गोसाईंगंज में शुरू हुआ रामलीला महोत्सव

Advertisement

गोसाईंगंज। बजरंग समिति के तत्वावधान में नगर में श्रीरामलीला समिति का रामलीला महोत्सव शुरू हो गया। रामलीला के शुभारंभ देवला धाम के सिद्ध संत पुरुष श्री श्री 1008 स्वामी जगतानंद जी महाराज ’परमहंस, शिव धाम देवला बेरासपुर अयोध्या के कर कमलों द्वारा वुद्ववार रात्रि 8ः30 बजे रामलीला का शुभारंभ धूमधाम से किया।
श्रीरामलीला रंगमंच पर विश्वामित्र का राम-लक्ष्मण को मांगना और ताड़का वध का मंचन किया गया। मंचन को देखने के लिए मैदान में काफी संख्या में दर्शकों की भीड़ जुटी रही। रामलीला रंगमंच पर अयोध्या में राजा दशरथ और माता कौशल्या, माता सुमित्रा और कैकेयी के घर प्रभु श्रीराम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न के जन्म की खुशियां मनाई जा रही थीं। अयोध्या में जब प्रभु श्रीराम और लक्ष्मण किशोर अवस्था में होते हैं तो इसी दौरान वन में राक्षसों का प्रकोप बढ़ जाता है। राक्षस साधु-संतों के यज्ञ में विघ्न डालना शुरू कर देते हैँ। इससे चारों ओर त्राहिमाम मच जाता है। राक्षसों का वध करने के लिए विश्वामित्र अयोध्या पहुंचते हैं और राजा दशरथ से प्रभु श्रीराम और लक्ष्मण को मांगते हैं। विश्वामित्र प्रभु श्रीराम और लक्ष्मण को अपने साथ लेकर वन आ जाते हैं। जहां प्रभु श्रीराम के हाथों ताड़का का वध किया जाता है। इस अवसर पर रामलीला समित के पूर्व अध्यक्ष मदनलाल जायसवाल, पूर्व चेयरमैन रामलीला के संरक्षक श्रीनाथ गुप्त, कन्हैयालाल त्रिपाठी, प्रदीप जयसवाल, बजरंग समिति के अध्यक्ष अशोक मोदनवाल पूर्व अध्यक्ष रामलीला समिति संजय पराग, गोपीनाथ अंगियार, दिनेश जायसवाल, चक्रधारी गुप्त व संजय गुप्ता मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे डॉ. राजेन्द्र प्रसाद : प्रो. मनोज दीक्षित