The news is by your side.

बेटियाँ समृद्ध होंगी तभी होगा देश खुशहालः विवेक कुमार दक्ष

-अयोध्या प्रधान डाकघर में स्पेशल काउंटर खुला

अयोध्या। रक्षाबन्धन भाई बहन के प्रेम का पर्व है बहनें अपने भाइयों को सुरक्षा चक्र में रक्षाबन्धन बांधती हैं भाई भी बहनों को सुकन्या का सुरक्षा चक्र का बन्धन दें । रक्षाबंधन भाई बहन के मधुर प्रेम का एहसास करती है इसीलिए भाई अपनी प्यारी बहन को रक्षाबंधन पर “सुकन्या समृद्धि खाते“ का उपहार भेंट करें ।

Advertisements

उक्त बातें लखनऊ मुख्यालय परिक्षेत्र के पोस्टमास्टर जनरल विवेक कुमार दक्ष अयोध्या प्रधान डाकघर में सुकन्या का सुरक्षा चक्र अभियान के कार्यक्रम में सैकड़ों शाखा डाकपालों के साथ ही श्री दक्ष ने सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में यह भी कहा कि सुकन्या समृद्धि से अपनी बेटियों के भविष्य को सुरक्षित किया जा सकता है जब बेटियाँ आर्थिक रूप से मजबूत होंगी तभी उनके सपनों को साकार किया जा सकेगा । सुकन्या समृद्धि खाता खुलवा लेने मात्र से ही भ्रूण हत्या जैसे जघन्य अपराध को विराम लगाया जा सकता है इसीलिए बेटियों को आर्थिक आजादी देने एवं उनके भविष्य को सँवारने के लिए हम सभी का दायित्व है कि आस पास के बच्चियों के अविभावकों को डाकघर में सुकन्या समृद्धि खाता खोलने के लिए प्रेरित करें ।

इस योजना में छोटी छोटी रकम जमा करने से बेटियों के पढ़ाई व विवाह के समय लाभ होगा । श्री दक्ष ने इस महापर्व में सभी से अपने बेटियों के भविष्य सँवारने के लिए खाता खुलवाने की अपील किया । मण्डल के प्रवर अधीक्षक पी के सिंह ने बताया कि यह सुकन्या समृद्धि अभियान 25 से 31 अगस्त तक मण्डल के सभी डाकघरों में विशेष रूप से आयोजित किया गया है । श्री सिंह ने यह भी बताया कि सुकन्या समृद्धि खाता रुपया 250 में नवजात से 10 वर्ष तक आयु की बच्चियों का खाता खोला जाता है और अविभावक को 14 वित्तीय वर्ष ही पैसा जमा करना होता है उसके पश्चात 21 वर्ष पूर्ण होने पर सरकार ब्याज के साथ भुगतान किया जाता है पढ़ाई या अन्य जरूरत पड़ने पर 18 वर्ष बाद आधा पैसा निकाला जा सकता है खाता खोलने के लिए अविभावक का आधार कार्ड, 2 फोटो, तथा बेटी का जन्म प्रमाण पत्र आवश्यक होगा । साथ ही यह भी बताया कि खबर लिखे जाने तक 1245 से अधिक खाते खोल दिए गये थे।

Advertisements

Comments are closed.