The news is by your side.

टैंकर व फायर ब्रिगेड द्वारा किया जा रहा सैनिटाइज

अयोध्या। कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण से बचाव के दृष्टिगत टैंकर एवं फायर ब्रिगेड के माध्यम से राजकीय कार्यालयों , न्यायालय,धार्मिक स्थलों , सार्वजनिक स्थलों रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, पोस्टमार्टम हाउस व नियांवा मार्ग से जमथरा मार्ग व शमशान स्थल जमथरा घाट को भी सैनिटाइज कराया गया। इसके अतिरिक्त निगम के वार्डों श्यामा प्रसाद मुखर्जी, सुभाष चन्द्र बोस, रेतिया, अम्बेडकर नगर में टैंकर के माध्यम से वृहद सैनिटाइजेशन अभियान चलाया गया।

Advertisements

अपर नगर आयुक्त द्वारा रेतिया वार्ड में चल रहे नाले की सफाई व डोर टू डोर अभियान का निरीक्षण किया गया। अपर नगर आयुक्त द्वारा बताया गया कि वर्तमान में कोरोना महामारी का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। नगर निगम प्रशासन कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के दृष्टिगत बेहद संवेदनशील है, सैनिटाइजेशन सभी टीमे पूर्ण सक्रियता के साथ सैनिटाइजेशन का कार्य सम्पादित कर रही है। नगर निगम अपने नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। नगर निगम द्वारा कन्टेन्मेनट जोन व आस पास के क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन का अभियान चलाया जा रहा है। सैनिटाइजेशन का कार्य निरन्तर निगम में सम्मिलित ग्रामीण क्षेत्रों में भी अनवरत जारी है। परिवहन में उपयोग होने वाले चिकित्सीय वाहनों, एम्बुलेन्स एवं अन्य वाहनों को भी निरन्तर सैनिटाइज कराया जा रहा है।

आम जनमानस से सोशल डिस्टेन्सिंग बनाये रखने की अपील करते हुए अपने घरों में रहने की अपील की गयी है। इसके साथ साथ थोड़ी थोडी देर पर हाथ को सैनिटाइजर या साबुन से धोने व स्पर्श के किये जाने वाले तल यथा मेज, टोटी, सिटकनी, कुर्सियों के हत्थे फर्श, दीवारों, खिड़कियों को नियमित समयान्तराल पर सोडियम हाइपोक्लोराइट के घोल से पोछा लगाने के सम्बन्ध में अवगत कराया गया है, वर्तमान में थोड़ी सी असावधानी जीवन को संकट में डाल सकती है। इसके अतिरिक्त व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के सामने उचित दूरी के दृष्टिगत मार्किग एवं गोले बनाये जाने के निर्देश दिये गये है, जिससे सामाजिक दूरी का पालन करते हुए कोरोना के संक्रमण को रोका जा सके। नगर निगम अयोध्या द्वारा शिकायतोंध्सुझाव के सम्बन्ध में टोल फ्री नम्बर 18003131277 जारी किया गया है, जिस पर चौबीस घंटे सैनिटाइजेशन, साफ सफाई व नगर निगम से सम्बन्धित शिकायतें दर्ज करायी जा सकती है।

Advertisements

Comments are closed.