लखनऊ में सम्मानित होंगे पर्यावरणविद् व विज्ञान लेखक डाॅ. राजकिशोर

हिन्दी संस्थान में सम्मानित करेंगे विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित

Advertisement

फैजाबाद। नगर निवासी प्रख्यात विज्ञान लेखक, पर्यावरणविद् और कृृषि विज्ञानी डाॅ. राजकिशोर को उनके रचनात्मक योगदान के लिए आगामी 18 जुलाई को लखनऊ में समारोहपूर्वक सम्मानित किया जाएगा। उनकी दीर्घकालिक रचनात्मक सेवाओं के लिए यह सारस्वत सम्मान उन्हें उत्तर प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित प्रदान करेंगे।
धर्म, अध्यात्म और संस्कृति की अग्रणी संस्था ‘आशीष सेवा यज्ञ न्यास’, 51 शक्तिपीठ तीर्थ के साहित्य प्रकोष्ठ के तत्त्वावधान में डाॅ. राजकिशोर के सम्मान का यह कार्यक्रम राजधानी स्थित हिन्दी संस्थान के निराला सभागार में आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम में मुख्य अभ्यागत के रूप में उत्तर प्रदेश विधानसभाध्यक्ष हृदयनारायण दीक्षित तथा विशिष्ट समागत के रूप में प्रख्यात साहित्यकार एवं लखनऊ विश्वविद्यालय के पूर्व हिन्दी विभागाध्यक्ष प्रो. सूर्यप्रसाद दीक्षित तथा ‘राष्ट्रधर्म’ पत्रिका के सम्पादक प्रो. ओम प्रकाश पाण्डेय सहभाग करेंगे। कार्यक्रम में शाक्त वाङ््मय के वरेण्य विद्वान एवं भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी सुरेशकुमार सिंह की दो पुस्तकों का लोकार्पण भी किया जाएगा।
डाॅ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के पूर्व उद्यान अधीक्षक और विद्वान लेखक डाॅ. राजकिशोर के साहित्य, पर्यावरण और औद्यानिकी सम्बन्धी रचनात्मक कार्यों की उपलब्धियाँ फैजाबाद के गौरव का विषय हैं। वे हिन्दी विज्ञान साहित्य परिषद, भाभा परमाणु अनुसंधान केन्द्र, मुम्बई द्वारा आयोजित राष्ट्रीय हिन्दी विज्ञान लेखन प्रतियोगिता में छह बार पुरस्कृत हो चुके हैं। राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की शोध पत्रिकाओं में 19 से भी अधिक शोधपत्र तथा प्रतिष्ठित पत्र-पत्रिकाओं में 125 से भी अधिक विशेषज्ञतापूर्ण लेख प्रकाशित हो चुके हैं। डाॅ. किशोर जनपद फैजाबाद में लगभग 25000 पौधों का रोपण करके पर्यावरण संरक्षण के लिए 2008 में वन विभाग द्वारा भी पुरस्कृत हो चुके हैं।
बाॅटनी में पी-एच.डी. उपाधिधारक डाॅ. राजकिशोर अनेक पत्र-पत्रिकाओं के स्तंभकार के रूप में भी अपनी सेवाएँ दी है। उनके अनेक कार्यों का प्रसारण दूरदर्शन और अन्य न्यूज चैनल्स पर हुआ है। विज्ञान और पर्यावरण से जुड़े राष्ट्रीय व अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के शोध परियोजनाओं में भी उन्होंने सक्रिय रूप से योगदान दिया है। लेखन को अपनी अभिरुचि को देखते हुए उन्होंने जनसंचार एवं पत्रकारिता में भी स्नातक उपाधि हासिल की है। वे अनवरत विज्ञान, पर्यावरण, कृृषि-औद्यानिकी, धर्म और अध्यात्म विषयों में अपने लेखन के जरिए अपनी रचनाधर्मिता को नए आयाम दे रहे हैं। ऐसी ही तमाम उपलब्धियों के लिए डाॅ. राजकिशोर को राजधानी लखनऊ में सम्मानित किए जाने की सूचना पर क्षेत्रवासियों ने उन्हें बधाई देते हुए हर्ष व्यक्त किया है।