in

गन्ना किसानों की समस्याओं का किया गया समाधान

गन्ना समिति की खुली बैठक में निस्तारित की गई 6500 शिकायते

अयोध्या। गन्ना किसानों की लंबित समस्याओं का तत्काल निस्तारण कराने के लिए गन्ना समिति की ओर से सोमवार को फिर समिति प्रांगण में खुली बैठक आयोजित की गई। बैठक में अब तक करीब 6725 गन्ना किसानों ने अपनी शिकायतें दर्ज कराई। इनमें से करीब साढे छह हजार शिकायतों का निस्तारण कराया गया है। यह जानकारी समिति के सभापति दीपेंद्र सिंह तथा उपसभापति नित्य प्रकाश सिंह ने सयुक्त रूप से दी।
सभापति श्री सिंह ने बताया कि अपनी लंबी समस्याओं को लेकर गन्ना किसान भटक रहे थे लेकिन उनकी समस्याओं का निस्तारण नहीं हो पा रहा था। इसे देखते हुए समिति की ओर से खुली बैठक आयोजित करने की शुरुआत की गई थी। इस क्रम में आज सोमवार को फिर बैठक आयोजित की गई ।बैठक में जिला गन्ना अधिकारी ए पी सिंह व चेयरमैन दीपेंद्र सिंह की मौजूदगी करीब 6725 किसानों द्वारा अपने सर्वे सट्टे में संशोधन संबंधी शिकायती पत्र दिया गया है। इसमें से 126 किसानों की शिकायतें निराधार पाई गई है जबकि शेष बचे करीब 6500 किसानों की शिकायतों का समाधान कर दिया गया है।चेयरमैन दीपेंद्र सिंह ने कहा कि समस्याओं को लेकर परेशान गन्ना किसानों द्वारा दिया जा रहा प्रार्थना पत्र ले लिया जा रहा है तथा मौके पर ही ज्यादा से ज्यादा प्रार्थना पत्रों के निस्तारण का यथासंभव प्रयास किया जा रहा है। समाजसेवी व वरिष्ठ नेता शिवेंद्र सिंह ने कहा कि करीब पांच माह तक चलने वाले पेराई सत्र में पहली बुवाई, साधन, सप्लाई तथा गलत सर्वे के चलते गन्ना किसान परेशान होकर भटक रहे थे। गन्ना किसानो की परेशानी से मिल तथा विभागीय अधिकारी पूरी तरह से बेपरवाह थे। ऐसे में बैठक में किसानों की समस्या सुलझाने की पहल की गई है ।पहल में अड़चन आने पर किसानों के हित में किसी भी तरह का कदम उठाने से परहेज नहीं किया जाएगा। उपसभापति नित्य प्रकाश सिंह ने बताया कि वर्तमान सत्र में पेराई सत्र चल रहा है ।गन्ना किसानों को चेक लिस्ट व कैलेंडर आदि वितरित किया जा चुका है ।इसके बाद भी गन्ना किसानों की समस्याएं हल नहीं हो पा रही है। ऐसी समस्याओं को शीघ्रता से हल कराने के लिए समिति ने बैठक के रूप में पहल की है जिससे किसान की समस्याएं अधिक से अधिक हल करा दी जाएं। बैठक में सचिव सुनील कुमार वर्मा गन्ना पर्यवेक्षक रामदास विश्वकर्मा राम निरंजन वर्मा राम सवारे महेंद्र चौधरी अशोक सिंह, गिरीश चंद्र मिश्रा, प्रेमचंद्र मिश्र, राममिलन वर्मा, धीरेंद्र प्रताप सिंह, अजीत सिंह सहित कर्मचारी व गन्ना किसान मौजूद रहे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

माउंट विन्सन अंटार्कटिका पर ध्वज फहराकर अरुणिमा सिन्हा ने रचा इतिहास

फसल की उचित कीमत न मिलने से आत्महत्या कर रहे किसान : तेजनारायण