The news is by your side.

अवध विश्वविद्यालय का 28वां दीक्षांत समारोह आज

-123 स्वर्णपदक के साथ 217496 उपाधियां डिजी लाकर पर होगी अपलोड


अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के 29 नवम्बर को होने वाले 28 वें दीक्षांत समारोह का मंगलवार को पूर्वाह्न फाइनल रिहर्सल किया गया। रिहर्सल की शुरूआत कौटिल्य प्रशासनिक भवन से कुलपति प्रो. प्रतिभा गोयल के नेतृत्व में दीक्षांत के सम्मानित सदस्यों के पदयात्रा निकाली गई। डोगरा रेजिमेंट के आर्मी बैंड धुन के साथ शोभायात्रा स्वामी विवेकानंद सभागार के लिए प्रस्थान किया। कार्यक्रम का पूर्वाभ्यास विश्वविद्यालय की छात्राओं द्वारा वन्दे मातरम से की गई। इसके उपरांत जल मिशन के तहत जल भरों कार्यक्रम का अभ्यास किया गया। इस दौरान कुलपति द्वारा कुलाधिपति को पुस्तक ग्रन्थ एवं स्मृति चिन्ह का पूर्वाभ्यास किया।

Advertisements

कुलपति प्रो. गोयल द्वारा स्नातक, परास्नातक एवं पीएचडी के छात्रों को दीक्षोपदेश का पूर्वाभ्यास कराया गया। इसके पश्चात कुलपति द्वारा स्वर्णपदक छात्रों को स्वर्णपदक वितरण का बारी बारी से अभ्यास कराया। इस दीक्षांत समारोह के आकर्षक प्राथमिक विद्यालय के बच्चें एवं आगंनबाड़ी कार्यकत्री होगी। इनकों समिति के सदस्यों के दिशा-निर्देशन में मंच पर किट प्राप्त करने का पूर्वाभ्यास किया। कार्यक्रम का सफल संचालन का पूर्वाभ्यास प्रो. एसएस मिश्र द्वारा किया गया। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. अंजनी कुमार मिश्र ने किया। इसके उपरांत छात्राओं द्वारा राष्ट्रगान के साथ रिहर्सल का समापन किया गया।

कुलपति प्रो. प्रतिभा गोयल ने बताया कि विश्वविद्यालय के 28 वें दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता प्रदेश की राज्यपाल एवं विश्वविद्यालय की कुलाधिपति श्रीमती आनंदीबेन पटेल करेंगी। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण, प्रधान न्यायपीठ, नई दिल्ली के सदस्य डॉ. अफरोज अहमद होंगे। विशिष्ट अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के योगेन्द्र उपाध्याय व श्रीमती रजनी तिवारी, राज्यमंत्री उच्च शिक्षा उत्तर प्रदेश सरकार रहेंगी। कुलपति ने बताया कि कुलपति ने बताया कि भारत सरकार के डिजी लाकर में सत्र 2022-23 के दो लाख 17 हजार 496 उपाधि को कुलाधिपति के कर कमलों से अपलोड किया जायेगा।

इसे भी पढ़े  पीएम मोदी का विजन, देश को एक आत्मनिर्भर राष्ट्र बनाने को मिशन के तौर पर करेंगे कार्य : पंकज सिंह

इस दीक्षांत समारोह में कुल 123 स्वर्णपदक प्रदान किए जायेंगे। जिनमें कुलपति स्वर्णपदक 30 एवं कुलाधिपति स्वर्णपदक 76 तथा दानस्वरूप स्वर्णपदक के रूप में 17 पदक प्रदान किये जायेंगे। इसमें आवासीय परिसर के स्नातक, परास्नातक की कुल 1787 उपाधियां प्रदान की जायेगी। इसके अतिरिक्त 71 पीएचडी उपाधि दी जायेगी। विवि के मीडिया प्रभारी डॉ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी ने बताया कि बुधवार को पूर्वाह्न 11 बजे से 28 वें दीक्षांत समारोह को शुभारम्भ होगा। इसके सभी आमंत्रित आगंतुकों को हर हाल में 10ः30 बजे तक स्वामी विवेकानंद सभागार में स्थान ग्रहण कर लेना होगा। दीक्षांत निमंत्रण कार्ड के बिना समारोह में प्रवेश वर्जित रहेगा।

इसके अतिरिक्त सभी को अपना एक परिचय-पत्र लाना अनिवार्य होगा। परिसर में दो पहिया वाहनों की पार्किंग अधिष्ठाता छात्र कल्याण भवन के नीचे से लेकर श्रीराम शोधपीठ तक की जायेगी। वही चार पहिया वाहन अहिल्याबाई होल्कर छात्रावास से लेकर दीक्षा भवन तक की जायेगी। सभी को प्रवेश परिसर में 10ः30 बजे तक दिया जायेगा। फाइनल रिहर्सल के दौरान विश्वविद्यालय के अधिकारी, समबद्ध महाविद्यालय के प्राचार्य, कार्यपरिषद सदस्य एवं विद्यापरिषद सहित अन्य शिक्षक मौजूद रहे।

Advertisements

Comments are closed.