The news is by your side.

भारत बंद के लिए किसान नेताओं ने मांगा समर्थन, की अपील

-तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की गई

अयोध्या। संयुक्त किसान मोर्चा के 27 सितम्बर को भारत बंद को समर्थन देने की किसान नेताओं ने सभी से अपील की। तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग दोहराई। शनिवार को संयुक्त किसान मोर्चा के जिला अध्यक्ष मायाराम वर्मा ने प्रेसकांफ्रेस कर किसानों,मजदूरों, नौजवानों तथा व्यापारियों से समर्थन की अपील की। कहा कि लगातार 10 महीने से दिल्ली की सीमा पर चलाए जा रहे आंदोलन के समर्थन में अयोध्या जनपद को भी बंद करके भारत सरकार के तानाशाही रवैया का विरोध किया जाए।

Advertisements

जिससे किसानों की मांगों पर भारत सरकार गंभीर हो। तीनों नए कृषि कानून वापस ले। तथा एमएसपी पर फसल खरीद की गारंटी का कानून बनाए। अभी तक भारत सरकार का रवैया किसान मजदूर नौजवान और व्यापारी विरोधी रहा। जिससे महंगाई तथा बेरोजगारी बढ़ती जा रही है। भारत सरकार की नीति किसान, मजदूर, विद्यार्थियों तथा छोटे व्यापारियों की विरोधी है। जो आजाद भारत के लोकतंत्र और संविधान के लिए ठीक नहीं है।

इससे देश की जनता चंद पूंजीपतियों का गुलाम बन जाएगी और लोकतंत्र समाप्त हो जाएगा। इसलिए जनपद के सभी किसानों नौजवानों छात्रों बेरोजगारों मजदूर व्यापारी 27 सितंबर को भारत बंद मे सहयोग करें। वार्ता में कमला प्रसाद बागी, चौधरी रामसिंह पटेल, अशोक तिवारी, सत्यभान सिंह, अतीक अहमद, मास्टर मायाराम वर्मा, अखिलेश चतुर्वेदी, शैलेंद्र सिंह, महावीर पाल, विनोद सिंह, अशोक यादव, काशीराम यादव, राकेश यादव अभय राज भीम सिंह पटेल मौजूद रहे।

Advertisements
इसे भी पढ़े  दबंगों ने दो युवकों को खंभे में बांधकर पीट, एक की मौत, दूसरा बेहोश

Comments are closed.