दैवीय आपदा से पीड़ित 71 परिवारों को विधायक ने दिया सहायता चेक

0

अनाथ युवती ने चेक लेने से किया इनकार, विधायक ने लेखपाल से दोबारा आंकलन के लिए कहा

चेक लेने से इनकार करती युवती नसरीन

रूदौली। भाजपा विधायक राम चन्द्र यादव व एसडीएम टी पी वर्मा ने बारिश से क्षति ग्रस्त हुए मकानों के 71 परिवारों को मुवावजे के तौर पर दो लाख सताईस हजार दो सौ रुपये के चेक मंगलवार को को तहसील सभागार में वितरित किए। इसके अलावा दैवीय आपदा से पशुओ की मौत पर भी तीन पशुपालको को 32 हजार रूपये का चेक दिया गया ।
इस अवसर पर विधायक राम चन्द्र यादव ने कहा कि बारिश में हुए समस्त नुकसान की भरपाई करना तो संभव नहीं है लेकिन सूबे के मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवारों की अधिक से अधिक सहायता करने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि तहसील क्षेत्र के गणेश पुर,अमहटा, बहरास ,भौली ,अख्तियार पुर के लोगो को आज सहायता राशि के चेक दिए गए है ।इस अवसर पर तहसीलदार शिव प्रसाद, बाबू लाल ,दिनेश यादव ,वीरेंद्र शर्मा सहित तहसील के कमर्चारी आदि उपस्थित थे।ज्ञातव्य हो इससे पूर्व भी विधायक श्री यादव द्वारा अतिवृष्टि से हुए नुकसान का आकलन कराकर तहसील क्षेत्र के सैकड़ो पीड़ितो को लाखो रूपये राहत राशि के रूप में वितरित कर चुके है ।इसके अलावा विधायक ने बाढ़ ग्रस्त इलाके के कैथी गाँव निवासी पशुपालक शकर पुत्र बाबू की भैस को जहरीले जन्तु द्वारा डस लेने पर हुई मृत्यु पर 28 हजार रूपये का चेक ,पड़वा की मृत्यु पर पस्ता बरई निवासी हरिराम पुत्र राम पाल व नैपुरा निवासी राम संवारे पुत्र जोगी को 4 हजार रूपये का चेक सौंपा।

अनाथ युवती ने चेक लेने से किया इनकार

तहसील सभागार में अतिवृष्टि से हुए नुकसान के आंकलन के पश्चात चेक वितरण के दौरान गणेश पुर गाँव से आई लगभग 22 वर्षीय युवती नसरीन ने 3200 रूपये का चेक लेने से मना कर दिया । नसरीन ने क्षेत्रीय विधायक राम चन्द्र यादव से कहा कि विधायक जी मेरे माता पिटा की मौत हो चुकी है 6 भाई बहनो में मैं सबसे बड़ी हूँ बाकी सब नाबालिग है मेहनत मजदूरी कर किसी प्रकार उनका पालन पोषण करती हूँ । बारिश के दौरान मेरा पूरा मकान ढह गया है ।ऐसी दशा में 3200 का चेक मेरे लिये ऊंट के मुँह में जीरा साबित होगा ।युवती की बात सुनकर विधायक श्री यादव ने हल्का लेखपाल को तत्काल तलब कर मामले की जानकारी हासिल कर दुबारा आंकलन कर शासन को रिपोर्ट भेजने की बात कहकर युवती की हर सम्भव मदद का आश्वाशन दिया ।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

%d bloggers like this: