The news is by your side.

सप्तम दीपोत्सव में 21 लाख दीप जलाने का लक्ष्य निर्धारित

-दीपोत्सव के समय आम श्रद्धालुओं की व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाय : मण्डलायुक्त

अयोध्या। मण्डलायुक्त गौरव दयाल की अध्यक्षता में सप्तम दीपोत्सव के तैयारी की समीक्षा आयुक्त सभागार में की गयी। इस बैठक में पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार, जिलाधिकारी नितीश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर, मुख्य विकास अधिकारी अनिता यादव, अपर आयुक्त प्रशासनअजयकान्त सैनी, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजय जैन के अलावा दीपोत्सव कार्य में में संलग्न विभाग सिंचाई, नगर निगम, विद्युत, स्वास्थ्य, खाद्य रसद, जलनिगम, लोक निर्माण, वन, परिवहन, उद्यान, पुलिस, विकास प्राधिकरण, पर्यटन, सूचना, संस्कृति, पंचायत, शिक्षा, अवध विवि सहित आदि विभाग के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

Advertisements

उक्त अवसर पर मण्डलायुक्त  गौरव दयाल ने दीपोत्सव में लगे अधिकारियों को निर्देश दिया कि 06 दीपोत्सव हो चुके है इसका आप लोगों के पास अनुभव है उस अनुभव का लाभ लेकर ऐसी कार्यवाही करें कि और दीपोत्सव बेहतर ढंग से हो तथा भीड़ को प्रबन्धन के लिए और ड्युटी में लगाये गये व्यक्तियों तथा आमंत्रित महानुभावों आदि के पास/निमंत्रण पत्र समय से भेज दिये जाय तथा जिन विभागों के जो-जो कार्य है वह समयबद्वता के साथ पूरा करें और विभागीय अधिकारी मौके पर कार्यो को निरीक्षण भी करें। मण्डलायुक्त ने कहा कि जिन विभागों की झांकियां तैयार की जा रही है वह समय से तैयार की जाय तथा ज्यादा होने की स्थिति में उसकी समीक्षा भी किया जाय। टैªफिक व्यवस्था ऐसी किया जाय कि आम श्रद्वालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या न हो तथा वीआईपी या विशिष्टजनों के भ्रमण के समय उनके सुरक्षा मानकों तथा सूचना संचार व्यवस्था को बेहतर रखा जाय और जिन अधिकारियों की जहां पर ड्युटी हो तथा जिन व्यक्तियों को जहां के लिए पास जारी हो वही पर रहे क्योंकि दीपोत्सव के समय के मुख्य कार्यक्रम स्थल राम कथा पार्क, राम की पैड़ी, सरयू आरती स्थल है इस पर मानक के अनुसार नोडल विभाग पर्यटन, स्थानीय जिला प्रशासन से समन्वय कर आवश्यक व्यवस्था एवं बैरीकेटिंग आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करें।

इसे भी पढ़े  अवध विवि के छात्रों ने प्रभु श्रीराम के सूर्य अभिषेक की तर्ज पर बनाया मॉडल

ऐसी व्यवस्था किया जाय कि बेहतर ढंग से हो तथा सभी अधिकारी अपने-अपने ड्युटी स्थलों पर मुस्तैदी से काम करें। विशेष रूप से मण्डलायुक्त ने सिंचाई विभाग, लोक निर्माण विभाग व जलनिगम आदि के कार्यो को पूरा करने हेतु निर्देश दिया तथा उनके द्वारा किये गये कार्यो पर असंतोष व्यक्त करते हुये मौके पर निरीक्षण करने का निर्देश दिया। मण्डलायुक्त ने सभी विभागों के अधिकारियों से उनके विभागों की कार्ययोजना के बारे में बिन्दुवार जानकारी दी। उल्लेखनीय है कि दीपोत्सव की शुरूवात मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद 2017 से हुई थी दीपोत्सव में दीपों का प्रत्येक वर्ष विभाग द्वारा निर्धारित लक्ष्य को तोड़ा गया तथा *प्रत्येक वर्ष में गिनीज बुक वल्र्ड रिकार्ड में शामिल किया गया-2017 में 1,87,213, 2018 में 3,01,152, 2019 में 4,04,026, 2020 में 6,06,569, 2021 में 9,41,151 तथा वर्ष 2022 में 15,76,955 दीपों से रिकार्ड बनाया गया इसी रिकार्ड को हमें सप्तम दीपोत्सव में तोड़ना है तथा अपनी क्षमता के अनुसार सभी को पूरी निष्ठा व लगन से कार्य करना है।* पुलिस महानिरीक्षक श्री प्रवीण कुमार ने सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखते हुये भीड़ नियंत्रण करने तथा पार्किंग आदि की बेहतर व्यवस्था करने तथा बीएसएनएल एवं एयरटेल जैसी मोबाइल सेवा प्रदाता कम्पनियों के प्रतिनिधियों को दीपोत्सव के समय निर्वाद गति से नेट आदि की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने को कहा गया।

जिलाधिकारी श्री नितीश कुमार ने कहा कि पर्यटन विभाग एवं संस्कृति विभाग मानक के अनुसार सजावटों को करें तथा विशिष्टजनों के आमंत्रितो के बैठने के स्थान को भी बेहतर ढंग से मनाया जाय तथा स्थानों का आकलन करते हुये आवश्यक पास जारी किये जाय और शहर में पार्किंग स्थानों को भी अपर जिलाधिकारी नगर एवं पुलिस अधीक्षक नगर तथा क्षेत्राधिकारी टैªफिक आवश्यक आगणन कर पास आदि हेतु व्यवस्था करायें। सरयू घाट के साफ सफाई एवं मरम्मत पर असंतोष व्यक्त करते हुये जिलाधिकारी ने कहा कि सिंचाई विभाग के अधिकारी राम की पैड़ी एवं नयाघाट पर बेहतर ढंग से समन्वय करके मरम्मत एवं साफ सफाई के कार्यो को करायें, जिसमें अपर जिलाधिकारी भी मौके पर निरीक्षण करें। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री राजकरन नय्यर ने कहा कि भीड़ को देखते हुये आवश्यक बेरीकेटिंग किया जाय तथा कार्यक्रम के स्थलवार पास आदि निर्गत किये जाय तथा दीपोत्सव स्थल विशेष रूप से राम की पैड़ी पर तैनात दीपक लगाने वाले स्वयंसेवकों को बेहतर ढंग से प्रािक्षण/कार्यक्रम की रूपरेखा बतायी जाय। प्रत्येक स्थल पर सुरक्षा में तैनात पुलिस के अधिकारी एवं सिविल अधिकारी निर्धारित पासों को देखते हुये आगन्तुकों को उचित स्थान पर पहुंचाने हेतु आवश्यक कार्यवाही करें। मुख्य विकास अधिकारी श्रीमती अनिता यादव ने कहा कि रामकथा पार्क पर जिन विभाग के अधिकारियों की ड्युटी लगायी जाती है जैसे-फायर सर्विस, नगर निगम, पर्यटन आदि मौके पर उपस्थित हों, क्योंकि वहां पर मुख्य कार्यक्रम होता है तथा ज्यादा समय का भी होता है इसलिए आवश्यक व्यवस्थायें किया जाय।

इसे भी पढ़े  प्राण प्रतिष्ठा होने के बाद पहले राम जन्मोत्सव में दिखा भक्तों का उत्साह

मण्डलायुक्त, जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने शहर में उपनिदेशक सूचना डा0 मुरलीधर सिंह को निर्देश दिया कि आम श्रद्धालुओं को दीपोत्सव संबंधी कार्यक्रम के सजीव प्रसारण की जानकारी हो सके इसके लिए शहर में सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखते हुए पुलिस अधीक्षक नगर एवं क्षेत्राधिकारी टैªफिक आदि से समन्वय कर आवश्यक मात्रा में एलईडी वॉल एवं वाहन की तैनाती करें तथा सजीव प्रसारण के कार्यक्रम को भी प्रसारित कराने में आवश्यक कार्यवाही सूचना निदेशक आदि से कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही करें। इस बैठक में अपर जिलाधिकारी नगर/मेलाधिकारी सलिल कुमार पटेल ने विभिन्न विभागों के कार्य योजनाओं एवं विगत वर्ष में हुए कार्यक्रमों के विवरण बिन्दुवार प्रस्तुत किया तथा सभी विभागों के आवश्यक तैयारी करने हेतु तथा बेहतर समन्वय करने हेतु कार्यवाही करने को कहा। पुलिस अधीक्षक नगर मधुबन कुमार सिंह ने सुरक्षा व्यवस्था, वीआईपी मूवमेंट आदि के कार्यो के बिन्दुओं की जानकारी दी। आरटीओ ऋतु सिंह ने दीपोत्सव के लिए आवश्यक मात्रा में परिवहन/वाहन की व्यवस्था करने हेतु कहा।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 संजय जैन ने बताया कि मेला क्षेत्र में 10 सचल चिकित्सा सेवा तथा 108 एम्बुलेंस लगायी जा रही है तथा श्रीराम चिकित्सालय एवं नया घाट पर स्थित सिंचाई विभाग के डाक बंगले में इमरजेंसी चिकित्सा व्यवस्था हेतु आवश्यक व्यवस्थायें की जा रही है। अपर आयुक्त नगर निगम श्री सच्चिदानन्द राय ने नगर में साफ सफाई व्यवस्था एवं नगर निगम सम्बंधी कार्यो की जानकारी दी। नगर मजिस्टेªट अरविन्द द्विवेदी ने वीआईपी के आगमन एवं उनके निर्धारित स्थान पर पहुंचने के कार्यक्रमों की तैयार की गयी रूपरेखा के सम्बंध में जानकारी दी गयी। इस बैठक में अवध विश्वविद्यालय के नोडल अधिकारी श्री संत शरण मिश्र ने विश्वविद्यालय प्रशासन तथा अन्य विद्यालयों के सहयोग से तैयार किये गये 25 हजार स्वयंसेवकों के कार्य आदि के सम्बंध में जानकारी दी जो घाटों पर दीप आदि लगायेंगे।

इसे भी पढ़े  रामनवमी पर रात्रि 11 बजे तक हो सकेंगे रामलला के दर्शन : चम्पत राय

इस बैठक में सम्बंधित विभाग के अधिकारी गण, अभियन्ता गण, नोडल अधिकारी गण, रेजीडेंट मजिस्टेªट संदीप श्रीवास्तव, क्षेत्राधिकारी  प्रमोद यादव, प्रभारी निरीक्षक यातायात सहित दीपोत्सव में लगाए गए विभिन्न विभागों के अधिकारी/प्रतिनिधि, मण्डलायुक्त एवं जिलाधिकारी तथा अन्य अधिकारियों के विशेष सहायक गण तथा मेला सहायक  कौशल किशोर, सियाराम आदि उपस्थित थे।

 

Advertisements

Comments are closed.