The news is by your side.

सामंतवाद, पूंजीवाद व फिरकापरस्ती के खिलाफ था बाबूजी का संघर्ष : अरविन्द सेन

-जयंती पर याद किये गये पूर्व सांसद स्व. मित्रसेन यादव

मिल्कीपुर। समाजवादी पार्टी के तत्वाधान में पार्टी के वरिष्ठ नेता छोटे लाल यादव द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया। फैजाबाद से कई बार के विधायक व सांसद स्वर्गीय मित्रसेन यादव की 90वी जयंती पर आज कलपनाथ इन्टर कालेज कदनपुर में मुख्य अतिथि के रूप मे मित्रसेन यादव के बड़े पुत्र आई पी एस अरविंद सेन यादव की उपस्थिति में श्रद्धांजलि दी गई। सभा का संचालन वेद प्रकाश यादव ने किया।

Advertisements

कार्यक्रम के आयोजक संयोजक छोटे लाल यादव की अध्यक्षता में ग्राम सभा के सैकड़ों लोगों की उपस्थिति में उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। कार्यक्रम के दौरान श्री यादव द्वारा ग्राम सभा के हर जाति और हर धर्म के 70 लोगो को जिनकी उम्र 70वर्ष से ऊपर थी, जो किसी न किसी रूप में स्वर्गीय मित्रसेन यादव से जुड़े थे, उन्हें माल्यार्पण एवं अंगवस्त्र भेट कर समाजवादी सम्मान से सम्मानित किया गया। गोष्ठी को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि अरविन्द सेन यादव ने कहां कि स्व. बाबू जी का चिंतन साम्यवाद अम्बेडकरवाद और समाजवाद पर आधारित था। उनका संघर्ष सामंतवाद, पूंजीवाद एवं फिरका परस्तीके खिलाफ था। इसी पर आधारित उनका जीवन संघर्ष था। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बाबूजी को किसी पार्टी से मत बांधे वे महामानव थे।

उन्होंने हमेशा न्याय की लड़ाई लड़ी। जिलाध्यक्ष महिला सभा की सरोज यादव ने कहा कि वह समता- समानता- समरसता को मानने वाले जननायक पुरुष थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे सपा नेता छोटे लाल यादव ने उपस्थित जनसमूह का आभार व्यक्त कर बधाई देते हुए कहा कि बाबू जी का संघर्ष समाजवादी विचारधारा को देश में स्थापितकर समाज के निचले पायदान पर खड़े अंतिम व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कान लाना था। इसलिए इस खास मौके पर उनके विचारों के प्रति प्रतिबद्धता का संकल्प ही उनको दिया गया बड़ा तोहफा है।

इसे भी पढ़े  सरयू की निर्मलता के लिए कार्ययोजना तैयार करने को किया गया मंथन

यह कार्यक्रम कल्पनाथ इन्टर कॉलेज में महादेव यादव जी उपस्थिति में हुआ। समारोह में पूर्व प्रधान तुलसीराम यादव, डा.हनुमंत यादव, डा. राम सहाय वर्मा, हितलाल कोरी, राजेश उपाध्याय, रियासत अली शिवप्रसाद तिवारी, देवबख्स तिवारी,रामकेवल यादव, राम राज अंकुर यादव नागेश्वर नाथ कोरी, शिवा, पंकज यादव राजदेव यादव प्रधानाचार्य रामकलप इन्टर कॉलेज आदि ने अपने विचार व्यक्त किया।

Advertisements

Comments are closed.