The news is by your side.

प्राधिकरण अपनी सम्पूर्ण सम्पत्तियों की रखे जानकारी : गौरव दयाल

कमिश्नर ने निर्माण कार्यों व अफीम कोठी का किया निरीक्षण

अयोध्या। मण्डलायुक्त गौरव दयाल ने अयोध्या में भव्य श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण कार्य पूर्ण होने के उपरांत श्रद्वालुओं की संख्या में बढ़ोत्तरी को देखते हुये अयोध्या विकास प्राधिकरण द्वारा श्रद्वालुओं को बेहतर सुविधा उपलब्ध करवाने के दृष्टिगत किये जा रहे विभिन्न निर्माण कार्यो का निरीक्षण किया। सर्वप्रथम उन्होंने अयोध्या विकास प्राधिकरण द्वारा संचालित कौशलेश कुंज योजना में निर्माणाधीन पार्किंग स्थल का निरीक्षण किया। उपस्थित अधिकारियों द्वारा बताया गया कि इस भवन में पार्किंग के साथ 38 दुकानें, कार्यालय, कम्युनिटी हाल, रेस्टोरेंट/फूड कोर्ट, आनलाइन पार्किंग सिस्टम की सुविधायें उपलब्ध रहेंगी।

Advertisements

इसके उपरांत मण्डलायुक्त ने टेढ़ीबाजार के समीप पूर्वी व पश्चिमी दिशा में निर्माणाधीन पार्किंग स्थलों का निरीक्षण किया। अधिकारियों द्वारा बताया गया कि पूर्वी पार्किंग भवन में 214 दुकानें, 09 डारमेट्री, ट्वॉयलेट, रेस्टोरेंट/फूड कोर्ट के साथ कार पार्किंग मैनेजमेंट प्रणाली तथा पश्चिमी पार्किंग भवन में 36 दुकानें, कार्यालय, कार पार्किंग आदि की सुविधा उपलब्ध रहेंगी। निरीक्षण के दौरान मण्डलायुक्त ने कहा कि भवन में जो दुकानें निर्मित है उनके साइन बोर्ड में एकरूपता रहे इसका ध्यान रखा जाय। निर्माणाधीन पार्किंग की दुकानों में चयनित किये गये टाइल पैटर्न की मण्डलायुक्त द्वारा प्रशंसा की गयी।

अधिकारियों द्वारा बताया गया कि 31 मार्च 2023 तक सभी कार्य पूर्ण कर लिये जायेंगे। इसके उपरांत अमानीगंज में रामपथ के किनारे निर्माणाधीन पार्किंग स्थल का निरीक्षण किया तथा कार्य को तीव्र गति से कर निर्धारित समय मे पूर्ण करने के निर्देश दिये। अयोध्या विकास प्राधिकरण के उपस्थित अधिकारियों से उन्होंने कहा कि प्राधिकरण अपनी सम्पूर्ण सम्पत्तियों की जानकारी रखें समय समय पर लैंड आडिट जरूर करवायें जिससे यह पता रहे कि किन किन स्थानो पर खाली भूमि उपलब्ध है । इसके उपरांत उन्होंने अफीम कोठी का निरीक्षण किया तथा तहसीलदार सदर को भूमि के सम्बंध में अभिलेख जांच करने के निर्देश दिये। निरीक्षण के दौरान नगर नियोजक गोर्की, मुख्य अभियन्ता विकास प्राधिकरण सहित सम्बंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Advertisements

Comments are closed.