The news is by your side.

भारतवर्ष बने पुनः अखंड भारत

– हिएआपा ने 14 अगस्त को मनाया अखंड भारत संकल्प दिवस

अयोध्या। अखंड भारत के स्वप्न को साकार करने के उद्देश्य से हिंदू एकता आंदोलन पार्टी द्वारा 14 अगस्त के दिन को अखंड भारत संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया अयोध्या के लक्ष्मण घाट स्थित नया मंदिर शीश महल में संकल्प दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता करते हुए हिंदू एकता आंदोलन पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अधिवक्ता मनीष पांडेय ने अपने उद्गार में कहा कि अखंड भारत का सपना तभी साकार होगा जब हम हिंदुस्तान के खंड खंड होने से बचा लेंगे ,क्योंकि देश के चंद स्वार्थी व पद लोलुप व्यक्ति व राजनीतिक दल टुकड़े टुकड़े गैंग के मध्य हुई दुरभि संधि से हिंदुस्तान के टुकड़े टुकड़े करने का दिवास्वप्न पाले बैठे हैं, श्री पांडेय ने आगे कहा कि हम 1857 के समय के अखंड भारत की मांग करते हैं ,क्योंकि जिस प्रकार चीन ने अपने 1860 के नक्शे के रूप में ब्लेदीवस्तोख को चीन का हिस्सा बताकर मानचित्र जारी किया था, ठीक उसी प्रकार हम भारत सरकार से यह मांग करते हैं कि भारत भी अट्ठारह सौ सत्तावन का मानचित्र जारी करें, और उन में जो स्थान दर्शाए गए थे, वह सभी भारत में सम्मिलित करें,

Advertisements

श्री पांडेय ने यह भी कहा कि इतिहास गवाह है कि हिंदू सनातन धर्म संपूर्ण जम्बुदीप पर शासन किया करता था, किंतु इस्लाम के उदय एवं उसकी बर्बरता के कारण यह शासन घटकर भारत वर्ष तक सीमित रह गया, किंतु कुरूओ और पुरूओ की लड़ाई के बाद आर्यावर्त नामक नए स्थान का जन्म हुआ, जिसमें आज के हिंदुस्तान के कुछ हिस्से संपूर्ण पाकिस्तान और संपूर्ण अफगानिस्तान का क्षेत्र है, लेकिन मध्यकाल में लगातार आक्रमण धर्मांतरण और युद्ध के चलते हम घटते घटते हिंदुस्तान बचा है, इसलिए समय की मांग है कि बचे हुए क्षेत्रों को हिंदू राष्ट्र घोषित कर दिया जाए ,साथ ही साथ महाभारत कालीन मानचित्र के अनुसार जम्बुदीप को पाने का प्रयास किया जाए,

इसे भी पढ़े  डॉ. अम्बेडकर का व्यक्तित्व अत्यंत विराट व बहु-आयामी : प्रो. मनोज अग्रवाल

श्री पांडेय ने यह भी कहा कि हमारे सामने इजराइल का उदाहरण सामने मौजूद है जिसने अपनी अदम्य इच्छाशक्ति के बल पर एक यहूदी राष्ट्र को प्राप्त करने में सफलता प्राप्त की है संकल्प कार्यक्रम का संचालन कर रहे महंत राम लोचन शरण शास्त्री राजन बाबा ने कहा कि इस प्राचीन राष्ट्र को पुनः अपना खोया हुआ गौरव प्राप्त कराने और एक संगठित समृद्ध शक्तिशाली समर्थवान शक्तिशाली राष्ट्र प्राप्त करने की दिशा में हम आगे बढ़ना होगा यह हम अपने पुरुषार्थ के बल पर प्राप्त कर सकते हैं संकल्प कार्यक्रम में प्रमुख रूप से अनुपम तिवारी, रिंकू तिवारी, राघव राम पांडेय, जितेंद्र कुमार, मदन लाल, अजय शुक्ला, पंडित विधि पूजन पांडे, हीरामणि पांडे, चंद्रहास दीक्षित, आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे

Advertisements

Comments are closed.