The news is by your side.

31 मई से होंगी अवध विश्वविद्यालय की एनईपी सम सेमेस्टर परीक्षाएं

-नकलविहीन परीक्षा के लिए कुलपति ने केन्द्राध्यक्षों के साथ की बैठक

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय शिक्षा नीति अन्तर्गत स्नातक व परास्नातक सम सेमेस्टर की परीक्षा 31 मई से होगी। मंगलवार को प्रशासनिक भवन में कुलपति प्रो. प्रतिभा गोयल की अध्यक्षता में प्राचार्यों एवं केन्द्राध्यक्षों के साथ ऑफ व ऑनलाइन बैठक हुई। कुलपति ने कहा कि एनईपी सम सेमेस्टर की परीक्षाएं 31 मई से शुरू होकर 09 जुलाई तक चलेगी। सीसीटीवी की निगरानी में नकलविहीन परीक्षा कराई जाएगी। सभी अपने दायित्वों का निवर्हन करते हुए पूर्व की भांति परीक्षा की शुचिता एवं पवित्रता बनाये रखने के लिए सहयोग प्रदान करें। बैठक में कुलपति ने केन्द्राध्यक्षों से कहा कि स्नातक परीक्षा तीन पालियों में होगी। वहीं परास्नातक की परीक्षा दो पालियों कराई जाएगी।

Advertisements

464 परीक्षा केन्द्रों पर 5 लाख 35 हजार 654 परीक्षार्थी होंगे शामिल

-कुलपति ने बैठक के दौरान बताया कि इस परीक्षा को सकुशल सम्पन्न कराने के लिए सात जनपदों में कुल 464 केन्द्र बनाये गए हैं। जिसमें स्नातक एवं परास्नातक में कुल 5 लाख 35 हजार 654 परीक्षार्थी शामिल होंगे। बैठक में कुलपति प्रो. गोयल ने बताया कि एनईपी स्नातक में 4 लाख 36 हजार 348 परीक्षार्थी शामिल होंगे जिनमें 195532 छात्र एवं 240816 छात्राएं है। वही परास्नातक स्तर पर 99306 परीक्षार्थी परीक्षा देगें जिसमें 31199 छात्र व 68107 छात्राएं है। बैठक में कुलपति प्रो. गोयल ने सभी केन्द्राध्यक्षों से कहा कि परीक्षा की शुचिता एवं पवित्रता बनाये रखने के लिए सभी केन्द्रों के सीसीटीवी कैमरे सुचारू रूप से संचालित होने चाहिए।

इन केन्द्रों के कैमरे की निगरानी विश्वविद्यालय के कंट्रोल रूम से की जायेगी। इसके अतिरिक्त सदलदल द्वारा औचक निरीक्षण भी किया जायेगा। बताया कि परीक्षा को पारदर्शी बनाने के लिए उत्तर पुस्तिकाओं के संकलन के लिए सात जनपदों में कुल 18 संकलन केन्द्र बनाये गए है। इन केन्द्रों पर उत्तर पुस्तिकाओं को सुरक्षित ले जाने व जमा करने की जिम्मेदारी केन्द्राध्यक्षों की होगी। इसके अतिरिक्त जनपदों के जिलाधिकारी एवं पुलिस प्रशासन को पारदर्शीपूर्ण परीक्षा के लिए विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा पत्र निर्गत कर दिया गया है। सभी के सहयोग से नकलविहीन परीक्षा सम्पन्न कराई जायेगी।

इसे भी पढ़े  पिताश्री सम्मान से सम्मानित हुए हरिकृष्ण अरोड़ा व डा. जावेद अख्तर

परीक्षा पारिश्रमिक के भुगतान को दो माह के भीतर भेजना होगा पत्रावली

-कुलपति ने केन्द्राध्यक्षों से कहा कि परीक्षा की समाप्ति के दो माह के अन्दर पारिश्रमिक भुगतान के लिए पत्रावली विश्वविद्यालय का प्रेषित कर दे जिससे तय समय पर भुगतान कराया जा सके। बैठक में विवि के परीक्षा नियंत्रक उमानाथ ने बताया कि नकलविहिन परीक्षा कराने के लिए परीक्षा केन्द्रों को यथा आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान कर दिया गया है।

एनईपी की स्नातक बीए, बीएससी बीकॉम द्वितीय सेमेस्टर परीक्षा प्रातः 07 बजे 09 बजे तक, द्वितीय पाली की परीक्षा 10 बजे से दोपहर 12 बजे तक एवं तृतीय पाली की परीक्षा अपराह्न 02 से 04 बजे तक सम्पन्न होगी। स्नातक परीक्षा 31 मई से शुरू होकर 09 जुलाई तक चलेगी। वहीं परास्नातक की परीक्षा 21 जून से प्रारम्भ होकर 02 जुलाई तक होगी।

नकल विहीन परीक्षा के लिए बनाए गए 05 उड़नदस्ता

-बैठक में विवि के परीक्षा नियंत्रक उमानाथ ने बताया कि नकल विहिन परीक्षा कराने के लिए सचलदल का गठन कर दिया गया है। इन पांच सचलदल द्वारा केन्द्रों का औचक निरीक्षण किया जायेगा। इसके अलावा विश्वविद्यालय के कंट्रोल रूम से परीक्षा केन्द्रों के सीसीटीवी कैमरे की निगरानी की जायेगी। बैठक में राजकीय, अशासकीय, स्ववित्तपोष्षित महाविद्यालयों के केन्द्राध्यक्ष सहित विश्वविद्यालय के मुख्य नियंता प्रो. संत शरण मिश्र, मीडिया प्रभारी डॉ. विजयेन्दु चतुर्वेदी, प्रोग्रामर रवि मालवीय मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.