in ,

सीआरपीएफ जवानों की शहादत से आमजन में आक्रोश

स्वयंसेवी संगठनों व राजनैतिक पाटियों ने निकाला विरोध मार्च, अर्पित की श्रद्धांजलि

सिविल लाईन से गांधी पार्क तक मौन जलूस

अयोध्या। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में जवानों की शहादत से आम जनमानस आक्रोश में है। शहर से लेकर गांव और आम जनता से लेकर कर्मचारियों तक में इस हमले को लेकर गुस्सा है। आतंकी हमलें के विरोध में पत्रकारों, सभ्रान्त नागरिकों व सभी पाटियों के प्रतिनिधियों के द्वारा सिविल लाईन से गांधी पार्क तक मौन जलूस निकला। इससे पहले सभी ने सामूहिक रुप से शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। पाकिस्तान को उसकी हरकत का कड़ा जवाब देने की मांग जलूस के माध्यम से की गयी। इस अवसर पर भाजपा महानगर अध्यक्ष कमलेश श्रीवास्तव ने कहा कि आतंकियों की कायरना हरकत का जवाब उन्हें उनकी भाषा में ही दिया जायेगा। पाकिस्तान की हरकत के खिलाफ पूरा देश खड़ा हो गया है। देश घटना को लेकर गुस्से में है। इस अवसर पर राजेश सिंह, नागेन्द्र सिंह लल्लू, डा अनिल सिंह, ओम प्रकाश ओमी, कन्हैया कश्यप, मनीष पाण्डेय, दिवाकर सिंह, अभय सिंह, दिनेश जायसवाल, वेद राजपाल, तिलकराम मौर्या, सुधीर श्रीवास्तव, कुशल मिश्रा, सुप्रीत कपूर, गाबर भाई, ओम मोटवानी, अजय ओझा, सभाजीत सिंह, प्रमोद मौर्या, प्रशान्त यादव, करन प्रजापति, रवीन्द्र सिंह, सोमू मुखर्जी, जय सिंह, राजीव शुक्ल, महेन्द्र गौड़, नरेन्द्र मिश्रा, बब्लू मिश्रा, मुकेश मौर्या, संदीप वैश्य देवेन्द्र मिश्रा दीपू मौजूद रहे।

कायराना हमले से पूरा देश गुस्से में

सिन्धु महिला परिवार की ओर से आयोजित कैंडिल मार्च

सिन्धु महिला परिवार की अध्यक्ष मुस्कान सावलानी ने कहा कि इस कायराना हमले से पूरा देश गुस्से में है। अब वक्त आ गया है फाइनल सर्जिकल स्ट्राइक करने का। सिन्धु महिला परिवार की ओर से आयोजित कैंडिल मार्च में सर्वसमाज के लोग एकत्रित होकर रामनगर कालोनी से नाका, मकबरा, फतेहगंज, सुभाषनगर, बजाजा होते हुए चौक घण्टाघर कैंडिल मार्च पहुॅंचा जहॉं पर एक सभा का आयोजन कर शहीदों को श्रद्धाजंलि दी गयी। उ0प्र0 सिन्धी युवा समाज के प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश ओमी ने कहा कि आतंकियों का सफाया होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह देश पर सबसे बड़ा आतंकी हमला है और यह हमला हिन्दुस्तान को सीधे चुनौती है जिसका मुँहतोड़ जवाब देना होगा। कैंडिल मार्च में निन्दा नहीं बदला चाहिए, भारत मॉंगे बदला, अब नहीं सहेगा भारत और बलिदान मॉंगे बदला आदि नारे लग रहे थे। कैंडिल मार्च में सीमा रामानी, हरीश सावलानी, कमलेश रूपानी, वेद प्रकाश राजपाल, जितेन्द्र पाण्डेय, पार्षद विशाल पाल, औरंगजेब खान, जनार्दन पाण्डेय बब्लू, भावना वरियानी, बबिता माखेजा, माया देवी, उमेश संगतानी, दीपक साधवानी, गोपी आडवाणी, राजेश चावला, हेमन्त उतरानी, राजकुमार मोटवानी, रवि माखेजा, पूनम आडवाणी, नीलम राहेजा, सपना खत्री, रेखा वरियानी, गीता खत्री, जया राहेजा, पूजा संगतानी, कोमल लखमानी, गिरिजा विश्वकर्मा, मोनिका साधवानी, कविता आहूजा, कामता नारंग, रवि माखेजा, कुनाल सावलानी आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

कैंडिल जलाकर शहीद जवानों को श्रद्धाजंलि अर्पित की

सपा कार्यालय लोहिया भवन में कैंडिल जलाकर शहीद जवानों को श्रद्धाजंलि अर्पित की

सीआरपीएफ के जवानों के काफिले पर हुए हमले की समाजवादी पार्टी ने कड़े शब्दों में निन्दा की और सपा कार्यालय लोहिया भवन में कैंडिल जलाकर शहीद जवानों को श्रद्धाजंलि अर्पित की। इस मौके पर पूर्व मंत्री व समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अवधेश प्रसाद ने कहा कि आतंकियों के कायराना हमले में शहीद हुए जवानों के परिवारों के साथ पूरी समाजवादी पार्टी खड़ी है। सपा जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव ने कहा कि भारत को खून का बदला खून से लेना चाहिए। पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने कहा कि इस हमले से देश को आतंकवाद के खात्मे के लिये पूरी ताकत के साथ संघर्ष करते हुए दहशतगर्दी को खत्म करने के लिये सभी एकजुट होकर एक साथ खड़ा होना होगा। कैंडिल लेकर शहीदों को श्रद्धाजंलि देने वालों में हामिद जाफर मीसम, श्यामकृष्ण श्रीवास्तव, देशराज यादव, मोहम्मद असलम, राकेश यादव, चन्द्रभान यादव, आदि मौजूद थे।

इसे भी पढ़े  गोंडा में  ट्रेन हादसा, चंडीगढ़-डिब्रूगढ़ एक्सप्रेस की चार बोगियां पलटीं,चार की मौत

What do you think?

Written by Next Khabar Team

राम नगरी में अल्पसंख्यक समुदाय ने दर्ज कराया पुलवामा हमले पर कड़ा विरोध

जवानों पर हमले के विरोध में जलाया गया आतंकवाद का पुतला