The news is by your side.

सीमित संसाधनों के बावजूद नगरीय क्षेत्रो में हुए परिवर्तन : आशुतोष टंडन

– अखिल भारतीय महापौर परिषद की दो दिवसीय बैठक का हुआ शुभारंभ

अयोध्या। अखिल भारतीय महापौर परिषद की 111वी बैठक के दो दिवसीय सम्मेलन के प्रथम सत्र का शुभारंभ सूबे के नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन द्वारा किया गया। इस मौके पर नगर विकास मंत्री ने कहा कि महापौरों व जनप्रतिनिधियों के सामने नागरिक जनसुविधाओं की बड़ी चुनौतियां होती है। सरकार और निकायों के पास कम संसाधनों के कारण सबकी अपेक्षाओं पर खरा उतरना बड़ी चुनौती है। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सीमित संसाधनों के बाउजूद नगरीय क्षेत्रो में अमूल चूल परिवर्तन हुए है। नगर विकास मंत्री श्री टंडन ने कहा कि नगरीय विकास का इतिहास आदि काल से देखा जा रहा है जिसका सबसे बड़ा उदाहरण विश्व की प्राचीन सभ्यताओं में शुमार सिंधु घाटी की सभ्यता है।

Advertisements

प्रदेश में 7 अमृत सिटी है।जहां जनजीवन शहरी मिशन योजना का काम शुरू हो गया है। सरकार ड्रेनेज सफाई के लिए रोबोट तकनीक का इस्तेमाल कर रही है जिससे अब तक होने वाली जनहानि से बचा जा सके। उद्घाटन सत्र में ऑल इंडिया मेयर काउंसिल में फिर पुराना मुद्दा को उठाया गया.एक देश एक नियम की बात कहीं गई।अयोध्या पहुंचे ऑल इंडिया मेयर काउंसिल के चेयरमैन नवीन जैन ने बताया कि एक देश एक नियम एक नियमावली की मांग होगी। महापौर का कहीं 1 वर्ष का कार्यकाल, कहीं ढाई वर्ष का कार्यकाल, कहीं 5 वर्ष का कार्यकाल, कहीं जनता से चुना जाता है तो कही पार्षद चुनते हैं। बैठक में प्रस्ताव पास कराए जाने का प्रयास होगा।एक देश है तो एक नियम होना चाहिए।पूरे देश में एक नगर निगम की नियमावली लागू होना चाहिए। कहीं पर 74 वां संशोधन लागू हो चुका है और कहीं किसी राज्य में 74 वा संशोधन नहीं लागू हुआ है।जिससे अनेक प्रकार की विसंगतियां उत्पन्न हो रही है। वही बताया कि जब 74 वा संशोधन लागू हो जाएगा तब नागरिक सुविधाएं देने में आसानी होगी। सभी विभाग एक हो जाएंगे। जल निगम, नगर निगम, जलकल विभाग, विकास प्राधिकरण, जब विभाग एक हो जाएंगे तो एक दूसरे की योजनाओं की जानकारी होगी।इसलिए आज नगर निगम सड़क बनाता है तो जल निगम सड़क खोद देता है। सीएम योगी से भी मांग की जा रही है। प्रदेश में 74 वां संशोधन हो लागू।

इसे भी पढ़े  इस बार इंडिया गठबंधन की बनने जा रही सरकार : श्यामलाल पाल

धार्मिक स्थल देखते हुए अयोध्या में आहूत बैठक की जाए।ताकि सभी महापौर रामलला का दर्शन पूजन कर सके।और इससे पहले सूरत में बैठक हुई थी।वही नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन ने बताया कि बैठक में स्वस्थ परिचर्चा हो रही है। कहां-कहां दुश्वारियां हो रही है उस पर भी चर्चा हो रही।और क्या उपलब्धियां है उस पर भी चर्चा हो रही।उस उपलब्धियों को दूसरी जगह भी लागू किया जाए। जो भी परिणाम निकल कर आएंगे वो देश के सभी 204 नगर निगम में उपयोगी होगा।अयोध्या को देश की आध्यात्मिक राजधानी बनाने का प्रयास देश और प्रदेश की सरकार कर रही है। पीएम मोदी व सीएम योगी के निर्देशन में अयोध्या में तेजी से विकास कार्य हो रहा हैं। उद्घाटन सत्र में सांसद लल्लू सिंह विधायक वेद प्रकाश गुप्ता भी शामिल रहे शामिल। अयोध्या नगर निगम के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने सभी का स्वागत किया।

Advertisements

Comments are closed.