The news is by your side.

अयोध्या दीपोत्सव बन गया है अब एक ब्रांड

-अवध विश्वविद्यालय में दीपोत्सव-2020 के विशिष्ट योगदानकर्ताओं को किया गया सम्मानित

अयोध्या। डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के संत कबीर सभागार में शुक्रवार को पर्यटन विभाग, उत्तर प्रदेश एवं अवध विश्वविद्यालय के संयुक्त संयोजन में दीपोत्सव-2020 के विशिष्ट योगदानकर्ताओं के सम्मान में सम्मान समारोह आयोजित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह ने कहा कि अयोध्या दीपोत्सव एक वैश्विक प्रतीक बन गया है। काशी की देवदीपावली का भी धार्मिक एवं सांस्कृतिक महत्व है।

Advertisements

अयोध्या दीपोत्सव एक सामूहिक प्रयासों का प्रतिफल है। कुलपति ने कहा कि दीपोत्सव के सफल आयोजन के लिए गठित विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय की टीमें दिन रात एक कर आयोजन का सफल बनाती है। इसके लिए बड़े स्तर पर रूपरेखा बनानी पड़ती है। इस बार भी पिछले दीपोत्सव के रिकार्ड को तोड़ते हुए एक बड़े लक्ष्य तक पहुॅचना है तथा नया कीर्तिमान स्थापित करना है।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कहा कि अयोध्या दीपोत्सव सामूहिक प्रयासों का प्रतिफल है। कई विभागों के सहयोग से ही दिव्य दीपोत्सव भव्य बन पाया है। दीपोत्सव कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं की भूमिका काफी महत्वपूर्ण रही है। उन्होंने कहा कि अयोध्या दीपोत्सव अब एक ब्रांड बन गया है। इसे अब और बेहतर बनाने का अवसर है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि दीपोत्सव जैसे बड़े आयोजन के लिए प्रबंधन की व्यवस्था करना चुनौतीपूर्ण रहता है। सुरक्षा व्यवस्था से लेकर ट्रैफिक प्रबंधन में पुलिस प्रशासन को सक्रियता से कार्य करना होता है। इतने कम समय में दीपोत्सव के आयोजन को सफल बनाने में छात्रों की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। विशिष्ट अतिथि अयोध्या विकास अधिकारी अनीता यादव ने कहा दीपोत्सव एक बड़े पर्व की तरह है। सभी लोगों को टीम वर्क के साथ उत्साह पूर्वक कार्य करना है। जिस प्रकार एक संगीत मंच पर सभी संगीत वादक आपस में समन्वय स्थापित कर एक सुरवद्ध गान की प्रस्तुति करते है। ठीक उसी प्रकार इस आयोजन में टीम समन्वय स्थापित करना है। प्रो0 एसएस मिश्र ने कहा कि विश्वविद्यालय 2017 से इस कार्यक्रम का आयोजन तत्तपरता के साथ करते आया है। दीप प्रबंधन एवं आपूर्ति को समूचित ढंग से किए जाने से सरलता होगी।

इसे भी पढ़े  उत्तर प्रदेश की 80 सीटें जीत रही है भाजपा : केशव प्रसाद मौर्या

कार्यक्रम में कुलसचिव उमानाथ ने कहा कि दीपोत्सव कार्यक्रम एक महायज्ञ है। 2021 का दीपोत्सव काफी बड़ा लक्ष्य है। इसमें सभी के सहयोग से लक्ष्य को प्राप्त करना है। साकेत पीजी कालेज के प्राचार्य डॉ0 अभय कुमार सिंह ने कहा कि सभी के सहयोग से दीपोत्सव को सफल बनाते आये है। इस बार भी लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सभी के साथ कंधा से कंधा मिलाकर कार्य करेंगे। कार्यक्रम में दीपोत्सव नोडल अधिकारी प्रो0 शैलेन्द्र कुमार वर्मा ने कहा कि इस वर्ष 7 लाख 51 हजार दीएं जलाये जायेंगे। जिसमें 9 लाख दीए लगाने का लक्ष्य रखा गया।

कुलपति प्रो0 रविशंकर सिंह के सानिघ्य में 12 हजार स्वयंसेवकों के साथ पुनः रिकार्ड बनाया जायेगा। दीपोत्सव-2020 में शामिल योगदानकर्ताओं को सम्मान में विश्वविद्यालय एवं सम्बद्ध महाविद्यालय एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के समन्वयकों को कुलपति, मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि द्वारा प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्रो0 शैलेन्द्र कुमार वर्मा ने किया। धन्यवाद ज्ञापन अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो0 नीलम पाठक ने किया। इस अवसर पर विश्वविद्यालय, महाविद्यालय एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के शिक्षक एवं पदाघिकारी उपस्थित रहे।

Advertisements

Comments are closed.