in

प्राचीन धरोहरो की रक्षा के लिए ‘प्राइवेट मेंबर बिल’ लायेंगे आप सांसद संजय सिंह



कहा-अगर भाजपा की नियत साफ है तो उसे संसद में पास करावे

अयोध्या। राम नगरी अयोध्या काशी सहित देशभर में प्राचीन धरोहरो की रक्षा के लिए आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह संसद में ‘प्राइवेट मेंबर बिल’ लाएंगे । आम आदमी पार्टी यूपी मीडिया प्रभारी सभाजीत सिंह ने कहा कि जिस तरीके से मोदी योगी सरकार में काशी में 36 मंदिरों को तोड़ गया और अयोध्या में प्राचीन व ऐतिहासिक मंदिरों जर्जर बता के तोड़े जाने की नोटिस दी गई है इससे मौजूदा सरकार में प्राचीन ऐतिहासिक धरोहरों को बचाना आवश्यक है। अगर भाजपा की नियत साफ है तो उसे संसद में पास करावे । आप मीडिया प्रभारी सभाजीत सिह ने कहा की आगरा में स्कूल से घर लौट रही छात्रा को पेट्रोल डाल जिन्दा जला कर मार दिए जाने की घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए दुःख व्यक्त किया। कहा कि योगी सरकार ने उत्तर प्रदेश को किस हालत में पहुंचा दिया है, आये दिन छोटी छोटी बचियों के साथ बलात्कार व् उनको जिन्दा जलाने की घटनाये हो रही हैं। उत्तर प्रदेश में महिलाओं पर अत्याचार, उत्पीड़न, हत्या और बलात्कार जैसे जघन्य अपराधों में बाढ़ सी आ गयी है। प्रदेश सरकार महिलाओं के प्रति हिंसा और बलात्कार की घटनाओं को रोक पाने में पूरी तरह विफल साबित हुई है। ऐसा प्रतीत होता है कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज ही नहीं बची है। उन्होंने कहा कि उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा पीड़ित परिजनों की मांगों को दरकिनार कर आर्थिक सहयोग राशि के रूप में मात्र 05 लाख रुपया देकर खानापूर्ति कर रहे है। परिजनों की मांगों को योगी सरकार तत्काल पूरी करे। आर्थिक सहयोग राशि के रूप में 1 करोड़ रुपया, पारिवारिक सदस्य को सरकारी नौकरी दे और घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों की जल्द से जल्द गिरफ्तारी करवाएं।
उन्होंने कहा कि मुरादाबाद मंडल में एक दिन में 6 महिलाओं की हत्या, सीतापुर और मऊ में दुष्कर्म की शिकायत पर बेटियों को जला दिया जाना, लखनऊ में छेड़छाड़ का विरोध करने पर दो सगी बहनों को सरेआम पीटा जाना, प्रतापगढ़ में स्कूल के निकली छात्रा को अगवा कर गैंगरेप किया, पिलखुआ में 4 साल की बच्ची दरिदों का शिकार, ऐसी घटनाएँ साबित करती हैं कि उत्तर प्रदेश में जंगलराज चल रहा है। हर मोर्चे पर फेल योगी सरकार हिन्दू-मुस्लिम और धार्मिक उन्माद का सहारा ले रही है।
सभाजीत सिह ने कहा कि पूरे प्रदेश में इस घटना को लेकर जनता में रोष है लेकिन प्रदेश के मुखिया इस दर्दनाक घटना पर मौन और संवेदनहीन बने हुए है। अपराधियों की अभी तक गिरफ्तारी नही हुई है। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री प्रदेश की जर्जर कानून व्यवस्था ठीक करें,और अपराधियों को सजा दिलाएं।



इसे भी पढ़े  सरयू में स्नान कर सीधे रामलला के मंदिर पहुंच सकेंगे भक्त

What do you think?

Written by Next Khabar Team

समाजसेवी अखिलेश व सुषमा तिवारी कांग्रेस में शामिल

राष्ट्रवादी पार्टी ऑफ इंडिया की हुई बैठक