The news is by your side.

अंतर्राज्यीय जालसाज गिरोह का पर्दाफाश़, 07 गिरफ्तार

– सेना, अर्ध सैनिक बल, नगर निगम में दिलाते थे फर्जी नौकरी

अयोध्या। थाना कैंट व स्वाट अयोध्या पुलिस की संयुक्त टीम ने मिलिट्री इंटेलिजेंस की सूचना पर सेना व अर्धसैनिक बलों में नौकरी दिलाने के नाम पर फर्जी नियुक्ति पत्र जारी करने वाले सात जालसाजों को गिरफ्तार किया है।

Advertisements

गुरूवार को पुलिस लाइन सभागार में आयोजित प्रेसवार्ता में फर्जीवाड़े का खुलासा करते हुए एसएसपी शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि अयोध्या के एक पीड़ित की शिकायत पर केस दर्ज कर पुलिस गिरोह को पकड़ने के लिए लगाई गई थी। इस अंतरराज्यीय गिरोह में राजस्थान, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों के अभियुक्त शामिल हैं। जबकि गिरोह का मास्टरमाइंड सेना से बर्खास्त क्लर्क है।

एसएसपी ने पत्रकारों को बताया कि एसपी सिटी विजयपाल सिंह, सीओ सिटी पलाश बंसल के मार्गदर्शन में मिलिट्री इन्टेलिजेन्स की प्राप्त सूचना का संकलन करते हुए प्रभारी निरीक्षक सुरेश पाण्डेय थाना कैण्ट, एसओजी प्रभारी रतन कुमार शर्मा मुखबिर की सूचना पर गुप्तारघाट के पास स्थित कम्पनी गार्डन पहुंचे। जहां से एक वाहन आरजे 27 सीई 7007 पर से 7 लोगों को गिरफ्तार किया। गया । गिरफ्तार अभियुक्तों की तलाशी के दौरान उनके पास से सेना, अर्द्धसैनिक बल एंव अन्य सरकारी विभागों के काफी मात्रा मे कूट रचित एंव फर्जी नियुक्ति पत्र, राजपत्रित अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र की छाया प्रति , चरित्र प्रमाण पत्र, फिजीकल टेस्ट सम्बन्धी प्रपत्र, चार अदद पर्स एंव पांच अदद मोबाइल बरामद हुआ है।

एसएसपी ने बताया कि सभी से कड़ाई से पूछताछ की गई।अभियुक्त नौकरी दिलाने के नाम पर युवाओं को फंसाते थे। अकाउंट में मुंहमांगी रकम ट्रांसफर कराते औऱ फर्जी नियुक्ति पत्र देते थे। अयोध्या जनपद के पीड़ित की शिकायत पर कार्य कर रही पुलिस अब आरोपियों के खातों में लेनदेन की जांच कर उक्त बैंक खातों को सीज कराने की कार्रवाई कर रही है। अभियुक्तों ने अपना नाम संतोष कुमार निवासी चन्द्रपुरी कालोनी राधा स्वामी सतसंग भवन के पास थाना हाईवे जनपद मथुरा (आर्मी से बर्खास्त, सूबेदार बनकर मिलने वाला अभियुक्त), ओम प्रकाश प्रजापति निवासी ग्राम पोस्ट अलीगढ थाना अलीगढ जनपद राजस्थान, राकेश कुमार उर्फ रिंकू निवासी चिन्ता की जगलियां थाना गोण्डा जनपद अलीगढ़, अभिषेक शर्मा निवासी ग्राम अलीपुर थाना डकराक जनपद अलीगढ, अजीत प्रसाद उर्फ अमित उर्फ सोनू निवासी विकास कालोनी वाटर वांस के पीछे थाना लक्ष्मणगढ जनपद अलवर राजस्थान, अनिल कुमार उर्फ अनिल राज निवासी सराय बहराना थाना सोराव जनपद प्रयागराज और विनोद मौर्या निवासी एच 529 मंगोलपुरी नई दिल्ली बताया है।

इसे भी पढ़े  पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने रामलला के दरबार में लगाई हाजिरी

एसएसपी शैलेश पांडेय ने बताया कि आईपीसी की धाराओं में केस पंजीकृत कर सक्षम न्यायालय में पेशी को रवाना कर दिया गया।
सातों जालसाजों की तलाशी के दौरान सेना, अर्द्धसैनिक बल एंव अन्य सरकारी विभागो के काफी मात्रा मे कूट रचित एंव फर्जी नियुक्ति पत्र, 10 राजपत्रित अधिकारी द्वारा निर्गत प्रमाण पत्र की कूटरचित प्रति, चरित्र प्रमाण पत्र व कूटरचित विभिन्न विभागो के प्रवेशपत्र, फिजीकल टेस्ट सम्बन्धी कूटरचित प्रपत्र और वाहन आरजे 27 सीई 7007 बरामद किया गया है।

Advertisements

Comments are closed.