in ,

खेती में करना होगा विविधीकरण तकनीकी का प्रयोग :प्रो. जे.एस. संधू

किसानों के लिए 3 दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन

कुमारगंज। नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय कुमारगंज के प्रसार निदेशालय में नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड द्वारा किसानों के लिए 3 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया। मंगलवार को विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो जे एस संधू ने प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस अवसर पर कुलपति ने प्रशिक्षणार्थियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कृषि को व्यवसाय के रूप में आकर्षक बनाने तथा इससे लाभान्वित होने के लिए कृषकों को विविधीकरण तकनीकी का प्रयोग खेती में करना होगा। कुलपति ने कहा कि वर्तमान में हैपीसीडर का उपयोग गेहूं की बुवाई में करके कृषक भाई गेहूं में 5 हजार प्रति एकड़ की उत्पादन लागत में कमी कर सकते हैं।
उन्होंने किसानों का आह्वान किया कि वे विश्वविद्यालय प्रक्षेत्रो का भ्रमण व अवलोकन करें और उन्नत तकनीकी ज्ञान प्राप्त कर लाभान्वित हों। इससे पूर्व निदेशक प्रसार डॉ ए पी राव ने अपने सम्बोधन में कहा कि किसान अपने खेतों के नियमित भृमण करें नही तो छोटी छोटी कमियां व रोग अलप समय में फसल में प्रसारित कर उत्पादन पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं। निदेशक प्रसार डॉ राव ने कहा कि इस समय गेहूं की फसल में माहूं का प्रकोप व्याप्त होने की शिकायत मिल रही है ऐसे में किसान भाई खेतों के निरीक्षण निरन्तर करते रहें और माहूं कीट के निराकरण के लिए निर्धारित रसायनों का उपयोग करें।
कार्यक्रम को नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड के छेत्रीय प्रबन्धक पी के मिश्र ने भी सम्बोधित किया।कार्यक्रम के प्रशिक्षण समन्वयक डॉ अनिल कुमार थे। कार्यक्रम के उद्घाटन सत्र में प्रमुखरूप से डॉ आर आर सिंह,डॉ सौरभ वर्मा,डॉ के के वर्मा, डॉ ए के राय,डॉ वी एस चंदेल,डॉ वी पी चौधरी,तथा डर अंगद सिंह समेत प्रशिक्षनार्थी कृषक उपस्थित रहे।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

भाजपा सरकार गरीबों व वंचितों की हितैषी : रमाकांत निषाद

वर्गीय हितों के लिए लामबंद होने की जरूरत : सूर्यकांत