in ,

ग्रीन अयोध्या हॉफ मैराथन व रन फॉर अयोध्या में दौड़े धावक

दो वर्गों में हुई प्रतियोगिता, महिला वर्ग में रीनू व अन्तिमा रहीं अव्वल

पुरूष वर्ग में मनोज व शाहरूख को मिला पहला स्थान

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के क्रीड़ा परिषद् द्वारा प्लास्टिक मुक्त ग्रीन अयोध्या हॉफ मैराथन, राष्ट्रीय स्तर (पुरूष/महिला) प्रतियोगिता 2019 में 21.1 कि0मी0 एवं रन फॉर अयोध्या में 5 कि0मी0 दौड़ का आयोजन किया गया। मैराथन प्रतियोगिता में 21.1 कि0मी0 की दौड़ में महिला वर्ग में रीनू को प्रथम स्थान के साथ प्रतियोगिता का विजेता घोषित किया गया। नन्दिनी गुप्ता द्वितीय स्थान तथा किरन चौहान ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। पुरूष वर्ग में प्रथम स्थान पर मनोज सिंह, द्वितीय पर राज कुमार सिंह और तृतीय स्थान पर वीरेन्द्र कुमार वर्मा रहे। प्रतियोगिता में 07 सांत्वना पुरस्कार महिला वर्ग में विजय लक्ष्मी, माधुरी यादव, बबिता निषाद, अमृता पाल, सबा मरियम, बबली वर्मा एवं जुही सिंह को प्राप्त हुआ। वहीं पुरूष वर्ग में सुनील कुमार यादव, रवीन्द्र कुमार, गौरव कुमार, रितेश कुमार, अंगद यादव, राम अनन्त भारती और अतुल कुमार दूबे को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। रन फॉर अयोध्या 5 कि0मी0 प्रतियोगिता में महिला वर्ग में अंतिमा पाल को प्रथम स्थान के साथ प्रतियोगिता का विजेता घोषित किया गया। द्वितीय स्थान पर अंकिता एवं तृतीय स्थान पर प्रतिमा रही। अंजली को सांत्वना पुरस्कार प्राप्त हुआ। पुरूष वर्ग में प्रथम स्थान पर शाहरूख खांन ,द्वितीय पर उपेन्द्र पाल और तृतीय स्थान पर मनोज पाल रहे। बृजेश, कौशल, संतोष अखिलेश, विकास बलजीत एवं अनुपम को सांत्वना पुरस्कार प्रदान किया गया। ग्रीन अयोध्या हॉफ मैराथन प्रतियोगिता में नगद पुरस्कार के रूप में पुरूष वर्ग एवं महिला वर्ग को 51 हजार प्रति वर्ग द्वितीय पुरस्कार के तहत महिला एवं पुरूष वर्ग को 41 हजार एवं तृतीय पुरस्कार 31 हजार रूपये महिला एवं पुरूष वर्ग को प्रदान किया गया। सांत्वना पुरस्कार के तहत महिला एवं पुरूष वर्ग के 07 प्रतिभागियों को 01 हजार रूपये प्रति धावक को प्रदान किये गये। रन फॉर अयोध्या 5 कि0मी0 दौड़ में प्रथम पुरस्कार में 5100 सौ एवं द्वितीय में 4100 सौ तथा तृतीय में 3100 सौ रूपयें से प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया।
राष्ट्रीय स्तर की मैराथन की शुरूआत से पूर्व कश्मीर के पुलवामा में हुए आंतकी हमले में शहीद भारतीय जवानों की स्मृति में 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई। विश्वविद्यालय के मुख्य परिसर से ब्रिगेडियर ज्ञानोदय एवं कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित तथा प्रति कुलपति प्रो0 एस0एन0 शुक्ल ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। मैराथन में धावकों ने 21.1 कि0मी0 की दौड़ विश्वविद्यालय परिसर से शुरूआत करते हुए मकबरा, ओवर ब्रिज, पुष्पराज चौराहे, डी0एम0 आवास से चुंगी चौराहे सहादतगंज हनुमानगढ़ी से कैंट, निर्मली कुण्ड, आर्मी स्कूल, सदर चौराहे से कनौसा स्कूल, नियांवा, गुदड़ी बाजार, रीडगंज तिराहा, फार्ब्स इण्टर कालेज से होते हुए देवा हॉस्पिटल ओवर ब्रिज पर करते देवकाली अन्डर पास पुल के नीचे से एन0एच0-27 जनौरा परिक्रमा मार्ग ओवर ब्रिज होते हुए नंदापुर मोड़ से बाये आई0ई0टी0 कैम्पस में प्रवेश करते हुए नवीन खेल परिसर के चिन्हित स्थान पर दौड़ सम्पन्न हुई। इसी तरह रन फॉर अयोध्या 5 कि0मी0 दौड़ नाका हनुमानगढ़ी होते हुए जनौरा परिक्रमा मार्ग ओवर ब्रिज से आई0ई0टी0 कैम्पस के नवीन खेल परिसर में समाप्त हुई। दौड़ समाप्ति पर कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित, ब्रिगेडियर ज्ञानोदय, पर्वतारोही अरूणिमा सिन्हा, प्रति कुलपति प्रो0 एस0एन0 शुक्ल, कार्यपरिषद सदस्य ओम प्रकाश सिंह, मुख्य नियंता प्रो0 आर0एन0 राय, प्रो0 अशोक शुक्ल, प्रो0 एम0पी0 सिंह, प्रो0 हिमांशु शेखर सिंह, प्रो0 राजीव गौड़, भारतीय ओलम्पिक एसोसिएशन के आनन्देश्वर पाण्डेय, प्रो0 आर0 के0 तिवारी, प्रो0 आशुतोष सिन्हा, प्रो0 चयन कुमार मिश्र, प्रो0 एस0के0 रायजादा, प्रो0 एस0एस0 मिश्र, मिश्र, डॉ0 शैलेन्द्र कुमार, डॉ0 संतोष गौड़ सहित विश्वविद्यालय के शिक्षकों ने धावकों का स्वागत किया। इस प्रतियोगिता में लगभग 1000 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

What do you think?

Written by Next Khabar Team

जवानों पर हमले के विरोध में जलाया गया आतंकवाद का पुतला

मैराथन धावकों को अवध विवि में किया गया पुरस्कृत