को मंजूरी, मां पटेश्वरी देवीपाटन विकास परिषद गठन को मंजूरी, मुजफ्फरनगर में शुकतीर्थ विकास परिषद के गठन को मंजूरी, अयोध्या शोध संस्थान को अंतराष्ट्रीय रामायण वैदिक शोध संस्थान के रूप मे विस्तारित करके स्थापित करने को मंजूरी, हाथरस मे दाऊजी लक्खी मेला को प्रांतिकरण करने का निर्णय।

इसे भी पढ़े  कांग्रेस जिला महासचिव, सचिव समेत सैकड़ों लोगों ने थामा भाजपा का दामन

अयोध्या के सभी मेलो को प्रांतीय करण करने के प्रस्ताव को मंजूरी, बुलंदशहर मे गंगा मेला का प्रांतीय करण व बनारस में देव दीपावली आयोजन का प्रांतीय करण करने के प्रस्ताव को मंजूरी, प्रदेश मे महिला स्वयंसेवी समूहों को उनके ही ब्लॉक मे प्लांट लगाने के संबंध मे प्रस्ताव को मंजूरी, ड्रोन पॉलिसी को मंजूरी, राज्य स्तर पर नियमावली लागू करने के संबंध में प्रस्ताव को मंजूरी, शीतकालीन सत्र 28 नवंबर 2023 से बुलाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी गयी। इस कैबिनेट बैठक में उत्तर प्रदेश सरकार के वित्तमंत्री सुरेश कुमार खन्ना, कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही, महिला कल्याण मंत्री श्रीमती बेबी रानी मौर्य, गन्ना विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी, ऊर्जा एवं नगर विकास मंत्री अरविन्द शर्मा, पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह, पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह, औद्योगिक विकास मंत्री नन्द गोपाल नन्दी, श्रम एवं सेवायोजन मंत्री अनिल राजभर, लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद, उच्च शिक्षा मंत्री योगेन्द्र उपाध्याय, प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशीष पटेल, मत्स्य मंत्री संजय निषाद, परिवहन राज्यमंत्री दयाशंकर सिंह आदि मंत्रियों ने भाग लिया। बैठक का संचालन मुख्य सचिव दुर्गाशंकर मिश्र ने संचालन किया तथा सम्बंधित विभागों के अपर मुख्य सचिव एवं मुख्य सचिव भी उपस्थित थे।

जिसमें मुख्य रूप से अपर मुख्य सचिव एस0पी0 गोयल, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मंत्रिपरिषद की बैठक में मौजूद रहे। उसके बाद मुख्यमंत्री जी द्वारा श्रीरामकथा संग्रहालय में प्रतिनिधियों से वार्ता की गयी तथा कैबिनेट में अनुमोदित प्रस्ताव की जानकारी दी गयी। इसके पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा अपने मंत्रिमण्डल के सहयोगियों के साथ परिवहन मिनी बस पर सवार होकर हनुमानगढ़ी एवं श्री रामलला का पूजन अर्चन किया तथा मंदिर निर्माण के कार्यो की जानकारी ली तथा सभी लोगों से 11 नवम्बर 2023 को आयोजित दीपोत्सव को सफल बनाने का आहवान किया।

इसे भी पढ़े  पगला भारी बिस्फोट : दूसरे दिन 75 वर्षीय शिवपता की भी दूसरी हुई मृत्यु

मुख्यमंत्री के हेलीपैड के आगमन के समय शासन एवं मण्डल तथा जिला प्रशासन के अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों ने आगवानी की जिसमें प्रमुख रूप से अपर पुलिस महानिदेशक पीयूष मोडिया, मण्डलायुक्त गौरव दयाल, पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार, जिलाधिकारी नितीश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर, नगर आयुक्त विशाल सिंह, सूचना निदेशक शिशिर, अपर सूचना निदेशक अंशुमान राम त्रिपाठी, अपर जिलाधिकारी नगर सलिल कुमार पटेल, अपर जिलाधिकारी प्रशासन अनुरूद्व प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक नगर मधुबन कुमार सिंह सहित अन्य मजिस्ट्रेटों एवं पुलिस प्रशासन के अधिकारी उपस्थि थे। इस अवसर पर अयोध्या के मेयर महंत गिरीश पति त्रिपाठी, विधायक वेदप्रकाश गुप्ता, विधायक रुदौली रामचंद्र यादव भी उपस्थित थे।

Advertisements

Comments are closed.