in ,

ट्रैक्टर अटैच आटा चक्की में ब्लास्ट, दो की दर्दनाक मौत

दो युवक भी हुए घायल

मसौधा। पूराकलन्दर थाना क्षेत्र के खानपुर मसौधा मजरे हनुमान का पुरवा गांव में गुरूवार को अपरान्ह ट्रैक्टर अटैच गेहूं पिसाई की ऑटोमेटिक मशीन में ब्लास्ट हो गया। घटना में चार लोग घायल हो गये। गृह स्वामी किसान ने जिला अस्पताल में कुछ ही देर बाद दम तोड़ दिया वहीं मशीन चालक लखनऊ ले जाते समय रास्ते में मौत हो गयी। घटना में दो अन्य युवक भी घायल हैं जिनको प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया है। घटना से समूचे गांव में शोक का सन्नाटा है।
जानकारी के अनुसार खानपुर मसौधा मजरे हनुमान का पुरवा निवासी रामलखन वर्मा ने ट्रैक्टर अटैच ऑटोमेटिक मशीन गेंहू की पिसाई तथा अनाज की दवाई के लिए भाड़े पर बुलवाया था। गुरूवार की सुबह करीब 10 बजे मशीन का संचालन शुरू हुआ। गृह स्वामी किसान राम लखन वर्मा मशीन के आसपास बैठकर मशीन से निकल रहे अनाज को बोरे में भर रहे थे। वहीं मशीन का संचालन गुलशन मशीन पर निगरानी बनाये हुए था। इसी दौरान मशीन में अचानक खराबी आ जाने के कारण बड़ा धमाका हुआ देखा तो मशीन ब्लास्ट हो चुकी थी। अंदर में लगे हुए पुर्जे और उपकरण समेत पत्थर मशीन को फाड़कर बाहर छितरा कर गिरे थे। गृह स्वामी राम लखन वर्मा खून से लतपथ जमीन पर मरणासन्न हालत में पड़े थे। जबकि मशीन संचालक गुलशन का सिर फट गया था। बगल में खड़े कन्हैया लाल समेत एक अन्य किशोर ब्लास्ट के दौरान मशीन से निकले मलबे की चपेट में आने जख्मी हो चुके थे। आनन फानन में सभी घायलांं को जिला अस्पताल लाया गया जहां राम लखन वर्मा ने जिला चिकित्सालय में इलाज के दौरान कुछ ही देर में दम तोड़ दिया। जबकि मरणासन्न हालत में मशीन संचालक गुलशन निवासी बिरौली थाना पूराकलन्दर को लखनऊ रिफर कर दिया गया जिसकी लखनऊ ले जाते समय रास्ते में मौत हो गयी। प्राथमिक उपचार के बाद हनुमान पुरवा निवासी कन्हैया लाल समेत एक अन्य युवक को घर भेज दिया गया। दोनों लागों की मौत की खबर मिलते ही पूरे गांव में शोक का सन्नाटा पसर गया। महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल है। लोग घटना से हतप्रभ है। पीड़ित परिजनों की माने तो घटना के बाद मशीन मालिक अपनी मशीन को लेकर मौके से चले गये वहीं मौके पर पहुंची पूराकलन्दर पुलिस ने घटना की स्थलीय जांच कर दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पूराकलन्दर थाना प्रभारी अरविन्द तिवारी ने बताया कि घटना में 60 वर्षीय रामलखन वर्मा की जिला अस्पताल में कुछ ही देर बाद मौत हो गयी। जबकि मशीन संचालन गुलशन ने लखनऊ ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ा। कन्हैया लाल समेत एक अन्य किशोर बालक भी घटना में जख्मी है जिसका इलाज चल रहा है। घटना के बावत पीड़ित व मशीन मालिक किसी की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गयी है दोनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

बाल मेले का हुआ आयोजन

अग्नि पीड़ित परिवारों को समाजसेवी ने दी इमदाद