The news is by your side.

अच्छी आदतें अपनाइये, बीमारियों को दूर भगाइये : नितीश कुमार

– स्वास्थ्य, शिक्षा समेत 12 विभागों के समन्वय से अप्रैल माह में चलेगा विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान

अयोध्या। जनपद में एक अप्रैल से विशेष संचारी संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान चलेगा  इस दौरान संचारी रोगों से ग्रसित लोगों के साथ-साथ संभावित क्षय रोगियों की भी तलाश की जाएगी। फ्रंटलाइन वर्कर (आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता) घर-घर जाकर रोगियों की जानकारी लेंगे। एक माह तक चलने वाले इस अभियान में सभी सम्बंधित विभाग अपने-अपने दायित्यों का पूर्ण निर्वहन करें और अन्य विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर अभियान को सफल बनाएं।

Advertisements

यह बातें शुक्रवार को जिलाधिकारी नितीश कुमार ने विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान के प्रथम अन्तर्विभागीय समन्वय समिति बैठक को संबोधित करते हुए कही। जिलाधिकारी ने कहा कि अभियान में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, ग्राम्य विकास / पंचायती राज विभाग, बाल विकास सेवा एवं पुष्टाहार विभाग, शिक्षा विभाग, नगर निगम / शहरी विकास, कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, स्वच्छ भारत मिशन, उद्यान विभाग, दिव्यांगजन सशक्तिकरण तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग आपसी समन्वय बनाकर एक साथ काम करेंगे द्य इससे डेंगू, मलेरिया, दिमागी बुखार, टीबी, एनीमिया व कुपोषण के साथ विभिन्न संक्रामक रोगों पर सीधा प्रहार होगा और अभियान को सफल बनाया जा सकेगा।

मुख्य विकास अधिकारी अनिता यादव ने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग दिमागी बुखार एवं अन्य वेक्टर जनित रोगों, जल जनित रोगों तथा उष्ण मौसम से सम्बंधित रोगों (हीट वेव इलनेसेज यानि लू) से सम्बंधित रोकथाम एवं नियंत्रण गतिविधियों के लिए राज्य, जनपद, ब्लॉक तथा पंचायत / ग्राम स्तरों पर विभिन्न विभागों के बीच समन्वय हेतु नोडल का कार्य करेगा द्यस्कूलों में शिक्षकों के माध्यम से दिमागी बुखार व अन्य वेक्टर जनित रोगों, जल जनित रोगों, लू आदि से बचाव, रोकथाम व उपचार के बारे में विद्यार्थियों को जानकारी दी जाएगी।

इसे भी पढ़े  नव्य राम मन्दिर में मना श्रीरामलला का भव्य जन्मोत्सव, सूर्य की किरणों से हुआ तिलक

शिक्षा विभाग के सहयोग से पुस्तकों के वितरण के समय अभिभावकों का भी संवेदीकरण किया जाएगा । स्कूलों में पोस्टर प्रतियोगिता, वाद-विवाद प्रतियोगिता, क्विज प्रतिस्पर्धा, निबंध लेखन आदि के माध्यम से छात्रों को रोगों से बचाव, पर्यावरणीय स्वच्छता और व्यक्तिगत स्वच्छता के विषय में बताया जाएगा। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अजय राजा ने बताया कि अभियान में फ्रंट लाइन वर्कर जिन संचारी रोगों के लक्षणयुक्त व्यक्तियों की सूची देंगे, उनके उपचार की व्यवस्था की जाएगी द्य कोविड-19 व क्षय रोग की जांच की व्यवस्था भी विभाग की ओर से की जाएगी द्य रोगियों के निःशुल्क परिवहन के लिए 108 और 102 एम्बुलेंस की भी व्यवस्था की जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में लार्वारोधी गतिविधियां और फॉगिंग भी कराई जाएगी।

सीएमओ ने बताया कि 17 अप्रैल से दस्तक अभियान शुरु होगा। इसमें घर-घर संपर्क कर रहीं आशा स्टीकर लगाकर सुनिश्चित करेंगी कि घर के सदस्य किसी भी तरह के बुखार के समय नजदीकी सरकारी स्वास्थ्य केंद्रों पर संपर्क करें। आशा अपने काम की सूचना एएनएम को प्रतिदिन उपलब्ध कराएंगी।

Advertisements

Comments are closed.