The news is by your side.

अविवि में डी0फार्मा एवं बी0फार्मा संचालित किए जाने की मिली मंजूरी

-विश्वविद्यालय में सत्र 2021-22 से होगी डी0फार्मा एवं बी0फार्मा की पढ़ाई

-डी0फार्मा एवं बी0फार्मा पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए आनलाइन आवेदन जारी

अयोध्या। डाॅ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय को फार्मेसी काउंसिल आफ इण्डिया से डी0फार्मा एवं बी0फार्मा संचालित किए जाने की मंजूरी मिली। परिसर में सत्र 2021-22 से दोनों पाठ्यक्रमों में 60-60 सीटों पर प्रवेश होगा। इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आॅनलाइन आवेदन प्रक्रिया जारी है। अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की साइट पर जाकर आवेदन कर सकते है। अविवि के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह के अथक प्रयास से परिसर में डी0फार्मा एवं बी0फार्मा पाठ्यक्रम संचालित किए जाने का रास्ता साफ हो गया। अब परिसर से विद्यार्थी डी0फार्मा एवं बी0फार्मा पाठ्यक्रम की पढ़ाई कर सकेगें।

Advertisements

विदित हो कि विश्वविद्यालय में शैक्षिक गति प्रदान करते हुए कुलपति प्रो0 सिंह ने परिसर में कई रोजगारपरक पाठ्यक्रम की शुरूआत की है। इसी क्रम में डी0फार्मा एवं बी0फार्मा पाठ्यक्रम को संचालित किए जाने के लिए वर्ष 2020 में तैयारी शुरू कर दी थी। प्रदेश शासन एवं फार्मेसी काउंसिल आॅफ इण्डिया की औपचारिकताओं को पूर्ण करते हुए पाठ्यक्रम संचालित किए जाने की अनुमति मिली। ये पाठ्यक्रम कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह की पहली प्राथमिकता रही है। अयोध्या सहित आस-पास के विद्यार्थी विश्वविद्यालय से डी0फार्मा एवं बी0फार्मा की पढ़ाई कर सकेगें। पाठ्यक्रम को शुरू करने के लिए कुलपति ने परिसर में इंस्टीट्यूट आॅफ फार्मास्यूटिकल साइसेंज की स्थापना की। इसका प्रभारी निदेशक प्रो0 शैलेन्द्र कुमार को बनाया।

बी0फार्मा का समन्वयक डाॅ0 अनिल कुमार एवं डी0फार्मा का डाॅ0 सिंधु सिंह को बनाया है। इसके उपरांत पाठ्यक्रम को सुचारू रूप से संचालित किए जाने के लिए विद्यापरिषद एवं कार्यपरिषद से अनमोदन भी करा लिया गया था। विश्वविद्यालय के मीडिया प्रभारी डाॅ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी ने बताया कि विश्वविद्यालय को फार्मेसी काउंसिल आॅफ इण्डिया से डी0फार्मा एवं बी0फार्मा संचालित किए जाने की अनुमति मिल गई है। इन पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आॅनलाइन आवेदन की प्रक्रिया शुरू है। अभ्यर्थी विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जाकर जानकारी प्राप्त कर सकते है। इस पाठ्यक्रम के शुरू होने से शिक्षकों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह के प्रति आभार व्यक्त किया।

Advertisements

Comments are closed.