जानलेवा हमलावरों के खिलाफ कार्यवाही नहीं कर रही पुलिस

एफआईआर के 27वें दिन भी हमलावर पुलिस पकड़ से बाहर

दबंगो ने घर में घुसकर तीन लोगों को किया था मरणासन्न

अयोध्या। दबंग परिवार ने घर में घुसकर धारदार हथियार से धावा बोल दिया जिससे गृह स्वमी उसका पुत्र और भांजी गम्भीर रूप से घायल हो गये थे। चार दिन बाद कोतवाली पुलिस ने 10 लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज की परन्तु 27 दिन बीत जाने के बाद भी हमलावरों को पुलिस गिरफ्तार नहीं कर रही है और वह आजाद घूमकर पीड़ित परिवार को धमकियां दे रहे हैं।
प्रकरण कोतवाली नगर के मोहल्ला खुर्दाबाद साहबगंज का है। 9 मई को रात्रि लगभग 8 बजे पीड़ित विजय नाथ यादव के घर के सामने रहने वाला परिवार जमीनी विवाद को लेकर धारदार हथियार से लैस होकर पीड़ित के घर घुस गया और प्राणघातक प्रहार करने लगा। दबंगो के हमले से गृह स्वामी विजय नाथ यादव पुत्र सीताराम यादव उनका पुत्र नरेन्द्र यादव और भांजी किरन यादव गम्भीर रूप से घायल हो गये। घायलों को डायल 100 पुलिस ने लाकर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया। घटना के चार दिन बाद कोतवाली नगर पुलिस ने 13 मई को आईपीसी की विभिन्न धाराओं 147, 148, 452, 504, 506, 308, 323, 324, 392 के तहत नामजद प्राथमिकी दर्ज किया। प्राथमिकी में बवाली, रामजी, मनीराम, लालजी, झिन्नू पुत्रगण स्व. शीतला प्रसाद, कृष्ण कुमार पुत्र हरी प्रसाद, देवीदीन, छोटू पुत्रगण गंगाराम, शुभम, सचिन पुत्रगण बवाली शामिल हैं। पीड़ित विजय नाथ यादव ने बताया कि भांजी किरन यादव की गम्भीर हालत को देखते हुए जिला चिकित्सालय ने उसे ट्रामा सेंटर लखनऊ रिफर कर दिया था। सिर में गम्भीर चोट आने के कारण अभी भी किरन का इलाज मेडिकल कालेज के चिकित्सकों के मार्ग दर्शन में चल रहा है। पीड़ित का कहना है कि विपक्षी जब हमलावर हुए थे तो धारदार हथियार के हलावां तमंचा भी लिये थे और जाते समय धमकी दे गये थे कि मुकदमा लिखवाया तो पूरे परिवार को जान से मार डालूंगा। पीड़ित का कहना है कि कोतवाली नगर पुलिस दबंग हमलावरों के विरूद्ध कोई कार्यवाही नहीं कर रही है जिससे उनका मनोबल बढ़ा है और वह मुकदमा वापस लेने के लिए लगातार धमकी दे रहे हैं।

Facebook Comments
इसे भी पढ़े  धरा को बनाना होगा प्लास्टिक मुक्त : रामचन्द्र यादव