The news is by your side.

नव्य राम मन्दिर में मना श्रीरामलला का भव्य जन्मोत्सव, सूर्य की किरणों से हुआ तिलक

-राज्यपाल, मुख्यमंत्री व उच्च अधिकारियों ने रामनवमी की बधाई दी


अयोध्या। श्रीराम लला मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के बाद प्रथम रामनवमी का त्यौहार बुधवार को धूमधाम से मनाया गया। उल्लेखनीय है कि 496 साल के बाद मंदिर का निर्माण श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास द्वारा कराया जा रहा है। जिसमें केन्द्रीय एवं राज्य सरकार की बहुत बड़ी भूमिका रही यह सर्वविदित है।

Advertisements

वही प्राण प्रतिष्ठा के बाद यह रामनवमी का त्यौहार पूरे उत्तर प्रदेश शासन, मण्डल प्रशासन एवं जिला प्रशासन द्वारा लगभग 25 लाख श्रद्वालुओं के आगमन के अनुमान को देखकर आवश्यक व्यवस्थायें की गयी थी। मेले सेक्टर को 10 सेक्टर में बाटा गया था। श्रीरामलला जन्मोत्सव ठीक 12 बजे दोपहर को सम्पन्न हुआ। वैज्ञानिकों ने भगवान सूर्य के किरणों से तिलक कराया गया।

पूरे कार्यक्रम का पूर्वान्हन 11 बजे से प्रसार भारती के दूरदर्शन द्वारा सजीव प्रसारण की व्यवस्था की गयी थी। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर, कनक भवन मंदिर एवं हनुमानगढ़ी एवं अन्य प्रमुख मंदिरों के अलावा नगर निगम क्षेत्र के परिधि के बाहर भी श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास, प्रसार भारती एवं उत्तर प्रदेश सरकार के सूचना विभाग द्वारा लगभग 150 एलईडी लगायी गयी थी, जिसमें लोगों ने अपने घर बैठे देखा।

रामलला को 56 प्रकार के भोग भी अर्पित किये गये तथा मौके पर उपस्थित लोगों को चनामृत आदि का प्रसार भी वितरित किया गया। चैत्र रामनवमी मेले के सम्बंध में चिकित्सा विभाग, नगर निगम विभाग, विद्युत विभाग एवं अन्य स्वयंसेवी संगठनों एवं जिला प्रशासन द्वारा आपदा प्रबन्धन द्वारा आदि व्यापक व्यवस्था की गयी है और शहर में आगामी 3 दिनों तक भीड़ रहने की सम्भावना है। इसमें मंदिर भी लगभग 20 घंटे के आसपास खुला रहेगा जिससे श्रद्वालु दर्शन करते रहेंगे। जन्मोत्सव के समय भयो प्रकट कृपाला का दर्शन हुआ तथा अधिक हवन एवं सुगंधित धूप के कारण पूरा मंदिर सुगंधित हो गया।

इसे भी पढ़े  बिजली तार में उलझकर युवक की मौत

इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास जी, ट्रस्ट के अन्य वरिष्ठ सदस्यगण, महासचिव चम्पत राय, दिनेन्द्र दास, अनिल मिश्रा सहित विश्व हिन्दू परिषद के वरिष्ठ नेता दिनेश जी, राजेन्द्र सिंह पंकज जी सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति के अलावा एडीजी जोन अमरेन्द्र सिंह सेंगर, मण्डलायुक्त गौरव दयाल, आईजी जोन प्रवीण कुमार, जिलाधिकारी नितीश कुमार, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर सहित ट्रस्ट के सैकड़ों पदाधिकारी मौजूद रहे।

जन्मोत्सव के साथ ही जगह-जगह सोहर व बधाई गीत बजने शुरू हो गए

रामनवमी पर भगवान की भक्ति में लीन श्रद्धालु अपने आराध्य देव के जन्मोत्सव की प्रतीक्षा में पलक पावड़े बिछाए रहे। कनक भवन व श्रीराम जन्मभूमि परिसर स्थित मंदिर सहित कई मठ मंदिरों में घंटा-घड़ियाल बजने लगा और जैसे ही भगवान का जन्म हुआ तो चारों तरफ केवल “भये प्रगट कृपाला, दीनदयाला कौशल्या हितकारी, हरषित महतारी, तनमुनहारी अद्भुत रूप बिचारी…” की ध्वनि से पूरी अयोध्या गुंजायमान हो उठी।
जन्मोत्सव के साथ ही जगह-जगह सोहर व बधाई गीत बजने शुरू हो गए, श्रद्धालु भी ढोल-नगाड़ों की थाप पर झूमते नजर आए। रामनवमी पर्व पर दूर-दराज से आए लाखों श्रद्धालुओं ने सबसे पहले पतित पावनी मां सरयू में स्नान किया और फिर अपने आराध्य देव भगवान राम के जन्मोत्सव की छटा देखने के लिए कनक भवन, श्रीराम जन्मभूमि परिसर सहित तमाम मठ-मंदिरों की चल पड़े। पर्व को सकुशल संपन्न कराने के लिए जिला व पुलिस प्रशासन की ओर से सुरक्षा व्यवस्था के व्यापक इंजताम किए गए। श्रद्धालुओं के अलावा साधु संत भी भगवान राम की भक्ति में लीन दिखे। अयोध्या के प्रमुख मठ-मंदिरों अशर्फी भवन, श्री राम बल्लभा कुंज, दशरथ महल और लक्षमण किला में भी धूमधाम से जन्मोत्सव मनाया गया।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। अनुमानित भीड़ को देखते हुए अयोध्या को 10 सेक्टर में बांटा गया था। मेला क्षेत्र में मण्डलायुक्त गौरव दयाल, पुलिस महानिरीक्षक प्रवीण कुमार, जिलाधिकारी नितीश कुमार, पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरण नायर, नगर आयुक्त संतोष शर्मा ड्युटी स्थलों पर एवं क्षेत्रों में भ्रमण कर श्रद्वालुओं का हाल चाल ले रहे थे।
सभी के सहयोग के प्रति आदर व्यक्त किया तथा श्रद्वालुओं के प्रति भी सभी अधिकारीगण श्रद्वाअर्पित कर मार्ग भी बता रहे थे तथा निरन्तर मेला क्षेत्र में पैदल भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था एवं नागरिक सुविधाओं को उपलब्ध कराने में लगे रहे। इस के अतिरिक्त मेला क्षेत्र के लिए तैनात सभी जोनल मजिस्ट्रेट , सेक्टर मजिस्ट्रेट एवं स्टेटिक मजिस्ट्रेट अपने-अपने साथ लगाये गये पुलिस के अधिकारियों के साथ ड्युटी पर तैनात मिले। जगह-जगह स्वच्छ पानी की व्यवस्था, चिकित्सा शिविर, मोबाइल टायलेट एवं स्थायी शौचालय विगत नौ दिन से पूर्ण रूप से संचालित है, जहां साफ सफाई हेतु नगर निगम द्वारा शिफ्टवाइस 24 घंटे के लिए सफाई कर्मी तैनात है।
जिला प्रशासन द्वारा श्रद्वालुओं एवं भक्तगणों को अपने गंतव्य तक जाने के लिए इलेक्ट्रिक बसों सहित बड़ी संख्या में हर तरफ जाने के लिए बसें तैनात कर रखी है। रेलवे द्वारा भी यात्रियों को ले जाने के लिए पर्याप्त व्यवस्था की गयी है। रेलवे स्टेशनों पर जीआरपी एवं रेलवे पुलिस द्वारा लगातार निगरानी की जा रही है। अयोध्या पूर्ण रूप से स्वच्छ एवं सुन्दर दिखे इसके लिए नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग द्वारा बड़े पैमाने पर सफाई कर्मियों की तैनाती की गयी है। धीरे धीरे श्रद्वालु जन्मोत्सव कार्यक्रम के पश्चात अपने गन्तव्य के लिए प्रस्थान कर रहे है। बस स्टेशनों व अस्थायी बस स्टेशनों पर पेयजल, सफाई कर्मी व ध्वनि विस्तारक यंत्र आदि की व्यवस्था करने के साथ सभी चालक एवं परिचालकों को श्रद्वालुओं के साथ सद्भाव पूर्वक व्यवहार करने के निर्देश दिये गये।
Advertisements

Comments are closed.