The news is by your side.

सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में होगी एनईपी स्नातक व परास्नातक परीक्षा

-अवध विवि की नकल विहीन परीक्षा कराने हेतु कुलपति ने केन्द्राध्यक्षों के साथ की बैठक

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 के अन्तर्गत स्नातक एवं परास्नातक की सेमेस्टर परीक्षा को लेकर कुलपति प्रो. प्रतिभा गोयल ने समस्त केन्द्राध्यक्षों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की। शनिवार को विश्वविद्यालय के कौटिल्य प्रशासनिक भवन के सभागार से विश्वविद्यालय की 18 जुलाई से स्नातक द्वितीय, चतुर्थ सेमेस्टर एवं 04 अगस्त से परास्नातक द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षा को लेकर सम्बद्ध महाविद्यालयों के प्राचार्यों एवं केन्द्राघ्यक्षों को कुलपति प्रो. गोयल ने आनलाइ्न दिशा-निर्देश प्रदान किया।

Advertisements

बैठक में कुलपति प्रो0 गोयल ने बताया कि स्नातक व परास्नातक की सेमेस्टर परीक्षा 10 अगस्त तक विश्वविद्यालय परिक्षेत्र के सात जनपदों के 464 केन्द्रों पर होगी। इसमें स्नातक द्वितीय एवं चतुर्थ सेमेस्टर में 3 लाख 5938 परीक्षार्थी शामिल होंगे। वही परास्नातक की परीक्षा में 55090 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। कुलपति ने बताया कि सभी केन्द्रों को नकल विहिन परीक्षा करानी होगी। इसके लिए सीसीटीवी कैमरे सुचारू हालत में होने चाहिए। सीसीटीवी नेट से जुड़े होने चाहिए। किसी भी केन्द्र पर सीसीटीवी कैमरे सुचारू रूप से संचालित नही पाए जाने पर केन्द्र पर परीक्षा नियमानुसार कार्यवाही की जायेगी। बैठक में कुलपति ने बताया कि विश्वविद्यालय के सचलदल व अधिकारी परीक्षा के दौरान औचक निरीक्षण करेंगे। सभी केन्द्रों पर मानक के अनुरूप कक्ष निरीक्षक नियुक्त किए जाए।

यदि किसी भी केन्द्र पर कक्ष निरीक्षक की नकल कराने में संलिप्तिता पाई जाती है तो केन्द्र पर विधिक कार्यवाही की जायेगी। कुलपति ने कहा कि जिले के नोडल केन्द्र से प्रश्न-पत्रों को वितरित किया जायेगा। इसकी गोपनीयता बनाये रखने के साथ केन्द्राध्यक्षों को वाहन से सुरक्षित ले जाना होगा। बैठक में परीक्षा नियंत्रक उमानाथ ने बताया कि स्नातक एवं परास्नातक की सेमेस्टर परीक्षा सकुशल एवं पारदर्शीपूर्ण कराने के लिए केन्द्रों को दिशा-निर्देश प्रदान कर दिया गया है। दो पालियों में विश्वविद्यालय की सेमेस्टर परीक्षा होगी। दो घंटे पूर्व नोडल केन्द्र से प्रश्न-पत्र वितरित किए जायेंगे।

इसे भी पढ़े  अयोध्या में पहली बार 4डी मंदिर से “लक्ष्मी-नारायण“ के दर्शन का अवसर

विश्वविद्यालय द्वारा परीक्षा के लिए 464 केन्द्र बनाये गए है। इसके लिए 18 नोडल केन्द्र बनाये गए है। पांच से अधिक सचलदल विभिन्न जिलों के केन्द्रों का औचक निरीक्षण करेंगे। स्नातक व परास्नातक परीक्षा में 3 लाख 61 हजार 28 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। परीक्षा नियंत्रक ने बताया कि शुचितपूर्ण परीक्षा कराने के लिए सम्बद्ध जिलों के जिलाधिकारी एवं एसएसपी को सूचना भेजी जा चुकी है। बैठक में सम्बद्ध महाविद्यालयों के प्राचार्य, केन्द्राध्यक्षों सहित डॉ0 विजयेन्दु चतुर्वेदी एवं रवि मालवीय मौजूद रहे।

 

Advertisements

Comments are closed.