The news is by your side.

दीपोत्सव से होगा प्राण प्रतिष्ठा उत्सव का आगाज : मुकेश मेश्राम

-दुल्हन की तरह सजेगी रामनगरी अयोध्या, होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम

अयोध्या। उ.प्र. पर्यटन विभाग तीन माह तक रामलला प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव मनाएगा, जो दीपोत्सव के साथ शुरू हो जाएगा। दस दौरान रामनगरी अयोध्या को दुल्हन की तरह सजाया जायेगा, करीब 12 स्थानों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी किए जाएंगे। उक्त् जानकारी प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति मुकेश मेश्राम ने दी। वह बुधवार को एक होटल में पर्यटन व प्रशासनिक अधिकारियों के साथ दीपोत्सव व प्राण-प्रतिष्ठा महोत्सव की तैयारियों की समीक्षा बैठक कर रहे थे।

Advertisements

उन्होंने बताया कि राम मंदिर में प्राण-प्रतिष्ठा का आयोजन लिए सात दिवसीय अनुष्ठान से सम्पन्न किया जाएगा। दीपोत्सव से ही रामनगरी में श्रीराम के आगमन की तैयारियां नजर आने लगेंगी। राम की पैड़ी समेत अयोध्या कुंडों पर भी लाइट और साउंड सिस्टम का आयोजन किया जाएगा। प्रमुख सचिव ने कहा कि इस बार रामलला के अस्थाई मंदिर का आखिरी दीपोत्सव बेहद खास होगा। उन्होंने बताया कि अयोध्या के सभी मठ-मंदिरों को दीपोत्सव से पहले फसाड लाइट से सजाने का काम किया जा रहा है। इसमें प्राचीन इमारत, प्राचीन मठ- मंदिर प्रमुख है।

दीपोत्सव के लिए अयोध्या को तैयार करने के लिए तमाम कार्यक्रमों का भी आयोजन होगा। जो प्राण प्रतिष्ठा तक दिखेगा। जिसमें प्रमुख रूप से लेजर शो साउंड और सांस्कृतिक कार्यक्रम के जरिए रामनगरी में शाम को भी पर्यटकों के लिए आकर्षण उपलब्ध रहेगा। साथ ही भजन संध्या और आडिटोरियम पर भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का भव्य आयोजन होगा। जो अनवरत प्राण प्रतिष्ठा तक चलेगा। प्रमुख सचिव ने बताया कि एक बार फिर से विश्व रिकॉर्ड बनाने के लिए इस बार दीपोत्सव में 25 लाख दीपक जलाने का लक्ष्य रखा गया है। दीपोत्सव में इस बार सबसे खास शोभायात्रा होगी क्योंकि चौड़ी सड़क हैं तो इस बार विभिन्न शैलियों की झांकियां और वृहद स्तर पर निकली जाएंगी। दीपोत्सव पर लगने वाले मेले को भी इस बार वृहद रूप दिया जाएगा। मेले में हैंडीक्राफ्ट फाइन आर्ट और हैंडलूम की प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

Advertisements

Comments are closed.