कभी मुफलिसी से दो चार था समाजसेवी राजन पाण्डेय का बचपन

समाजसेवी राजन पाण्डेय का बचपन मुफलिसी व तंगहाली से बेजार था। यही वजह है कि वह हर दुःखी व्यक्ति का दर्द बांटने के लिए सबसे पहले पहुंच जाते हैं और इमदाद देकर संदेश देते हैं कि वह यह न समझें कि उसके साथ दुःख की इस घड़ी में कोई नहीं खड़ा है।

2019 में फैजाबाद लोक सभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना तय

गरीब गुरबा के दिलों में बसने वाले समाजसेवी राजन पाण्डेय का बचपन मुफलिसी व तंगहाली से बेजार था। यही वजह है कि वह हर दुःखी व्यक्ति का दर्द बांटने के लिए सबसे पहले पहुंच जाते हैं और इमदाद देकर संदेश देते हैं कि वह यह न समझें कि उसके साथ दुःख की इस घड़ी में कोई नहीं खड़ा है। गरीबों की हमदर्दी के कारण ही उन्होंने फैजाबाद लोक सभा क्षेत्र से 2019 का चुनाव लड़ने का फैंसला लिया है।

Photo: समाजसेवी राजन पाण्डेय
समाजसेवी राजन पाण्डेय ने एक विशेष भेंट में बताया कि उनका बचपन तंगहाली में बीता है उनको यह एहसास है कि गरीबों के भूंख की तड़पन, उनकी जरूरत और जीवन यापन की कठिनाईयां क्या हैं, वह बताते हैं कि इसी दर्द के चलते यदि कोई बाढ़, आग व दैवीय आपदा से पीड़ित होता है तो उसे अनाज, वस्त्र, नकद राशि देने वह और उनका परिवार पहुंच जाता है। गरीबों की इसी सेवा के बदले क्षेत्रीय जनता ने उनकी पत्नी डा. तृप्ती पाण्डेय को जिला पंचायत चुनाव में अमानीगंज चतुर्थ क्षेत्र से रिकार्ड मतों से विजयी बनवाया है। उन्होंने बताया कि आज मेरी आर्थिक स्थिति ठीक है और मेरा नैतिक धर्म है कि अपनी आमदनी का एक हिस्सा गरीबों और समाज की खुशहाली पर खर्च किया जाय।
 
लोगो के सुख दुःख  बांटते राजन पाण्डेय

समाजसेवी राजन पाण्डेय ने बताया कि क्षेत्र के मन्दिर, मस्जिद, मजारों और चौराहों पर रात्रि में रोशनी के लिए उन्होंने अपने खर्च से 275 सोलर लाइट लगवाई है, स्वालम्बी बनाने के लिए निर्धन वर्ग की 300 कन्याओं को सिलाई मशीन दी है, यही नहीं पेयजल के लिए सैकड़ो इण्डिया मार्क-टू हैण्डपम्प लगवाये हैं।

साईकिल वितरित करते समाज सेवी
300 निर्धन युवकों को साइकिल, 50 विकलांगो को ट्राई साइकिल व 25 ठेला आदि दिया है। उन्होंने बताया कि वह करीब डेढ़ दशकों से निरन्तर सर्दियों के मौसम में पूरी लोक सभा से चुने हुए 15 हजार गरीबो विकालांगो, असहाय व निराश्रितों तथा विधवा महिलाओं को कम्बल समारोहपूर्वक भोजन के साथ प्रदान करते हैं। इसी वर्ष 2 फरवरी को चार हजार मुस्लिम महिलाओं और बालिकाओं को सलवार सूट, सात हजार हिन्दू माताओं और बहनों को साड़ियां प्रदान की गयीं साथ ही जिले के सभी जगहों पर जरूरतमंदो को खोज-खोज कर कड़कड़ती ठण्ड से बचाने के लिए कम्बल प्रदान किया।
Photo: समाजसेवी राजन पाण्डेय पत्नी डा. तृप्ती पाण्डेय के साथ
उन्होंने बताया कि उनकी गरीबों की सेवा कुछ राजनेताओं को रास नहीं आ रही है जिससे उनकी समाजसेवा के मार्ग में तमाम रोड़े अटकाये जा रहे हैं। अराजक तत्वों के द्वारा उनपर गोलियां चलवाई गयीं 11 गोलियां उन्हें लगीं पर गरीबों की दुआओं के नाते उनका जीवन सुरक्षित रहा। उन्होंने बताया कि हमारा मानना है कि गरीबों की सेवा नेक व पुनीत कार्य है और ऐसे व्यक्ति को हर संकटों से दुआएं उबार देती हैं, मेरी समाजसेवा में पत्नी डा. तृप्ती पाण्डेय व पुत्र अमित पाण्डेय, अंकित पाण्डेय, अर्पित पाण्डेय का पूरा सहयोग रहता है।
Photo: लोगो के बीच समाज सेवी राजन पाण्डेय
हमने सपरिवार गरीबों की सेवा का संकल्प लिया है, क्षेत्र की जनता चाहती है कि हम लोकसभा का चुनाव लड़ें इसलिए तय किया है कि चाहे कोई पार्टी टिकट दे या न दे वह 2019 का लोक सभा चुनाव निर्दल के रूप में ही लड़ेंगे। यदि जनता ने उन्हें सांसद बना दिया तो गरीबों की और अधिक सेवा करेंगे, सांसद का जो भी वेतन मिलेगा उसे गरीबों के हित उत्थान में खर्च करूंगा यही नहीं सांसद निधि से ईमानदारी से क्षेत्र का विकास करूंगा।

Facebook Comments