The news is by your side.

एनएसयूआई ने घोषित किये साकेत छात्रसंघ प्रत्याशी

अयोध्या। कांग्रेस पार्टी के छात्र संगठन एनएसयूआई ने साकेत छात्र संघ चुनाव के लिए अधिकृत प्रत्याशी की घोषणा की। प्रत्याशी की घोषणा करने के लिए आज संगठन के प्रदेश महासचिव एवं जिला प्रभारी विशाल वर्मा जिले में आए थे। उन्होंने बताया कि संगठन ने उपाध्यक्ष पद पर शिवम पांडे, महामंत्री पद पर शेष नारायण पांडे, एवं उप मंत्री पद पर चंद्रिका चौहान को चुनाव लड़ाने का निर्णय लिया है एवं इन्हें ही अधिकृत प्रत्याशी बनाया है। इसके अतिरिक्त अध्यक्ष पद पर संगठन ने किसी भी दल अथवा प्रत्याशी का समर्थन नहीं किया है। यदि भविष्य में ऐसा करना भी होगा तो वरिष्ठ नेताओं से सभी परिस्थितियों पर चर्चा करने के बाद किया जाएगा। प्रदेश महासचिव श्री वर्मा ने बताया की पिछले दिनों संगठन के जिलाध्यक्ष द्वारा उपाध्यक्ष पद पर अजीत वर्मा का नाम घोषित करके जो भ्रामक सूचना फैलाई गई, संगठन उसे बिल्कुल निराधार मानता है। उपाध्यक्ष पद पर शिवम पांडे और अजीत वर्मा का आवेदन प्रदेश नेतृत्व को भेजा को गया था और प्रदेश नेतृत्व ने समीक्षा के उपरांत शिवम पांडे को ही अपना अधिकृत प्रत्याशी पिछले दिनों ही घोषित कर दिया था। उन्होंने आगे बताया कि राष्ट्रीय नेतृत्व ने मुझे साकेत महाविद्यालय में अधिकृत पैनल (शिवम पांडे, शेष नारायण पांडे, चंद्रिका चौहान) को विजयी बनाने के लिए भेजा है। पिछले दिनों जिला अध्यक्ष द्वारा की गई प्रेस वार्ता में भ्रामक सूचना फैलाकर जो अनुशासनहीनता की गई है, इसकी रिपोर्ट शीर्ष नेतृत्व को भेजी जा चुकी है। शीर्ष नेतृत्व विषय को गंभीरता से लेते हुए जिलाध्यक्ष पर जल्द ही अनुशासनात्मक कार्यवाही करेगा। संगठन के राष्ट्रीय सचिव एवं प्रदेश प्रभारी शौर्य वीर सिंह भी प्रत्याशियों के पक्ष में चुनाव संचालन कराने जल्द ही अयोध्या आएंगे।
कांग्रेस पार्टी के प्रदेश सचिव एवं छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष सुनील पाठक ने कहा कि इस बार एनएसयूआई को एक सशक्त पैनल मिला है हम सभी इस चुनाव को पूरी मजबूती से लड़ेंगे और विजयी होंगे। जिला उपाध्यक्ष एवं जिला प्रवक्ता शीतला पाठक ने कहा कि एनएसयूआई लगातार छात्रों की समस्याओं को लेकर लड़ता आया है। छात्र-छात्राओं की मूलभूत समस्या को ही मुद्दा बनाकर एनएसयूआई के प्रत्याशी मैदान में हैं। इस अवसर पर प्रत्याशियों के साथ बड़ी संख्या में समर्थक मौजूद रहे।

इसे भी पढ़े  शिक्षक को नहीं है डिजिटल हाजिरी से परहेज, मिले 30 ईएल और हाफ सीएल

Advertisements
Advertisements

Comments are closed.