परमहंस के सपनों को साकार करने का आ गया है समय: योगी आदित्यनाथ

    सीएम ने 15वीं पुण्यतिथि पर महंत रामचन्द्र परमहंस को अर्पित की श्रद्धांजलि

    Advertisement

    अयोध्या। रामजन्मभूमि आन्दोलन के पूर्व 1946-47 से ही रामचन्द्र परमहंस गौर रक्षा पीठ से जुड़े थे। भौतिक रूप से भले ही वह हमारे बींच आज नहीं हैं परन्तु उनकी प्रेरणा निरन्तर सामाजिक, धार्मिक मुद्दे के लिए प्रेरित करती रहेगी। अब वह समय आ गया है कि अयोध्या के लिए जो संकल्प परमहंस ने लिया था उसे साकार किया जाय। यह विचार दिगम्बर अखाड़ा में आयोजित महंत रामचन्द्र परमहंस की 15वीं पुण्य तिथि पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा को सम्बोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने व्यक्त किया।
    श्रद्धांजलि सभा में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि परमहंस के सपनों को साकार करने के लिए हम प्राण प्रण से लगेंगे। इसके पूर्व मुख्यमंत्री ने दिगम्बर अखाड़ा के महंत व श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन के अगुवा सलाकापुरूष महंत रामचन्द्र परमहंस के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उनका नमन किया। उन्होंने कहा कि परमहंस महाराज ने जिस बेबाकी के साथ सामाजिक और धार्मिक क्षेत्र में काम किया वह अनुकरणीय है और हमे सदैव प्रेरणा देती रहेगी।
    इससे पूर्व दिगम्बर अखाड़ा पहुंचने पर महंत सुरेश दास के ेनिर्देशन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का वैदिग मंत्रोच्चार के मध्य स्वागत किया गया। मुख्यमंत्री ने संतो और धर्माचार्यों के साथ परमहंस महाराज के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित किया। श्रद्धांजलि सभा का संचालन महंत जन्मेजय शरण ने किया। इस अवसर पर जगदगुरू राघवाचार्य, जगदगुरू श्रीधराचार्य महंत धर्म दास, महंत निनेन्द्र दास, महंत राम भूषण दास कृपाल, महंत नारायणाचार्य, महंत मैथली रमण शरण, भाजपा सांसद लल्लू सिंह, अयोध्या राजा विमलेन्द्र मोहन प्रताप मिश्र, महापौर ऋषिकेश उपाध्या, अयोध्या विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, पुजारी राजू दास, अभिषेक मिश्र आदि उपस्थित रहे।