23 लोगों की गिरफ्तारी के बाद मलेथूकनक गांव में पसरा सन्नाटा

छात्रा को भगाने को लेकर दो गुटों में हुई थी जमकर मारपीट

बीकापुर । बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के मलेथूकनक गॉव में सोमवार की रात छात्रा भगाने को लेकर गॉव के दो गुटों के बीच भडके विवाद और तांडव में 23 लोगो की गिरफ्तारी के बाद दो तिहाई गॉव में सन्नाटा पसरा हुआ है। गॉव के अधिकांश युवक और जवान पुरूष घर छोडकर फरार है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए गॉव में 7 सेक्सन पीएससी तैनात की गई है। पुलिस क्षेत्राधिकारी अरविन्द चौरसिया इंस्पेक्टर रामचन्द्र सरोज पुलिस टीम के साथ गॉव में ढेरा डाले हुए है। खुफिया विभाग का एक अधिकारी भी अपनी टीम के साथ गॉव में पहुचकर हालात पर नजर गढाये है और पल पल की ताजा स्थिति का आंकलन कर रहे है। गॉव में सन्नाटे के बावजूद अन्दर खाने में आक्रोश भरा है। किन्तु स्थिति धीरे-धीरे करके पटरी पर लौटने की बात कही जा रही है। आज जब यह प्रतिनिधि गॉव में पहुंचकर लोगो से बातचीत की तो बताया गया कि गॉव के बीच और पश्चिम पटी के बहुसंख्यक घरों के पुरूष सदस्य घर छोड़कर निकल गये है। गॉव में पश्चिमी क्षोर से मध्य पूरब की तरफ गॉव तक अधिकांश घरों के महिलाएं और बच्चे ही मौजूद मिले। हलांकि पुलिस क्षेत्राधिकारी लोगो के घरों पर जाकर घर छोडकर भगे परिजनो से पुरूषों को घर वापसी का सन्देश देते रहे। लेकिन पुलिस के भय से अभी भी कोई घर लौटने की हिम्मत नही जुटा रहा है। गॉव के पश्चिमी सिरे से लेकर करिया टीकर तक तथा गॉव के बाहर पूर्वी सिरे विवेक सिंह के आवास तक करीब 1.5 किलोमीटर की दूरी में जगह जगह पुलिसफोर्स की टुकडी और पीएससी के जवान शान्ति व्यवस्था बनाए रखने में ढेरा डाल दिये है। मंगलवार की शाम को महिला और पुलिस टीम के अलावां एक प्लाटून पीएससी गॉव में तैनात थी। आज एक सेक्सन पीएससी और बढा दी गई है। हिंसा पर उतारू भीड़ के तांडव में सर्वाधिक प्रभावित होने वाले पूर्व प्रधान प्रतिनिधि राकेश यादव और गॉव के बाहर विवेक सिंह की रिहायसगाह पर सुरक्षा व्यवस्था के लिए फोर्स ने विशेष इंतजाम किये है। जिससे लगता है कि अभी पूरी तरह शान्ति व्यवस्था बहाल होने में एकाधि दिन और लगेगें। हलांकि पुलिस क्षेत्राधिकारी अरविन्द चौरसिया ने बताया कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। घर छोड़कर भागे लोग धीरे-धीरे अपने घरों को लौट रहे है। सुरक्षा व्यवस्था सिर्फ एहतिहातन की गई है। उन्होने यह भी दावा किया कि शीघ्र ही भगाई गई बालिका बरामद हो जायेगी। इस सम्बन्ध में पुलिस के हाथ महत्वपूर्ण क्लू हाथ लग गये है। जिसके लिए पुलिस टीम भी रवाना कर दी गई है। बताते चले कि सोमवार को गॉव की एक छात्रा को बहका फुसलाकर भगा ले जाने के मामले में छात्रा के भाई द्वारा अपहरण का नामजद मुकदमा दर्ज करा देने की घटना की सूचना मिलने पर मामले के आरोपियों व समर्थको के बीच विवाद भडक उठा था। मामला इतना उग्र हो गया था कि गॉव में भड़के जनाक्रोश, तोड़फोड़ और लूटपाट के तांडव को काबू कर पाने में रात के अंधेरे में कई घण्टों तक पुलिस के पसीने छूट गये थे। स्थिति मध्य रात के बाद तब सामान्य हुई जब कोतवाली पुलिस टीम के अलावां अगल बगल के थानो की पुलिस और पीएससी के जवानो ने पूरी तरह मोर्चा सम्भाल लिया।

इसे भी पढ़े  बिम के नीचे दबकर मजदूर की मौत

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More