खुलासा : प्रेम प्रसंग के चलते मारी थी गोली

  • हत्या की नियत से युवक को गोली मारने वाले दो गिरफ्तार

  • पुलिस कर रही दो फरार सह अभियुक्तों की तलाश

    अयोध्या। जमुआ गांव में सेना मे भर्ती की तैयारी में भोर में दौड़ लगाने वाले युवक को 26 नवम्बर को बाइक सवार दो युवकों ने उस समय गोली मार दी थी जब वह पुलिया पर बैठकर विश्राम कर रहा था। घटना के 72 घंटे के भीतर पुलिस ने गोली काण्ड का खुलासा करते हुए मुख्य आरोपी सहित दो को जहां गिरफ्तार कर लिया वहीं फरार दो सह अभियुक्तों की तलाश में दबिस डाली जा रही है। यह जानकारी पुलिस लाइन सभागार में आयोजित पत्रकार वार्ता में पुलिस अधीक्षक ग्रामीण संजय कुमार ने दिया।
    उन्होंने बताया कि इनायतनगर थाना क्षेत्र के जमुआ शुक्ल का पुरवा निवासी 19 वर्षीय युवक शुभम शुक्ला पुत्र शिव बहादुर शुक्ला को बाइक सवार अज्ञात व्यक्तियों ने भोर में गोली मार दी थी और वह फरार हो गये थे। उन्होंने बताया कि शुभम शुक्ला सेना में भर्ती होना चाहता था और इसके लिए रोज सुबह अपने चार-पांच साथियों के साथ दौड़ लगाया करता था। घटना वाले दिन दौड़ लगाते समय यह पुलिया पर बैठकर आराम करने लगा और अन्य साथी आगे चले गये। इसी बींच लाल रंग की एचएफ डिलक्स बाइक से मुह पर गमछा लपेटे दो व्यक्ति पुलिया के पास आये और शुभम को गोली मार दिया। गोली मारने के बाद दोनो सोहावल पहुंचे और नदी के रास्ते तरबगंज गोण्डा जहां मुख्य अतिभयुक्त के साले इन्द्रेश का घर हा जा पहुंचे।
    उन्होंने बताया कि पुलिस ने घटना का खुलासा करने के लिए थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह तथा स्वाट व सर्विलांस टीम को लगाया था। मुखबिर खास ने सूचना दिया कि युवक शुभम शुक्ला को गोली मारने वाले दो लोग चमनगंज होते हुए यादव ढ़ाबा पर घटना मे प्रयुक्त बाइक के साथ आने वाले हैं। प्रभारी निरीक्षक इनायनगर दुर्गेश कुमार मिश्रा मय पुलिस दल के साथ गुरूवार को यादव ढ़ाबा पहुंच गये और अभियुक्तों का इंतजार करने लगे। कुछ ही देर बाद मुख्य अभियुक्त दिलीप पाण्डेय व संदीप पाण्डेय बाइक से यादव ढ़ाबा पहुंचे और वहां खड़े होकर अन्य व्यक्ति का इंतजार करने लगे। दोपहर करीब 12 बजे बाइक सवार दो व्यक्ति आते दिखाई पड़े पुसिल ने उन्हें धर दबोचा। कड़ाई से पूंछताछ करने पर मुख्य अभियुक्त दिलीप पाण्डेय ने बताया कि प्रेम प्रसंग के कारण वह व शुभम से क्षुब्ध था और अपने साथी संदीप के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया। उसने यह भी बताया कि शुभम का जिस लड़की से प्रेम प्रसंग था उसका विवाह मई महीने में हो गया था फिर भी यह उसका पीछा नहीं छोड़ रहा था। घटना को अंजाम देने में उसके साले इन्द्रेश शुक्ला व साथी रितेश सिंह उर्फ किंग तथा संदीप पाण्डेय शामिल थे। एसपी ग्रामीण ने बताया कि इन लोगों ने जो बाइक इस्तेमाल किया था उसका नम्बर प्लेट भी बदल दिया था। पुलिस ने असली और नकली नम्बर प्लेट व घटना में प्रयुक्त 315 बोर का तमंचा व एक जिंदा कारतूस बरामद कर लिया है। इस मामले में थाना इनायतनगर में आईपीसी की धारा 307 व शस्त्र अधिनियम की धारा 3/25 के तहत मुकदमा कायम करके दोनों को जेल भेजा जा रहा है। उन्होंने बताया कि आरोपियों को गिरफ्तार करने वाले पुलिस दल को एसएसपी ने 10 हजार रूपये इनाम देने की घोषणा किया है। एसपी ग्रामीण ने बताया कि गोली काण्ड के शिकार युवक शुभम का जीवन खतरे से बाहर है और उसका इलाज ट्रामा सेंटर लखनऊ में किया जा रहा है।

इसे भी पढ़े  अनुशासन के लिए जानी जाती है एनसीसी : प्रो. रविशंकर सिंह

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More