पूर्व छात्र-शिक्षक सम्मेलन में सास्कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

0

छात्र जीवन की याद से आती है ताजगी: डाॅ. हरिओम पाण्डेय

गोसाईगंज । छात्र जीवन की मधुर स्मृतियों को याद कर मन प्रफुल्लित होने के साथ ही एक नई ताजगी का एहसास होता है। अपने पूर्व शिक्षण संस्थान में चहल कदमी करना, पूर्व शिक्षकों और मित्रों से मिलने के आनंद को शब्दों में बयां करना संभव ही नहीं है। उक्त विचार अंबेडकरनगर सांसद डॉ. हरिओम पांडे ने सरस्वती शिशु मंदिर में शनिवार को आयोजित पूर्व छात्र सम्मेलन में बतौर मुख्य अतिथि ने कही। विशिष्ट अतिथि गोसाईगंज विधानसभा के विधायक इंद्र प्रताप खब्बू तिवारी ने बताया कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा संचालित विद्या भारती के विद्यालयों को सरस्वती शिशु मंदिर एवं सरस्वती विद्या मंदिर कहते हैं। संघ परिवार सरस्वती शिशु मंदिर की शिक्षा प्रणाली को अभिनव रूप में मानते हुवे इसका प्रसार करता है। इसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी प्रसिध्दि मिली है। विद्यार्थियों के सर्वांगीण विकास के लिए सरस्वती शिशु मंदिर अच्छा विकल्प स्वीकार किया जा सकता है। श्री विधायक ने कहा कि इस विद्यालय ज्ञान की प्रारंभिक शिक्षा शिशु मंदिर से मिलता है। जहां संस्कार भी मिलता है निश्चित रूप से शिशु मंदिर में पढ़ने वाले बच्चे जब वह हमसे मिलते हैं उनका आचरण रहता हूं जो व्यवहार रहता है जो राम राज की नीव है इस नीव को सर्वहित करता है। हम सब किसी बच्चे से मिलते हैं तो मिलने के बाद उसके हाव भाव अपने आप मालूम हो जाता है या बच्चा किस प्रकार का शिक्षा ग्रहण कर रहा है। आज हमारे समाज में तमाम प्रकार के विद्यालय हैं जिस प्रकार से आज शिक्षा का व्यवसायीकरण हो रहा है आज हमारे समाज में एक बहुत चिंता का विषय है। श्री विधायक ने सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय में एक कक्ष बनवाने के लिए 6 लाख का अनुदान भी दिया। इस अवसर पर सरस्वती विद्यालय के पूर्व में शिक्षा ग्रहण करने वाले छात्र-छात्राओं ने मनमोहक नृत्य पेशकर सबका मन मोह लिया।
सरस्वती शिशु मंदिर विद्यालय के प्रधानाचार्य बालमुकुंद तिवारी ने अपने संबोधन में कहा कि मैं सभी छात्रों का धन्यवाद देता हूं, उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे समय बीतता है पूर्व छात्रों के साथ जुड़ाव और विकसित व मजबूत होता है। पूर्व छात्र छात्राओं ने कहा कि हम सभी छात्र अपने पर बेहद गर्व है और स्कूल की आधुनिक सरंचना व विकास देखकर हमें काफी प्रसन्नता हो रही है। पूर्व छात्र प्रदीप जयसवाल संजय पराग ने कहा कि अपने स्कूल में वापस आना काफी अच्छा लग रहा है और उन्होने वर्तमान छात्रों द्वारा स्वागत किए जाने पर सभी शिक्षकों व छात्रों का आभार व्यक्त किया। स्कूल के प्रधानाचार्य बालमुकुंद तिवारी ने सभी का धन्यवाद देते हुए खुशी व्यक्त की। इस मौके पर इन प्रताप सिंह रूद्र प्रताप सिंह डॉक्टर लक्ष्मीकांत अंजनी कुमार बांग्ला कमलेश कुमार सिंह राघवेंद्र जी दीनानाथ मिश्र श्रीनाथ गुप्ता अरविंद गुप्ता पत्रकार अवधेश मिश्रा प्रदीप जयसवाल संजय पराग आदि मौजूद रहे।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More