The news is by your side.

युवा महोत्सव 2024 में बोले श्रीराम मन्दिर ट्रस्ट के महामंत्री : राम से राष्ट्र तक अपने आप को समर्पित करना होगा

-साकेत महाविद्यालय में’ युवा महोत्सव के अन्तिम दिन सांस्कृतिक संध्या का आयोजन

अयोध्या। का.सु. साकेत महाविद्यालय अयोध्या में चल रहे ‘युवा महोत्सव 2024’ के अन्तिम दिन सांस्कृतिक संध्या ‘साकेत अभिव्यंजना’ का आयोजन किया गया।जिसका विषय था जहां कण कण में बसते राम। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि पद्मश्री डॉ विद्याबिंदु सिंह ,विशिष्ट अतिथि श्री राम जन्मभूमि न्यास के महासचिव चंपत राय, द्वितीय विशिष्ट अतिथि विनोद कुमार सिंह निदेशक राष्ट्रीय एटलस थेमीटिंग मानचित्र संगठन (नाटमो) कोलकाता थे। महाविद्यालय प्रबन्धतन्त्र के अध्यक्ष दीपकृष्ण वर्मा, मन्त्री आनन्द सिंहल और प्राचार्य प्रो. अभय कुमार सिंह की उपस्थिति में माँ सरस्वती की प्रतिमा के सम्मुख दीप प्रज्वलन और सरस्वती वन्दना से कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ।

Advertisements

महाविद्यालय गीत के पश्चात प्राचार्य प्रो.अभय कुमार सिंह द्वारा अतिथियों का परिचय कराया गया। प्राचार्य डॉ सिंह ने अपने उद्बोधन में सांस्कृतिक परिषद के सदस्यों की भूरी भूरी प्रशंसा की और उन्होंने कहा कि रामचरितमानस सभी को सुलभ है, इसमें संत की वाणी है। जिसमें प्रत्येक मनुष्य उसमें गोता लगा सकता है। कार्यक्रम में प्रतिभाग करने वाले सभी छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

राममंदिर एक मंदिर ही नहीं है, यह राष्ट्र मंदिर है, अपनी चेतना विस्तारित करना होगा


श्रीराम जन्मभूमि न्यास के महासचिव चंपत राय ने अपने उद्बोधन में कहा कि राममंदिर एक मंदिर ही नहीं है यह राष्ट्र मंदिर है। राम भारत की आस्था हैं, राम भारत के आधार हैं, राम भारत के विचार हैं ।इसलिए हम सभी को अपनी चेतना को विस्तारित करना होगा। साथ ही राम से राष्ट्र तक अपने को समर्पित करना होगा महाविद्यालय के इस वर्ष के युवा महोत्सव के विषय पर जन्मे अवध में राम, ठुमुक चलत रामचंद्र , सीता स्वयंवर, सीता हरण, सबरी प्रसंग (सामूहिक नृत्य नाटिका) पर छात्र छात्राओं द्वारा नृत्य का मंचन बहुत ही सराहनीय रहा।महाविद्यालय प्रबन्ध समिति के अध्यक्ष दीपकृष्ण वर्मा, सचिव आनंद सिंघल, सदस्य निशीथ वर्मा व अरविंद सिंघल की उपस्थिति ने महाविद्यालय परिवार का उत्साह बढ़ाया। सांस्कृतिक परिषद के सदस्य व प्राचार्य ने अतिथियों को बुके और अंग वस्त्र देकर सम्मनित किया।

इसे भी पढ़े  देश की तरक्की के लिए महिलाओं का हुनरमंद होना आवश्यक : डॉ. बबिता वर्मा


समारोह में इनकी रही गरिमामय उपस्थिति

समारोह में महाविद्यालय के पूर्व प्राध्यापक डॉ जनार्दन उपाध्याय, डॉ राधेश्याम तिवारी, डॉ अरुण कुमार तिवारी, बीएनकेबी अकबरपुर की प्राचार्य प्रो. शुचिता पांडे, परुइया आश्रम महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो परेश पांडे, राजा राममोहन गर्ल्स डिग्री कॉलेज की प्राचार्य प्रो मंजूषा मिश्रा, डॉ जैसराज शुक्ला, छात्र कल्याण अधिकारी प्रो बीडी द्विवेदी, प्रो योगेंद्र त्रिपाठी, प्रो अशोक कुमार राय, प्रो शिव कुमार तिवारी, प्रो अशोक कुमार मिश्रा, प्रो दीनानाथ सिंह, कैप्टन डॉ मनीष सिंह, प्रो. प्रीति सिंह, प्रो प्रणय त्रिपाठी, प्रो. अनुराग मिश्र, प्रो. कविता सिंह, डॉ. उमापति, डा. श्रीमती पूनम जोशी, डॉ. कृष्ण कुमार पाल, डॉ. नीलम, डॉ. शशि सिंह, डॉ. ऋचा पाठक, डॉ. छाया, डॉ. रीता सिंह, डा. बी के सिंह, डा जन्मेजय तिवारी के साथ-साथ डॉ. आदित्य प्रकाश दुबे, डॉ विवेक कुमार सिंह व महाविद्यालय के लेखा विभाग से भूपेस्वर गुप्ता, संजय श्रीवास्तव, राजेश मिश्रा,श्री प्रदीप श्रीवास्तव, अखिलेश सिंह, राकेश सिंह सहित सांस्कृतिक परिषद के समस्त सदस्य उपस्थित रहे उपस्थित थे। महाविद्यालय के सांस्कृतिक परिषद के अध्यक्ष प्रो अंजनी कुमार सिंह ने सभी का सम्मान किया।

कण कण में बसते राम को हर किसी से मिली सराहना

महाविद्यालय के मीडिया प्रभारी प्रो आशुतोष त्रिपाठी ने बताया कि अतिथियों ने इस कार्यक्रम की खूब प्रशंसा की ।यह कार्यक्रम कण कण में बसते राम को शत प्रतिशतता को प्रदर्शित करता है। जिसमें रामस्तुति को नृत्य के द्वारा रामचरितमानस के विविध आयामों को एक निश्चित समय में, सरलता व मनमोहकता के साथछात्र छात्रओ द्वार प्रस्तुति बहुत ही सराहनीय रही। सांस्कृतिक परिषद की सचिव, डॉ सुरभि पाल ने कार्यक्रम में आए हुए सभी अतिथियों, अभिभावको, सांस्कृतिक परिषद के सदस्यों तथा महाविद्यालय परिवार के प्रत्येक सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन श्री सुमधुर शास्त्री ने किया।

Advertisements

Comments are closed.