दोषी पुलिसकर्मियों को थाने से हटाकर न्यायिक जॉंच की मांग

पुलिस महानिरीक्षक से मिला सपा प्रतिनिधि मण्डल

Advertisement

अयोध्या। बीते 17 फरवरी को विशाल यादव पुत्र हरिद्वार यादव ग्राम रौनाही निवासी लापता हो गया था दो दिन बाद उसकी लाश गॉंव में ही मिली। नाबालिग विशाल के पिता ने पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर अपराधियों की गिरफ्तारी की माँग की लेकिन थाना रौनाही की पुलिस ने मामले को गम्भीरता से नहीं लिया और फर्जी तरीके से अतुल शुक्ला पुत्र देवता को फर्जी तरीके से पकड़कर हत्या जैसे मुकदमें में चालान कर दिया। जमानत पर छूटने के बाद झूठा फसायें जाने से बुरी तरह से आहत अतुल शुक्ला ने एक सुसाइड नोट पुलिस के खिलाफ लिखकर 25 नवम्बर 2019 को जहर खाकर आत्म हत्या कर ली। इसी प्रकरण को लेकर पूर्व मंत्री आनन्दसेन यादव के साथ एक प्रतिनिधि मण्डल जिसमें सपा के पूर्व प्रवक्ता ओम प्रकाश ओमी, मुलायम यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष एजाज अहमद, बीकापुर विधान सभा के निवर्तमान अध्यक्ष कृष्ण कुमार पटेल व मृतक अतुल शुक्ला के बड़े भाई सतेन्द्र कुमार शुक्ला आदि ने पुलिस महानिरीक्षक संजीव गुप्ता से उनके आवासीय कार्यालय पर मुलाकात कर पूरे प्रकरण की जानकारी दी। प्रतिनिधि मण्डल की अगुवाई कर रहे पूर्व मंत्री श्री सेन ने महानिरीक्षक से कहा कि घटना को लेकर पूरे गॉंव में थाना रौनाही की पुलिस के खिलाफ भारी आक्रोश है। श्री सेन ने महानिरीक्षक को पूरे तथ्य सौंपते हुए यह भी बताया कि अतुल शुक्ला निर्दोष है इसके लिये विशाल के पिता हरिद्वार यादव ने पूरे गॉंव के सैकड़ों लोगों से मिलकर हस्ताक्षर भी करवाये। श्री सेन ने कहा कि दोषी पुलिसकर्मियों को थाने से हटाकर न्यायिक जॉंच होनी चाहिए। यदि पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला तो पार्टी आन्दोलन करेगी। पुलिस महानिरीक्षक ने प्रतिनिधि मण्डल को आश्वासन दिया कि घटना में जो भी लिप्त हैं उन पर उचित कार्यवाही होगी।