The news is by your side.

काट टीम के सहयोग से नसबंदी शिविर का हुआ आयोजन

-10 महिलाओं सहित एक पुरुष ने भी दिखाई दिलचस्पी

अयोध्या। जनपद में परिवार नियोजन की सेवायें देने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार प्रयास किया जा रहा है। इसी के तहत मयाबाजार ब्लाक में काट टीम के सहयोग से नसबंदी शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें 13 महिलाओं ने पजीकरण करवाया और 10 महिलाओं सहित एक पुरुष ने नसबंदी की सेवा को अपनाया । ऑपरेशन के बाद सभी को एंबुलेंस के द्वारा उनके घरों तक भेजा गया ।

Advertisements

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी / आरसीएच नोडल अधिकारी डा.आरके सक्सेना ने बताया कि फ्रंटलाइन वर्कर आशा व आशा संगिनी तथा एएनएम के परिश्रम का फल है । पुरुष नसबंदी के लिए एएनएम किरन वर्मा उपकेंद्र पकरैला ने शशिबाला एवं शालिनी रैना के के सहयोग से प्रेरित किया ।

कैम्प में आई महिला लाभार्थियों में से कविता देवी 30 वर्ष ने बताया कि उनके दो बच्चे है एक बेटा व एक बेटी है उनका परिवार पूरा हो गया आगे और बच्चे नही चाहती और उन्होंने बताया कि बच्चो का अच्छी तरह से पालन पोषण हो जाए और खुद के स्वास्थ्य को लेकर उन्होंने नसबंदी करवाने का निर्णय लिया द्य कंचन के चार बच्चे है 2 लडके 2 लडकी है वह भी अब आगे बच्चे नही करना चाहती अपने स्वास्थ्य को लेकर यह फैसला लिया है द्य पुरुष नसबंदी करवाने वाले सालिक राम पुत्र सोभई निवासी चिनिगीयापुर , जिनके 4 बच्चें पुत्र है उन्होंने अपने बच्चो की अच्छी तरह से पालन पोषण हो जाए इसीलिए उन्होंने यह फैसला लिया।

नसबंदी करवाने का उनको प्रोत्साहित करने के लिए आशा एएनएम ने लगातार प्रयास किया। चिकित्सा अधीक्षक डॉ अंशुमान यादव के नेतृत्व में स्वास्थ्य शिक्षा अधिकारी राजेश कुमार यादव तथा परिवार कल्याण परामर्शदाता श्रीमती सुनीता पटेल द्वारा सार्थक प्रयास किया गया। इसके अतिरिक्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के समस्त स्टाफ का भरपूर सहयोग रहा ।

इसे भी पढ़े  मिल्कीपुर में कड़ी सुरक्षा के बीच में निकला ताजिया जुलूस 

डॉ.अंशुमान यादव ने बताया कि नसबंदी अपनाने वाली महिलाओं को प्रोत्साहन 2,000 रूपये की राशि , और नसबंदी अपनाने वाले पुरुषों को प्रोत्साहन राशि के रुप में 3,000 रुपये दी जाती है। साथ ही नसबंदी के लिए दंपति को अस्पताल लाने वाली आशाओं को पुरुष नसबंदी पर 400 रुपये और महिला नसबंदी पर 300 रुपये की प्रोत्साहन राशि भी दी जाती।

Advertisements

Comments are closed.