रोजा सिर्फ भूखे रहने का नहीं बल्कि सब्र का नाम: माजिद खान

गुलाब शाह की मजार पर हुआ रोजा इफ्तार

अयोध्या। रोजा सिर्फ भूखे रहने का नही बल्कि सब्र का नाम है। अल्ला अपने बन्दों को भूखे रखकर इम्तिहान लेता है । यह बुराईयों से बचाने के साथ अच्छे और नेक कार्य की ओर ले जाता है । यह बाते जेल की पीछे गुलाब शाह मजार पर आयोजित इफ्तार के पहले मुतवल्ली माजिद खान ने कही उन्होने रोजे वह इफ्तार पर प्रकाश डाला उन्होने बताया कि पिछले 16 वर्षो से कुलाब शाह की मंजार पर सुरेश भारती रोजा इफ्तार कराते आ रहे । और बताया कि पवित्र माह रमजान के समय पर जो भी मंन्नते माॅगी जाती है । वह बाबा पूरी करते है । मंजार पर सभी धर्म के लोग आते है । इस अवसर पर पूर्व मंत्री तेज नरायन पाण्डेय पवन अमृत राजपाल,कमर राईनी,संजय भारतीय रिन्कू भारती सुरज भारती,सादमान खान,जाबिर खाॅ आसिफ,मो0 शफीक अली बाबा आदि सेकड़ो के संख्या में रोजदार उपस्थित रहे ।

इसे भी पढ़े  शिक्षक एमएलसी का चुनाव सपा के लिए प्रतिष्ठा का विषय : नरेश उत्तम पटेल

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More