इनायतनगर पुलिस पर मुकदमा न दर्ज हुआ तो सपा करेगी आन्दोलन: अवधेश प्रसाद

कहा लावारिश की तरह दशरथ लाल पासी के शव को पुलिस ने किया दफन

[su_expand more_text=”आगे पढ़े” link_align=”center”]फैजाबाद। लावारिस लाश की तरह व बिना कफन के और धार्मिक परम्पराओं व मान्यताओं के विपरीत दशरथ पासी की लाश को पुलिस ने जमीन में गाड़ दिया। इनायतनगर पुलिस पर 302 का मुकदमा दर्ज नहीं हुआ तो समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन करेगी। पुलिस अभिरक्षा में इनायतनगर थाना क्षेत्र के कोटवा गांव निवासी दशरथ लाल पासी को पुलिस ने बड़ी बेरहमी से पीटा जिससे बीते सोमवार को उसकी मृत्यु हो गयी। जिससे पूरे इलाके में लोगों में पुलिस के खिलाफ भारी आक्रोश व गुस्सा है। यह आरोप समाजवादी पार्टी के समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने इनायतनगर थाने की पुलिस पर लगाया। उन्होंने कहा कि मामला बड़ा संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि घटना में दोषी इनायतनगर थाने के थानाध्यक्ष व सभी पुलिसकर्मियों को थाने से हटाया जाय और 302 का मुकदमा दर्ज किया जाय। उन्होंने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट पुलिस के दबाव में बनायी गयी है। उन्होंने कहा कि दशरथ की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में फेफड़ों में इंफेक्शन व हाई फीवर दिखाया गया है जो कि पोस्टमार्टम में दोनों बीमारी आ ही नहीं सकती है। पुलिस के लोग दबंगई के बल पर थाने चला रहे हैं। प्रदेश की योगी सरकार में दलित व पिछड़े सुरक्षित नहीं हैं। जब से प्रदेश में योगी की सरकार बनी है सबसे ज्यादा दलितों व पिछड़ों का उत्पीड़न हो रहा है। आये दिन हत्यायें हो रही हैं जिससे पूरे प्रदेश के दलितों व पिछड़ों में प्रदेश सरकार के खिलाफ भारी गुस्सा है। राष्ट्रीय महासचिव श्री प्रसाद ने कहा कि मृतक दशरथ लाल पासी की पुलिस के लोगों ने हत्या की है। उन्होंने कहा कि बड़े अफसोस की बात है कि दशरथ लाल पासी के मरने के बाद उसके परिजनों को अन्तिम संस्कार के लिये लाश नहीं सौंपी गयी। पुलिस ने पूरे गांव को छावनी बनाकर गांव में ही जेसीबी मशीन के द्वारा एक बहुत गहरा गड्ढा खोदवाकर बिना कफन और धार्मिक मर्यादाओं व परम्पराओ के विपरीत दशरथ लाल पासी की लाश को गाड़ दिया गया। उन्होंने कहा कि दशरथ लाल पासी की लाश को नियमानुसार परिवार जनों को सौंपा जाना चाहिए लेकिन पुलिस के लोगों ने लावारिस लाश के तरीके से जमीन में गाड़ दिया। उन्होंने कहा कि दशरथ के परिजनों को पुलिस ने अन्तिम बार उसका चेहरा भी नहीं दिखाया। दशरथ के पिता, माता, भाई व बहनें पुलिस के सामने रोते बिलखते रहे लेकिन पुलिस ने एक न सुनी और उन पर लाठियाँ बरसाईं जिससे पूरे गांव में पुलिस के प्रति भारी गुस्सा है। उन्होंने कहा कि इस तरह की घटना ने पूरे जनपद को शर्मसार किया है। उन्होंने जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मांग की कि गड्ढे में से दशरथ की लाश को निकलवाया जाये और हिन्दू परम्पराओं के अनुसार उसका अन्तिम संस्कार कराया जाय। सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि इस मामले को लेकर सपा राष्ट्रीय महासचिव अवधेश प्रसाद की अगुवाई में एक अगस्त को सिविल लाइन स्थित गांधी पार्क में एक दिवसीय धरना का आयोजन किया गया है जिसमें पार्टी के जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव व पूर्व मंत्री, पूर्व विधायक, विधान परिषद सदस्य और पार्टी के पदाधिकारी व कार्यकर्ता शामिल होंगे।[/su_expand]

इसे भी पढ़े  सनातन ब्राह्मण समाज पार्टी का हुआ खिचड़ी भोज

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More