in

कृषि विश्वविद्यालय : विवाहिता की मौत में नया मोड़, दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज, प्रोफेसर फरार

-बेडरूम में मिले खून के धब्बे, टूटी मोबाइल समेत कई सबूत

कुमारगंज।  आचार्य नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय परिसर स्थित आवास में बीते 16 जून को नेहा सिंह की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत मे मृतका की मां की तहरीर पर पुलिस ने आरोपी प्रोफेसर पति, देवर और सास के विरुद्ध गंभीर धराओं में मुकदमा दर्ज कराया था।

पटना बिहार से अयोध्या पहुंचे मृतका नेहा सिंह के चाचा ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा जहां पर बेटी नेहा सोती थी उस बिस्तर पर खून के धब्बे अभी भी लगे है। बेड के बिस्तर पर तकिए के नीचे एक मोबाइल भी क्षत-विक्षत अवस्था में मिला है। जिसे पुलिस ने कब्जे में लेकर सील कर दिया है। बेडरुम देखने के बाद ऐसा लग रहा है कि हत्या करके सुसाइड का रूप दिया गया है। मुख्य रूप से यह हत्या प्रतीत हो रहा है। पीड़ित परिजनों का आरोप है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बदलाव किया गया है। घटना के दस दिन बीत जाने के बाद भी किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। मृतका नेहा सिंह के परिजन शनिवार को थाना कुमारगंज पहुंचे जहां से वे यूनिवर्सिटी कैंपस के मकान संख्या बी-87 पर पुलिस फोर्स के साथ गए जहां नेहा सिंह अपने पति डॉ अनूप कुमार सिंह के साथ रहती थी।

पुलिस ने विश्वविद्यालय की सुरक्षा अधिकारी की मौजूदगी में सील मकान का ताला तोड़वाकर बेडरूम दिखाया। देखने के बाद परिजनों ने कहा नेहा की हत्या की गई है।मृतका नेहा सिंह के पिता ने यह भी आरोप लगाया है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी गलत प्रतीत हो रही है। ऐसा इसलिए कह रहा हूं क्योंकि जिस कमरे में मेरी बेटी रहती उस बेड पर खून के धब्बे मिले है।

मृतका नेहा सिंह की मां ज्ञान्ति देवी ने घटना के ही दिन पुलिस को तहरीर दिया था पुलिस ने आरोपी प्रो. अनूप कुमार सिंह तथा उनके भाई मां के विरुद्ध संबंधित गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज करा दिया था। लेकिन अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। इस मामले में जब क्षेत्राधिकार मिल्कीपुर सुनील कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि मृतका की मां ज्ञांति देवी की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी।

इसे भी पढ़े  मिल्कीपुर उपचुनाव के लिए बसपा के दावेदार हुए सक्रिय

What do you think?

Written by Next Khabar Team

नवीन आपराधिक विधि का प्रवर्तन स्वागत योग्य : अखिलेश शाह

संसद में राहुलगांधी के बयान से भड़के विहिप और भाजपा कार्यकर्ता, जलाया पुतला