गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं हुआ तो सड़को पर करेगे प्रदर्शन : आनन्द सेन

उन्होंने कहा कि भारत का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है और उत्तर प्रदेश कृषि प्रधान प्रदेश है जिसमें गन्ना किसान प्रदेश के  बड़े क्षेत्र में लाखों की संख्या में किसान गन्ना उगाते हैं तथा देश में सबसे ज्यादा मात्रा में गन्ना उ0प्र0 में पैदा होता है। सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर पूरे प्रदेश में पार्टी ने गन्ना किसानों के बकाया को लेकर चीनी मिल के गेटों पर धरना प्रदर्शन का आयोजन किया था।

♦मसौधा गन्ना मिल के गेट पर धरना प्रदर्शन

फैजाबाद। 15 दिनों के अन्दर गन्ना किसानों का बकाया भुगतान नहीं हुआ तो समाजवादी पार्टी गन्ना किसानों के साथ भारी संख्या में सड़कों पर उतरकर आन्दोलन करेगी। यह बातें सपा नेता व पूर्व मं
त्री आनन्दसेन यादव ने मसौधा गन्ना मिल के गेट पर धरना प्रदर्शन के दौरान कही।
Advertisement

धरना प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे पूर्व मंत्री श्री यादव ने कहा कि गन्ना किसानों की आर-पार की लड़ाई को पार्टी पूरी मजबूती के साथ सड़कों पर उतरकर लड़ेगी। उन्होंने कहा कि भारत का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश है और उत्तर प्रदेश कृषि प्रधान प्रदेश है जिसमें गन्ना किसान प्रदेश के
 बड़े क्षेत्र में लाखों की संख्या में किसान गन्ना उगाते हैं तथा देश में सबसे ज्यादा मात्रा में गन्ना उ0प्र0 में पैदा होता है। सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर पूरे प्रदेश में पार्टी ने गन्ना किसानों के बकाया को लेकर चीनी मिल के गेटों पर धरना प्रदर्शन का आयोजन किया था। इसी क्रम में पार्टी ने जनपद पर दो मिलों रौजागाॅंव व मसौधा में धरना का आयोजन किया था। धरने में मौजूद पूर्व राज्यमंत्री तेजनारायण पाण्डेय पवन ने कहा कि भाजपा की सरकार में किसानों के गन्ने का मूल्य भुगतान न होने के कारण किसान परेशान व हैरान है।
गन्ने के पैसे से ही किसान शादी-विवाह, बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, दवा का इन्तजाम करता है : अभय सिंह
धरने में मौजूद गोशाईगंज के पूर्व विधायक अभय सिंह ने कहा कि गन्ने के पैसे से ही किसान शादी-विवाह, बच्चों की पढ़ाई-लिखाई, दवा इलाज का इन्तजाम करता है लेकिन समय से गन्ने का भुगतान न मिल पाने के कारण आज बिजली का बिल व खेतों में धान की रोपाई के लिये खाद नहीं खरीद पा रहा है। धरने को सम्बोधित करते हुए समाजवादी छात्रसभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनिमेष प्रताप सिंह राहुल ने कहा कि देश व प्रदेश की दोनों सरकारें झूठ का सहारा ले रही हैं और किसानों को बेवकूफ बना रही हैं।
धरने में मौजूद गन्ना सहकारी समिति के पूर्व चेयरमैन सुरेन्द्र यादव ने कहा कि सपा की अखिलेश सरकार में गन्ना किसानों को चैदह दिन में भुगतान हो जाता था। लेकिन भाजपा सरकार में किसानों को भुगतान नहीं किया जा रहा है। पार्टी प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी ने बताया कि मसौधा गन्ना मिल में किसानों का लगभग 50 करोड़ 29 लाख 56 हजार व रौजागांव गन्ना मिल में लगभग 40 करोड़ 77 लाख 15 हजार रूपया बकाया है। धरने की अध्यक्षता बीकापुर विधान सभा अध्यक्ष कृष्ण कुमार पटेल व संचालन जयसिंह यादव ने किया। प्रवक्ता ने बताया कि धरने के उपरान्त राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन उप जिलाधिकारी रवि प्रकाश श्रीवास्तव के प्रतिनिधि तहसीलदार मंजूर अहमद को सौंपा गया। प्रवक्ता ने बताया कि धरने को मसौधा के पूर्व ब्लाक प्रमुख राम अचल यादव, जिला उपाध्यक्ष बाबूराम गौड़, जिला महासचिव बख्तियार खान, सपा प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी, पारसनाथ यादव, छेदी सिंह, देशराज यादव, जिला पंचायत सदस्य शम्भूनाथ सिंह दीपू, छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष संजय यादव, अमर यादव, जिला पंचायत सदस्य प्रेमनारायण यादव, मो0 असलम, शिवबरन यादव पप्पू, मनोज जायसवाल, सियाराम निषाद, छोटेलाल यादव बीकापुर के चेयरमैन जुग्गीलाल यादव, अनुराग सिंह, शमशेर यादव, हरेन्द्र यादव, ओ0पी0 पासवान, निर्मल वर्मा, त्रिभुवन प्रजापति, शैलेन्द्र यादव, नन्हकन यादव, रामअचल यादव आलू, दीपक यादव, प्रभुनाथ जायसवाल, जय प्रकाश यादव, सुनील सोनी, नरेन्द्र वर्मा, विजय बहादुर वर्मा, अमृत लाल वर्मा आदि ने सम्बोधित किया।

रूदौली के पूर्व विधायक रूश्दी मियाॅं की अगुवाई में जोरदार धरना प्रदर्शन

रौजागाॅंव चीनी मिल गेट पर रूदौली के पूर्व विधायक अब्बास अली जैदी रूश्दी मियाॅं की अगुवाई में जोरदार धरना प्रदर्शन हुआ। इस मौके पर सपा जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव ने कहा कि सरकार द्वारा गन्ना किसानों का भुगतान न कराना दुर्भाग्यपूर्ण एवं किसान विरोधी चरित्र को उजागर करता है। धरने में मुख्य रूप से मौजूद सपा के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मंत्री अवधेश प्रसाद ने कहा कि प्रदेश में किसानों के गन्ने का काफी रूपया बकाया है। देश के प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुख्यमंत्री से किसानों को उम्मीद थी कि समय से बकाया भुगतान मिल जायेगा लेकिन सरकार ने किसानों के साथ धोखेबाजी व जुमलेबाजी की। इसका जवाब आगामी लोकसभा के चुनाव में देश के किसान देंगे। धरना प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे रूदौली के पूर्व विधायक अब्बास अली जैदी रूश्दी मियाॅं ने कहा कि वर्ष 2017-18 में गन्ना किसानों का पूरे प्रदेश में लगभग पन्द्रह हजार करोड़ रूपया चीनी मिल मालिकों द्वारा अभी तक भुगतान नहीं किया जा रहा। जबकि भाजपा सरकार का वादा था कि चैदह दिन के अन्दर ही प्रत्येक किसान का भुगतान करा दिया जायेगा। विधान परिषद सदस्य लीलावती कुशवाहा ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार किसानों की अनदेखी कर रही है। किसान आत्महत्या करने पर मजबूर है। पार्टी प्रवक्ता ने बताया कि धरने की अध्यक्षता रूदौली विधान सभा के अध्यक्ष छोटेलाल यादव व संचालन अली मियाँ ने किया। प्रवक्ता ने बताया कि धरना प्रदर्शन को सम्बोधित करने वालों में युवजन सभा के जिलाध्यक्ष राघवेन्द्र प्रताप सिंह अनूप, राम नरेश गुप्ता, रूदौली के चेयरमैन जब्बार अली, सरफराज नसरूल्लाह, शाह मसूद हयात गजाली, इन्द्रपाल यादव, अमानत अली, राकेश वर्मा, अब्दुल जफ्फार, रामदास यादव, अतीक खान आदि ने सम्बोधित किया। धरने के उपरान्त सपा जिलाध्यक्ष गंगासिंह यादव ने राज्यपाल को सम्बोधित तीन सूत्रीय मांग पत्र उप जिलाधिकारी को सौंपा।
इसे भी पढ़े  पूर्णकालिक सीएमएस नियुक्त हुए डा. रविंद्र कुमार श्रीवास्तव