रामनगर में कवि सम्मेलन का हुआ आयोजन

आलापुर अम्बेडकरनगर। नववर्ष विक्रम सम्वत् 2075 की प्रथम संध्या पर नए वर्ष के आगमन का स्वागत करने के लिए जय बजरंग इंटर मीडिएट कॉलेज रामनगर में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। कवि सम्मेलन में उमड़ी भीड़ ने पुराने वर्ष को अलविदा कहते हुए नव वर्ष का जोरदार स्वागत किया। कवि सम्मेलन की अध्यक्षता बेचन सिंह तथा संचालन वरिष्ठ कवि भालचंद त्रिपाठी ने किया। सम्मेलन में कवियों द्वारा कविता,गजल के माध्यम से लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया। विहार से पधारे कवि शंकर कैमूरी ने “वो आदमी तलाशो जो करके ये दिखा दे, पत्थर को मोम कर दे, शीशे को दिल बना दे। लाया हूं बंद करके मैं साफ बोतलों में, किस जात का लहू है कोई डॉक्टर बता दे।। वही वाराणसी से आये झगडू नें शिक्षा व्यवस्था पर तंज कसते हुए कहा आज काल कुछ पढ़ा लिखा क अक्किल एकदम मन्द रहै ला। अरे यार सरकारी काम है छुट्टी के दिन बंद रहैला।।वही इलाहाबाद से आए कवि डा0 श्लेष गौतम ने सैनिकों की बहादुरी का व्याख्यान करते हुए कहा, हमारा जिस्म बोलेगा हमारी जान बोलेगी, हमारे रूह की पाकीजगी की शान बोलेगी। वतन के वास्ते जब भी हमारा सिर कलम होगा, लहू की आखिरी वो बूंद हिन्दुस्तान बोलेगी।। बस्ती से आई कवियत्री डॉक्टर शिवा त्रिपाठी ने सामाजिक विषमता पर कविता मे कही, समय का चक्र बीता जा रहा है आने जाने में,जो रुठा हो उसे मत देर करना तुम मनाने में। कभी ईष्या घ्रृणा और द्वेष का तुम बीज मत बोना, न जाने कौन सा पल आखरी हो इस जमाने में।। कवि सम्मेलन में नोएड़ा से शिरकत करने युवा कवि अमित शर्मा ने देश में बढ़ रहे आतंकवाद पर कटाक्ष करते हुए युवाओं में जोश भरते हुए कहा कि, युवा देश का जब-जब रण में अपनी ताकत तौलेगा। चप्पा चप्पा इस धरती का वंदे मातरम् बोलेगा।। वही आजमगढ़ से आये व कार्यक्रम का संचालन कर रहे कवि भालचंद त्रिपाठी ने  समाज पर तंज कसते हुए कहा, काम रावन का है तो कीजै खुशी से। राम का चेहरा लगाना ठीक है क्या।। इस दौरान नोएड़ा से पधारे कवि दीपक शंखधार शर्मा व राजाराम सिंह समेत कई अन्य लोगों ने कविता व गजल प्रस्तुत कर लोगों की खूब वाह वाही लूटी। कार्यक्रम में एसडीएम आलापुर राजमुनि यादव, संतकबीर नगर सांसद प्रतिनिधि संजय सिंह, भाजपा जिला उपाध्यक्ष दिनेश पांडे, पूर्व जिपस अजीत यादव, डॉक्टर शिवपूजन वर्मा, अधिवक्ता सुरेंद्रनाथ त्रिपाठी, सुनीत द्विवेदी, पवन वर्मा, डा0प्रियंका वर्मा, जगन्नाथ तिवारी, लालचंद पांडेय, प्रधानाचार्य राजेंद्र सिंह, दीपक चंदेल, प्रभाकर मिश्र समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद रहे। अंत में विद्यालय के प्रबंधक एवं कार्यक्रम के आयोजक अंजनी कुमार वर्मा ने कवियों व आयोजक मंडल अशोक कुमार शुक्ला,माया अग्रहरि, अश्विनी कुमार, अतुल शुक्ला,अखिलेश मद्धेशिया,शशिकांत वर्मा,सुनील यादव समेत क्षेत्र के अन्य संभ्रांत लोगों को स्मृति चिन्ह भेट कर सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया।

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More