संग्रहित नमूनों की जांच में नहीं मिला सिंथेटिक मिल्क

डीएम ने की खाद्य सुरक्षा व औषधीय प्रशासन की बैठक

Advertisement

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने खाद्य सुरक्षा एवं औषधीय प्रशासन विभाग की जिला स्तरीय कमेटी की बैठक में खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 तत्संबंधी नियम 2011 एवं विभिन्न विनियमावलियों में निहित प्राविधानों के अंतर्गत संबंधित विभागों के सहयोग एवं समन्वय से प्रभावी प्रवर्तन कार्रवाई करने के निर्देश दिए। खाद्य पदार्थ (दूध) पर कृत कार्यवाही के अंतर्गत संग्रहित नमूनों की जांच में कोई भी मामला सिंथेटिक मिल्क का नहीं पाया गया है। जिलाधिकारी ने इससे संबंधित शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए अनियमितता पाए जाने पर कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य के साथ यदि कहीं खिलवाड़ होता पाया जाए तो उस पर प्रभावी कार्रवाई करें। उन्होंने पशुपालन विभाग से यहां पर दुग्ध उत्पादन के सापेक्ष खपत की जानकारी लेने के निर्देश दिए। बैठक में विभाग द्वारा चलाए गये जागरूकता अभियानों पर भी चर्चा की गई और कैंप आदि के माध्यम से विद्यार्थियों, कारोबारियों को नियमित जागरूक करते रहने के निर्देश दिए गए। बैठक में अवगत कराया गया कि रियूज्ड कुकिंग आयल; खाद्य तेल के बार-बार प्रयोग किए जाने पर खाद्य तेल में मुक्त मूलक उत्पन्न हो जाते हैं जिसके कारण कैंसर जैसी गंभीर बीमारियां उत्पन्न होने की प्रबल संभावना रहती है। बार-बार प्रयुक्त तेल का उपयोग बायोडीजल बनाने में किए जाने हेतु भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण द्वारा योजना प्रचलित की गई है। जिलाधिकारी ने इसके अंतर्गत जनपद के कारोबारियों की 1 दिन की कार्यक्रम/कार्यशाला आयोजित करने के निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने मानक विरूद्ध खुले में मांस काटने वालों पर कार्रवाई करने और मानक का अनुपालन कराने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी में सीएमओ को जनपद में संचालित जन औषधि केंद्रों के विधिवत निरीक्षण करने और सभी दवाइयों की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने औषधि अनुभाग द्वारा निरीक्षण के बाद प्रभावी कार्यवाही न किए जाने पर असंतुष्टि व्यक्त करते हुए संबंधित के विरुद्ध उच्च स्तर पर पत्र लिखने के निर्देश दिए।

इसे भी पढ़े  कारागार में आयोजित हुआ विधिक साक्षरता शिविर

प्रेरणा ऐप संचालन को लेकर हुआ संवाद

अयोध्या। जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने प्रेरणा ऐप के संचालन हेतु जनपद के सभी प्राथमिक विद्यालयों के प्रधानाध्यापको/अध्यापको को प्रेरित किये जाने के क्रम में ब्लाक हरिग्टनगंज के प्रधानाध्यापको व अध्यापको के साथ कलेक्ट्रेट स्थित सभागार में सीधा संवाद स्थापित किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व में ब्लाक मसौधा व सोहावल के प्रधानाध्यापको/अध्यापको ने वार्ता के बाद बड़ी संख्या में प्रेरणा ऐप को इंस्टाल किया है। जिलाधिकारी ने बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिये कि उक्त ब्लाकों के अध्यापकों से वार्ता के उपरान्त भी जिन अध्यापको द्वारा ऐप स्टाल नहीं किया गया उनसे व्हाटसअप ग्रुप और कन्ट्रोल रूम से फोन के माध्यम से जवाब मांगा जाये।
इस अवसर जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यालयो में सरकार द्वारा निःशुल्क पाठ्य पुस्तकें, ड्रेस, जूते, मोजे, स्वेटर, बैग आदि के साथ-साथ छात्रावृत्ति व मध्यान्ह भोजन आदि सुविधायें उपलब्ध कराई जा रही है और कायाकल्प के द्वारा विद्यालयों को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सभी अध्यापक/प्रधानाध्यापक प्रेरणा ऐप को स्टाल कर इसके सभी माड्यूलो पर नियमानुसार सूचनाओं/गतिविधियों व फोटो को अपलोड करे और सरकार के मंशानुसार लर्निंग लेवल/शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लायें। इस अवसर पर प्रेरण ऐप के सभी माड्यूलो 1-मानव सम्पदा, 2-मिड-डे मील, 3-आपरेशन कायाकल्प, 4-एसेंसमेन्ट माड्यूल, 5-एस0एम0सी0 एक्टीविटी माड्यूल, 6-उपस्थिती माड्यूल के क्रियान्वयन के बारे मे विस्तार से जानकारी प्रदान की गई। बैठक में सभी अध्यापकों/प्रधानाध्यापको ने प्रेरण ऐप को इंस्टाल करने हेतु आश्वस्त किया। इस अवसर पर डीआईओएस, बिसिक शिक्षा अधिकारी व शिक्षा विभाग के अन्य सम्बन्धित अधिकारी व सभी संबंधित अध्यापक उपस्थित थे।