The news is by your side.

गणित से ही कम्प्यूटेशनल विज्ञान हुआ समृद्ध : प्रो. सतीश त्रिपाठी

– अविवि में तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय ई-कॉन्फ्रेंस का शुभारम्भ

अयोध्या। डॉ0 राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के गणित एवं सांख्यिकी विभाग द्वारा गणित एवं कम्प्यूटिंग साइंस के अद्यतन स्वरूप विषय पर तीन दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय ई-कॉन्फ्रेंस का शुभारम्भ शुक्रवार को किया गया। कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि बफलो यूनिवर्सिटी, न्यूयॉर्क के कुलपति प्रो0 सतीश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि आजकल कम्प्यूटिंग साइंस के बिना किसी भी क्षेत्र की गुणवत्ता परत शोध संभव नहीं है, इसमें विभिन्न प्रकार की विधियों का प्रयोग किया जाता है जिसमे मैथमेटिकल मॉडलिंग, आर्टिफिश्यल इंटेलिजेंस, रिग्रेशन एनालिसिस, मशीन लर्निंग, आदि का अनुप्रयोग कर गणित एवं कम्प्यूटेशनल विज्ञान को अत्यंत समृद्ध किया गया है।

Advertisements

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने कहा कि वर्तमान परिवेश में गणित का बड़ा महत्व है। इसके बिना किसी भी विषय का वैज्ञानिक एवं सटीक अध्ययन सम्भव नहीं है। कुलपति ने बिजनेस एनालिटिक्स में गणित विषय किस प्रकार उपयोगी है। विषय पर विस्तृत चर्चा करते हुए कहा कि इस कांफ्रेंस में अंतरराष्ट्रीय विद्वानों को आमंत्रित कर उनके अनुभव तथा अनुभूति से गणितीय ज्ञान के तथ्यों को जानने एवं समझने में मदद मिलेगी। विद्यार्थियों एवं शोधार्थियों को गणित एवं कम्प्यूटिंग साइंस के शोध तथा शिक्षण की गुणवत्ता में बढ़ोतरी करने में सहायक सिद्ध होगा और भविष्य में ऐसे कार्यक्रमों को आयोजित किये जाने की आवश्यकता पर जोर दिया।

कांफ्रेंस के प्रथम टेक्निकल सत्र में नामिबिया विश्वविद्यालय के गणित एवं सांख्यिकी विभाग के प्रो0 राकेश कुमार ने “क्यूइंग मॉडल एवं उनके अनुप्रयोग” पर अपना आमंत्रित व्याखान प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि प्रत्येक संस्थान में सेवाओं के लिए एक वेटिंग लाइन का निर्माण हो जाता है। इस वेटिंग लाइन के अध्ययन के लिए गणित एवं सांख्यिकी क्षेत्र के अंतर्गत वेटिंग लाइन के सिद्धांत का प्रतिपादन कर गहनता के साथ अध्ययन किया जाता है जो वर्तमान के अद्यतन शोधों में से एक है। कार्यक्रम के संयोजक एवं गणित एवं सांख्यिकी विभागाध्यक्ष प्रो0 एस0एस0 मिश्र ने अतिथियों का स्वागत करते हुए तीन दिवसीय चलने वाली अन्तर्राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस के कार्यक्रमों की रूप रेखा प्रस्तुत की। प्रो0 मिश्र ने बताया कि कॉन्फ्रेंस 29 अगस्त तक चलेगी जिसमें मैरीलैंड विश्वविद्यालय, अमेरिका के प्रो0 जी0एस0 हूरा, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के प्रो0 केरल हग्रीव्स, काठमांडू विश्वविद्यालय नेपाल के प्रो0 आर0 पी0 घिमिरे, जर्मनी के प्रो0 स्टीफन के आमंत्रित व्याख्यान होगा।

इसे भी पढ़े  विद्वान व बहादुर थे इब्राहिम रईसी : मौलाना मोहसिन

इसमें एक दर्जन से ज्यादा शोध-पत्रों का प्रस्तुतीकरण किया जायेगा। कार्यक्रम में विज्ञान एवं इंजीर्नियरिंग संकायाध्यक्ष प्रो0सी0के0 मिश्र ने ई-कांफ्रेंस में शामिल हुए अतिथियों के प्रति धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया। प्रो0 एस0के0 रायजादा द्वारा अतिथियों का परिचय कराया गया। कार्यक्रम का संचालन विभाग के शोध छात्र संदीप रावत द्वारा किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के आयोजन सचिव डॉ0 अभिषेक सिंह, डॉ0 संजीव कुमार सिंह, डॉ0 मनोज कुमार, सघर्ष सिंह, शलिनी मिश्रा, अनामिका पाठक सहित 150 से अधिक प्रतिभागी ऑनलाइन जुड़े रहे।

 

Advertisements

Comments are closed.