The news is by your side.

लूट की घटना के बाद आधे घंटे में दबोचे आरोपी

-लूट की घटना को अंजाम देकर भाग रहे थे, तीन आरोपी गिरफ्तार

Advertisements

बीकापुर। बीकापुर-इनायतनगर मार्ग पर स्थित महाराणा स्कूल के निकट मंगलवार देर शाम हुये मोबाइल की असलहे के नोक पर हुए लूट के मामले में सूचना के बाद बीकापुर पुलिस ने अत्यधिक तेजी दिखाते हुए भाग रहे तीनों आरोपियो को घटना के कुछ मिनट बाद ही धर दबोचा। जानकारी के अनुसार सिद्धार्थ चौरसिया पुत्र सुरेश चौरसिया बीकापुर से रामदासपुर मझौली अपने घर जा रहा था। पीड़ित के पिता सुरेश चौरसिया बीकापुर कस्बे में सब्जी की दुकान लगाते है।

इस दौरान वह मोबाइल फोन से किसी से बात कर रहा था। पीड़ित सिद्धार्थ जैसे ही बीकापुर इनायतनगर मार्ग पर स्थित महाराणा स्कूल से थोड़ा आगे पहुंचा, सामने से आ रहे तीन बाइक सवार लुटेरों ने उसे जबरदस्ती असलहे के बल पर रोक लिया और उसके पास मौजूद मोबाइल फोन लूटकर भागने लगे। पीड़ित द्वारा चीखने चिल्लाने के बाद आसपास मौजूद लोगों ने लुटेरों का पीछा किया। इसी दौरान घटनास्थल पर पहुंचे पत्रकार अमित सिंह ने घटना की सूचना हल्का सिपाही सचिन सिंह और सीओ सत्येंद्र भूषण तिवारी को दी। सीओ के निर्देशन में कोतवाल मणि शंकर तिवारी, सिपाही सचिन सिंह और ज्ञान प्रकाश सिंह घटनास्थल की ओर रवाना हुए।

इसी दौरान तिवारीपुर मोड़ के निकट बाइक सवार दो युवक लघुशंका करते दिखाई पड़े। पुलिस ने जब उन्हें आवाज दी तो वे बाइक स्टार्ट कर भागने लगे। पुलिस ने पीछा कर दोनों युवकों को पकड़ लिया और तीसरे युवक के बारे में पूछताछ शुरू कर दी। थोड़ी कड़ाई बरतने के बाद युवकों ने छिनैती की घटना स्वीकार करते हुए तीसरे युवक की भी जानकारी पुलिस को दे दी, जो पास ही छिपा था। पुलिस तीनों आरोपियों को पकड़कर थाने ले आई, जहाँ सीओ सत्येंद्र भूषण तिवारी व कोतवाल मणि शंकर तिवारी ने आरोपियों से पूछताछ की।

इसे भी पढ़े  साउथ फिल्म इंडस्ट्री के अभिनेता सुमन तलवार ने रामलला का लिया आशीर्वाद

आरोपियों की पहचान बृजेन्द्र तिवारी पुत्र सर्वादीन तिवारी, निवासी ग्राम पूरे राम गोविंद तिवारी का पुरवा, घुरेहटा, आलोक कुमार पुत्र आशुतोष निवासी अदिलपुर इनायतनगर, अंकुश द्विवेदी पुत्र कृष्णा निवासी बसवार खुर्द, थाना कोतवाली इनायतनगर के रूप में हुई है। पुलिस ने घटना में शामिल स्प्लेंडर बाइक, लूटा गया मोबाइल फोन, एक-एक 12 बोर व 315 बोर कट्टा आरोपियों के पास से बरामद किया है। बुधवार को आरोपियों का सीएचसी बीकापुर में मेडिकल कराने के बाद आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

Advertisements

Comments are closed.