गेहूं क्रय केन्द्रों पर व्याप्त भ्रष्टाचार की खुली पोल

रूदौली विधायक को निरीक्षण में बंद मिले दो गेहूं क्रय केंद्र

रूदौली-फैजाबाद। गेहूं क्रय केंद्रों पर व्याप्त भ्रष्टाचार की कलई शनिवार को खुल ही गई। क्रय केंद्रों पर एक सप्ताह से तौल ठप होने की शिकायत पर शनिवार को विधायक रामचंद्र यादव डिप्टी आरएमओ अखिलेश सिंह के साथ आधा दर्जन गेहूं क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में एफसीआई का रुदौली क्रय केंद्र व कर्मचारी कल्याण निगम का ललुआपुर गेहूं क्रय केंद्र बंद मिला। दोनों क्रय केंद्रों पर ताला लटक रहा था। क्रय केंद्र प्रभारियों का अता पता नहीं था। केंद्रों पर सन्नाटा पसरा था। यह स्थिति देखकर विधायक रामचंद्र यादव खुद दंग रह गए और अफसरों पर कड़ी नाराजगी जताई। सीधे डीएम को पूरी स्थिति से अवगत कराते हुए क्रय केंद्र प्रभारियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए। सर्वाधिक शिकायत साधन सहकारी समिति बाबा बाजार में पाई गई। यहां क्रय केंद्र खुला मिला मगर तौल ठप मिली। किसानों ने एक सप्ताह से तौल बंद होने की शिकायत की। किसानों ने बिचैलियों का गेहूं खरीदने का आरोप लगाया। क्रय केंद्र प्रभारी ने तौल ठप होने की वजह बोरो की अनुपलब्धता बताई। विधायक ने तत्काल बोरो की उपलब्धता कराने के निर्देश डिप्टी आरएमओ को दिया। ऐहार बरौली व विपणन विभाग के रुदौली क्रय केंद्र खुले पाए गए। रुदौली क्रय केंद्र पर भंडारण की समस्या मिली। खरीदा गया गेहूं खुले आसमान के नीचे पड़ा है। क्रय केंद्र प्रभारी विनोद कुशवाहा ने बताया कि भंडारण के लिए एक गोदाम किराए पर लिया गया है। विधायक रामचंद्र यादव ने बताया कि सरकार की मंशा के अनुरूप अफसर गेहूं क्रय नहीं कर रहे हैं। लगातार मानीटरिंग की जाएगी। अफसर कार्यप्रणाली सुधार ले, लापरवाही कतई बर्दास्त नहीं होगी। डिप्टी आरएमओ अखिलेश सिंह ने बताया कि 15 जून तक अधिक से अधिक खरीद करने के निर्देश क्रय केंद्र प्रभारियों को दिए गए। सुरक्षित भंडारण पर जोर दिया गया है। बंद पाए गए क्रय केंद्र के प्रभारियों को कारण बताओ नोटिस जारी की गई।

इसे भी पढ़े  एक दर्जन से अधिक गौरैया पक्षियों की मौत

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More