फरार पुलिस गनर कैंट थाने में हुआ हाजिर, जमा किया कारबाइन

    • हाईकोर्ट ने गनर को दे रखा है अरेस्ट स्टे

    • भाजपा विधायक गोरखनाथ बाबा के ममेरे भाई से मारपीट में नामजद है गनर

    Advertisement

    फैजाबाद। भाजपा विधायक गोरखनाथ बाबा के ममेरे भाई से मारपीट में नामजद रूदौली के पूर्व ब्लाक प्रमुख सर्वजीत सिंह के फरार पुलिस गनर दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को थाना कैंट में हाजिर होकर आमद दर्ज कराया और सरकारी कारबाइन, 100 कारतूस व दो खाली मैग्जीन जमा कर दिया।  चूंकि हाईकोर्ट गनर को अरेस्ट स्टे दे रखा है इसलिए पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी नहीं की। कैंट थाना पुलिस ने जमा की गयी कारबाइन, कारतूस व खाली मैग्जीन को पुलिस लाइन स्थित शस्त्रागार में जमा करा दिया है। थाना प्रभारी कैंट को गनर दिग्विजय सिंह ने जो दरखास्त दिया है। उसमे कहा गया है कि वह पूर्व ब्लाक प्रमुख का गनर था तथा पुलिस लाइन से उसे कारबाइन संख्या 15223148, 100 कारतूस और दो खाली मैग्जीन आवंटित की गयी थी। उसकी तैनाती सिपाही गनर के पद पर पुलिस लाइन में है। बीती 30 जुलाई को सहादतगंज मोहल्ले में पूर्व ब्लाक प्रमुख के आदमियों व कुछ लोगों में कहासुनी हो गयी जिसमें उसने बींच बचाव कर मामले को शांत कराया था। विरोधी पक्ष ने घटना को बढ़ाचढ़ा कर दिखाते हुए मिल्कीपुर क्षेत्र के विधायक के प्रभाव में जो मुकदमा दर्ज कराया उसमें गम्भीर धाराओं में उसे भी नामदज कर दिया गया। एफआईआर की जानकारी होने पर गनर ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर खारिज अरेस्ट स्टे ले लिया जो 27 सितम्बर 2018 तक प्रभावी है। गनर का यह भी कहना है कि इसी बींच उसका स्वास्थ्य गम्भीर रूप से खराब हो गया पहले प्राइवेट डाक्टरों से इलाज कराया परन्तु हालत में सुधार न होने पर 6 अगस्त को वह डा. राम मनोहर लोहिया अस्पताल लखनऊ में भर्ती हो गया। 9 अगस्त से से 16 अगस्त तक वह अस्पताल में भर्ती रहा। इलाज कर रहे चिकित्सकों ने उसे अराम करने की सलाह दिया है। स्वस्थ्य महसूस होने पर उसने तत्काल निर्गत असलहा आदि कैंट थाना में जमा कराने के लिए उपस्थित हुआ। उसने निवेदन किया है कि उक्त मुकदमें में थाना हाजा पर उपस्थित मानकर अग्रिम आवश्यक कार्यवाही की जाय जिससे वह भविष्य में निर्विघ्न रूप से अपनी सरकारी सेवा कर सके और उसे न्याय मिल सके।