The news is by your side.

बार एसोसिएशन मिल्कीपुर के पूर्व अध्यक्ष सहित पांच के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

-भूमि बैनामा कराने के नाम पर जालसाजों द्वारा महिला से 65 हजार रूपए ठगे जाने का आरोप

मिल्कीपुर। कुमारगंज थाना क्षेत्र के घोड़वल गांव में भूमाफियाओं एवं जालसाजों द्वारा एक महिला के साथ भूमि बैनामा कराने के नाम पर ठगी किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। कुमारगंज पुलिस ने बार एसोसिएशन मिल्कीपुर के पूर्व अध्यक्ष सहित पांच के खिलाफ धोखाधड़ी सहित गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। हालांकि पुलिस अभी किसी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

Advertisements

प्राप्त जानकारी के अनुसार कुमारगंज थाना क्षेत्र के घोड़वल गांव निवासी सुशीला पत्नी बुधई ने पुलिस को तहरीर देते हुए बताया कि मो० इशरार व मेराज निवासी घोड़वल, श्री कृष्ण यादव निवासी घोड़वल पूरे कायम अली, बार एसोसिएशन मिल्कीपुर के पूर्व अध्यक्ष अधिवक्ता शिवराज तथा रजिस्ट्री ऑफिस मिल्कीपुर के दस्तावेज लेखक रामसागर भूमाफिया एवं चालाक फितरती किस्म के लोग हैं।

गरीब लोगों को बहला फुसलाकर अपने चंगुल में फंसा कर पैसा ठगने का एक बड़ा गिरोह है जो उक्त लोगों का पेशा बन गया है। महिला का आरोप है कि उक्त लोगों द्वारा बीते 14 अगस्त 2012 को भूमि बैनामा कराने का झांसा देकर उससे 65 हजार रूपए की ठगीं की गई है। उक्त लोगों द्वारा मो० इसरार के नाम की फर्जी खतौनी बनाकर उसके नाम बैनामा कराने की साजिश की गई जिसमें गरीब तथा अनपढ़ महिला उक्त लोगों के बहकावे में आकर सीधी-सादी महिला उनके चंगुल में फंस गई।

उक्त लोगों द्वारा घोड़वल गांव में स्थित गाटा संख्या 256 ग रकबा 0.506 हे० में से महिला के नाम 0.253 भूमि का बैनामा कराने के नाम पर 27 हजार व 12 हजार रुपए ले लिया। दाखिल खारिज कराने के लिए उक्त लोगों द्वारा मिल्कीपुर तहसील के अधिवक्ता दयाशंकर पांडे को 10 हजार रूपए महिला से दिला दिया। दाखिल खारिज कराने के लिए महिला वकील साहब का बार-बार चक्कर लगाती रही लेकिन अधिवक्ता द्वारा कार्यवाही किए जाने का आश्वासन ही दिया जाता रहा।

इसे भी पढ़े  सड़क किनारे मिला बाईक सवार युवक का शव

अरसा 4 साल बीत जाने के बाद जब दाखिल खारिज नहीं हुई तो उक्त लोगों द्वारा मिल्कीपुर तहसील के दूसरे अधिवक्ता शिवकुमार मिश्र को महिला से 10 हजार रुपए यह कहकर दिला दिया गया कि ये आपकी दाखिल खारिज जल्दी करा देंगे। 5 साल तक पीड़ित महिला वकील साहब का तथा मिल्कीपुर तहसील का चक्कर लगाती रही और वकील साहब से पूछती रही।

वकील साहब द्वारा यही आश्वासन मिलता रहा की कार्यवाही हो रही है। 5 साल बीत जाने पर भी जब दाखिल खारिज नहीं हुई तो उक्त लोगों द्वारा मिल्कीपुर तहसील के दूसरे अधिवक्ता चंद्रशेखर को महिला से 6 हजार रुपए यह कहते हुए दिलाया कि ये बहुत जल्द ही आपके पक्ष में दाखिल खारिज करा देंगे। जिसके बाद अधिवक्ता चंद्रशेखर द्वारा महिला से बताया गया कि आपका दस्तावेज ही फर्जी है दाखिल खारिज नहीं हो सकता है।

जब महिला को पता चला कि दस्तावेज फर्जी है तो उसके पैर तले जमीन खिसक गई और मो० इशरार के घर पहुंची और पूरी बात बताई। जिस पर मोहम्मद इसरार ने उसे दूसरे दिन अपने घर बुलाकर पैसा देने की बात कही। पीड़ित महिला का आरोप है कि बीते 2 जुलाई 2023 को वह अपना पैसा लाने मोहम्मद इसरार के घर गई तो उसे देखते ही इसरार आग बबूला हो गया और गाली गुप्ता देते हुए उसे व उसके नाबालिग बच्चों सहित परिवार को जान से मरवा देने तक की धमकी दे डाली। जिसकी शिकायत महिला द्वारा कुमारगंज पुलिस से की गई मामले में कार्यवाही ना होता देख पीड़ित महिला ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक राजकरन नैय्यर का दरवाजा खटखटाया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने मामले को संज्ञान लेते हुए प्रभारी निरीक्षक कुमारगंज को कड़ी फटकार लगाते हुए तत्काल उक्त लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने का निर्देश दिया।

इसे भी पढ़े  कांग्रेस जिला महासचिव, सचिव समेत सैकड़ों लोगों ने थामा भाजपा का दामन

जिसके बाद प्रभारी निरीक्षक कुमारगंज संजीव सिंह ने बार एसोसिएशन मिल्कीपुर के पूर्व अध्यक्ष सहित पांच के खिलाफ धोखाधड़ी सहित गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है। प्रभारी निरीक्षक कुमारगंज संजीव सिंह ने बताया महिला कि तहरीर पर पांच के खिलाफ केस दर्ज करके मामले की जांच की जा रही है। जांचोंपरांत दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

Advertisements

Comments are closed.